उत्तर प्रदेश की देवरिया संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के 2014 में चुने गये सांसद और पूर्व मंत्री कलराज मिश्र के खिलाफ पार्टी पर्यवेक्षकों के सामने ही “मोदी तुझसे बैर नहीं कलराज तेरी खैर नहीं” के नारे लगे। यह नारा लगाने वाले इस सीट से टिकट चाहने वाले एक दावेदार के समर्थक बताये जा रहे हैं।

पार्टी सूत्रों ने रविवार को यहां बताया कि शनिवार शाम उत्तर प्रदेश बीजेपी के सह प्रभारी सुनील ओझा और क्षेत्रीय संगठन प्रभारी रत्नाकर सिंह यहां कार्यकर्ताओं की राय जानने आये थे। इसी दौरान उनके सामने कलराज मिश्र के खिलाफ नारेबाजी हुई। नारेबाजी करने वालों ने पार्टी पर्यवेक्षकों से कहा कि पूर्व मंत्री की उम्र ज्यादा है और वह जनता को पर्याप्त समय नहीं दे पाते हैं।

उन्होंने मांग की कि देवरिया सीट से किसी युवा को बीजेपी टिकट दे। इस बीच, देवरिया के पूर्व सांसद और रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल प्रकाश मणि त्रिपाठी का एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियों में वह कलराज मिश्र को बाहरी व्यक्ति और असफल सांसद बता रहे हैं। वीडियो में त्रिपाठी कहते दिखते हैं कि देवरिया में जो विकास कार्य उन्होंने स्वीकृत कराये थे बीजेपी सांसद उसका ही शिलान्यास और लोकार्पण कर खुद श्रेय ले रहे हैं।

पहली प्राथमिकता देवरिया के विकास कार्यो की : कलराज मिश्र

इस बारे में कलराज मिश्र ने कहा कि पूर्व सांसद बड़े भाई हैं और देवरिया की जनता बतायेगी कि मैं बाहरी हूं या नहीं। उन्होंने कहा कि त्रिपाठी सेना के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं और सेना के लोगों में अनुशासन ज्यादा होता है लेकिन उनमें अनुशासन नहीं दिख रहा है। कलराज मिश्र ने देवरिया से लोकसभा चुनाव लड़ने के बारे में कहा कि पहले मैं जहां था वहीं हूं और यहां विकास को और आगे ले जाने के लिये तैयार हूं।