BREAKING NEWS

शरद पवार ने NCP छोड़ने वाले नेताओं को बताया ‘कायर’◾जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करना भाजपा की राष्ट्रीय प्रतिबद्धता थी : नड्डा ◾आजाद ने अपने गृह राज्य जाने की अनुमति के लिए उच्चतम न्यायालय का किया रुख◾सिद्धारमैया ने बाढ़ राहत को लेकर केन्द्र कर्नाटक सरकार की आलोचना की◾बेरोजगारी पर बोले श्रम मंत्री-उत्तर भारत में योग्य लोगों की कमी, विपक्ष ने किया पलटवार ◾INLD के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा और निर्दलीय विधायक कांग्रेस में हुये शामिल ◾PAK ने इस साल 2,050 से अधिक बार किया संघर्षविराम उल्लंघन, 21 भारतीयों की मौत : विदेश मंत्रालय ◾PM मोदी,वेंकैया,शाह ने आंध्र नौका हादसे पर जताया शोक◾पासवान ने किया शाह के हिंदी पर बयान का समर्थन◾न्यायालय में सोमवार को होगी अनुच्छेद 370 को खत्म करने, कश्मीर में पाबंदियों के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई◾TOP 20 NEWS 15 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾आंध्र प्रदेश के गोदावरी में बड़ा हादसा : नाव पलटने से 13 लोगों की मौत, कई लापता◾संतोष गंगवार ने कहा- नौकरी के लिये योग्य युवाओं की कमी, मायावती ने किया पलटवार ◾पाकिस्तान ने इस साल 2050 बार किया संघर्षविराम उल्लंघन, मारे गए 21 भारतीय◾संतोष गंगवार के 'नौकरी' वाले बयान पर प्रियंका का पलटवार, बोलीं- ये नहीं चलेगा◾CM विजयन ने हिंदी भाषा पर बयान को लेकर की अमित शाह की आलोचना, दिया ये बयान◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में 'अप्रत्याशित जीत' हासिल करने के लिए तैयार है BJP : फडणवीस◾ देश में रोजगार की कमी नहीं बल्कि उत्तर भारतीयों में है योग्यता की कमी : संतोष गंगवार ◾ममता बनर्जी पर हमलावर हुए BJP विधायक सुरेंद्र सिंह, बोले- होगा चिदंबरम जैसा हश्र◾International Day of Democracy: ममता का मोदी सरकार पर वार, आज के दौर को बताया 'सुपर इमरजेंसी'◾

उत्तर प्रदेश

SIT ने किया पीड़िता के छात्रावास का निरीक्षण

शाहजहांपुर (उप्र) : पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने मंगलवार को पीड़िता के छात्रावास के कमरे का निरीक्षण किया और साक्ष्य जुटाए। 

एसआईटी दोपहर को कॉलेज परिसर पहुंची। टीम ने करीब पांच घंटे तक पीड़िता के कमरे का बारीकी से निरीक्षण किया। टीम के साथ फॉरेंसिक विशेषज्ञ भी मौजूद थे। 

स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय के प्रधानाचार्य संजय बरनवाल ने बताया कि छात्रा छात्रावास के कमरे में अकेली रहती थी। 

कॉलेज के प्रशासनिक सूत्रों ने बताया कि जांच के दौरान एसआईटी के साथ पीड़िता और उसका परिवार भी मौजूद था। 

सूत्रों के मुताबिक स्वामी चिन्मयानंद कॉलेज परिसर में बने अपने आवास दिव्य धाम में मंगलवार को मौजूद नहीं थे। पीड़िता जिस कमरे में रहती थी, पुलिस ने उसे सील कर दिया था। एसआईटी ने उसकी सील तोड़ कर मुआयना किया। 

इस बीच पुलिस सूत्रों ने बताया कि मंगलवार शाम तक भी चिन्मयानंद के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज नहीं किया गया है । 

पिछले महीने एक वायरल वीडियो के जरिए चिन्मयानंद पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाने वाली एलएलएम की छात्रा सोमवार को पहली बार मीडिया के सामने आयी। उसने पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री पर बलात्कार का भी आरोप लगाते हुए कहा कि वह मामले की जांच कर रही एसआईटी को भी यह बात बता चुकी है। एसआईटी ने गत रविवार को करीब 11 घंटे तक उससे पूछताछ की थी। 

युवती के मुताबिक उसने जांच दल को बताया कि स्वामी चिन्मयानंद ने उसका बलात्कार किया और एक वर्ष तक उसका शारीरिक शोषण भी किया है। यह रिपोर्ट दिल्ली के लोधी रोड थाने में जीरो क्राइम नंबर पर दर्ज करके शाहजहांपुर भेज दी गई, मगर स्थानीय पुलिस बलात्कार और शारीरिक शोषण की रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही है। 

पीड़िता ने कहा कि जांच दल को सारी बातें बताने के बाद भी चिन्मयानंद को गिरफ्तार नहीं किया गया। उसने आरोप लगाया कि इससे पहले जब उसके पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ शारीरिक शोषण के आरोप में मुकदमे की तहरीर दी थी तब मुकदमा दर्ज करना तो दूर, जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने उसके पिता को धमकी देते हुए चिन्मयानंद के रसूख का हवाला दिया था और बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने को कहा था। 

छात्रा ने दावा किया कि उसके पास सारे साक्ष्य हैं। सही समय आने पर साक्ष्य (वीडियो क्लिप) भी पेश किया जाएगा। 

उसने कहा कि उसने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए ही अपना वह वीडियो वायरल किया था, जिसमें उसने चिन्मयानंद से जान का खतरा बताया था। 

स्वामी चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह की ओर से दर्ज कराए गए पांच करोड़ रुपए की रंगदारी मांगे जाने के मामले में कथित पीड़िता ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए। चिन्मयानंद ने जो आरोप लगाया है, वह फर्जी है।

एक सवाल के जवाब में छात्रा ने बताया कि उसके साथ दिल्ली के होटल में देखा गया संजय सिंह नामक युवक उसका भाई है। 

ज्ञातव्य है कि चिन्मयानंद के कॉलेज स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल किया था जिसमें उसने चिन्मयानंद पर आरोप लगाया था कि उसने उसकी तथा कई अन्य लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। इसके साथ ही उसने अपने और अपने परिवार की जान को खतरा बताया था। 

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण और जान से मारने की धमकी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। 

उच्चतम न्यायालय के आदेश पर राज्य सरकार ने मामले की पड़ताल के लिये विशेष जांच दल गठित किया है, जो मामले की तफ्तीश कर रहा है।