BREAKING NEWS

गठबंधन पर संजय निरुपम तंज, कहा- 'तीन तिगाड़े काम बिगाड़े' वाली सरकार चलेगी कब तक?◾महाराष्ट्र में 5 साल के लिए शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री : संजय राउत◾इजराइल के PM बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और विश्वासघात मामले में आरोप तय◾सत्यपाल मलिक बोले- अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर में केवट-शबरी की भी हों मूर्तियां, ट्रस्ट को लिखूंगा चिट्ठी◾झारखंड चुनाव: भाजपा के 'बागी' सरयू राय के बहाने नीतीश ने 'तीर' से साधे कई निशाने◾अयोध्या विवाद पर आए फैसले पर दूसरे देशों से संवाद बहुत सफल रहा : विदेश मंत्रालय◾झारखंड विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण में 20 विधानसभा सीटों पर 260 प्रत्याशी आजमाएंगे किस्मत◾उद्धव ठाकरे और आदित्य ने मुंबई में शरद पवार से की मुलाकात ◾सोनिया ने शिवसेना संग गठबंधन के लिए सीडब्ल्यूसी का सुरक्षित रास्ता चुना ◾श्रीलंका की नई सरकार के साथ करीब से मिलकर काम करने को तैयार : भारत◾महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार के गठन के आसार बढे , शुक्रवार को हो सकती है इस बारे में घोषणा◾चुनावी बांड से चुनावी राजनीति में साफ धन आया : भाजपा ◾SPG सुरक्षा हटाए जाने पर बोलीं प्रियंका - यह राजनीति है ◾सेना ने मुख्यमंत्री पद के लिए नए नाम सुझाए, राकांपा ने उद्धव पर दिया जोर◾ED ने कश्मीर में आतंकवादियों से संबंधित छह संपत्तियां जब्त की ◾प्रदूषण पर राज्यसभा में भाजपा और आप में तकरार, केंद्र ने कहा ‘अच्छे’ दिन बढे◾केजरीवाल के दबाव में केंद्र ने अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों को दिया मालिकाना हक : आप◾मोदी की जीत आशाओं तथा अपेक्षाओं की जीत : रविशंकर प्रसाद ◾विकास के कार्य पूरे करने को झारखंड में भाजपा को दें पूर्ण बहुमत : शाह◾राज्यसभा में विपक्षी दलों ने ट्रांसजेन्डर विधेयक को प्रवर समिति में भेजने की मांग की◾

उत्तर प्रदेश

अयोध्या भूमि विवाद प्रकरण के वादी पर हमले के मामले पर SC करेगा गौर

 1604

उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को कहा कि वह राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के मूल वादी मोहम्मद हाशिम के पुत्र इकबाल अंसारी के दावे पर गौर करेगा कि हाल ही में अयोध्या में उनपर हमला किया गया है।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ के अयोध्या मामले की अपीलों पर सुनवाई के लिये बैठते ही वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन ने इकबाल अंसारी पर हमले की घटना की ओर उसका ध्यान आकर्षित किया। 

एक मुस्लिम पक्षकार की ओर से बहस करते हुये डॉ. राजीव धवन ने कहा, ‘‘बहुत दुख के साथ मुझे आपसे यह कहना है कि इकबाल अंसारी (जो मोहम्म्द हाशिम के निधन के बाद मामले को आगे बढ़ा रहे हैं) पर एक शूटर ने हमला किया था। इस मामले में जांच की आवश्यकता है या नहीं, यह मुझे नहीं पता। कभी-कभी न्यायालय की एक टिप्पणी ही पर्याप्त होती है।’’

संविधान पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर शामिल हैं। प्रधान न्यायाधीश ने कहा, ‘‘हम इस मामले को देखेंगे।’’ धवन ने कहा कि यद्यपि शूटर को गिरफ्तार किया जा चुका है लेकिन इस मामले का तथ्य यह है कि अंसारी को पुलिस संरक्षण प्राप्त है।

धवन ने कहा, ‘‘मैं हर एक के खिलाफ अवमानना कार्यवाही नहीं चाहता।’’ उन्होंने यह भी कहा कि वह किसी प्रकार की सुरक्षा नहीं चाहते हैं। इस वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि वह दिल्ली में ऐसे घर में रहते हैं जिसमें ताला नहीं है और कभी भी हमला किया जा सकता है। 

धवन ने कहा, ‘‘परंतु, आश्चर्य की बात यह है कि अंसारी के पुलिस संरक्षण में होने के बाद भी उन पर हमला किया जा सकता है।’’