BREAKING NEWS

चरणजीत चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री, रंधावा ने हाईकमान के फैसले का किया स्वागत◾महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- वोट लेने के लिए पाकिस्तान का करती है इस्तेमाल ◾आतंकियों की नापाक साजिश होगी नाकाम, ड्रोन के लिए काल बनेगी ‘पंप एक्शन गन’! सरकार ने सुरक्षा बलों को दिए निर्देश◾TMC में शामिल होने के बाद बाबुल सुप्रियो ने रखी दिल की बात, बोले- जिंदगी ने मेरे लिए नया रास्ता खोल दिया है ◾सिद्धू पर लगे एंटीनेशनल के आरोपों पर BJP का सवाल, सोनिया और राहुल चुप क्यों हैं?◾सुखजिंदर रंधावा हो सकते पंजाब के नए मुख्यमंत्री, अरुणा चौधरी और भारत भूषण बनेंगे डिप्टी सीएम◾इस्तीफा देने से पहले सोनिया को अमरिंदर ने लिखी थी चिट्ठी, हालिया घटनाक्रमों पर पीड़ा व्यक्त की◾सिद्धू के सलाहकार का अमरिंदर पर वार, कहा-मुझे मुंह खोलने के लिए मजबूर न करें◾पंजाब : मुख्यमंत्री पद की रेस में नाम होने पर बोले रंधावा-कभी नहीं रही पद की लालसा◾प्रियंका गांधी का योगी पर हमला, बोलीं- जनता से जुड़े वादों को पूरा करने में असफल क्यों रही सरकार ◾पंजाब कांग्रेस की रार पर बोली BJP-अमरिंदर की बढ़ती लोकप्रियता के डर से लिया गया उनका इस्तीफा◾कैप्टन के भाजपा में शामिल होने के कयास पर बोले नेता, अमरिंदर जताएंगे इच्छा, तो पार्टी कर सकती है विचार◾कौन संभालेगा पंजाब CM का पद? कांग्रेस MLA ने कहा-अगले 2-3 घंटे में नए मुख्यमंत्री के नाम का होगा फैसला◾पंजाब में हो सकती है बगावत? गहलोत बोले-उम्मीद है कि कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने वाला कदम नहीं उठाएंगे कैप्टन ◾CM योगी ने साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर गिनाईं अपनी सरकार की उपलब्धियां◾राहुल ने ट्वीट किया कोरोना टीकाकरण का ग्राफ, लिखा-'इवेंट खत्म'◾अंबिका सोनी ने पंजाब CM की कमान संभालने से किया इनकार, टली कांग्रेस विधायक दल की बैठक◾अफगानिस्तान में आगे बुनियादी ढांचा निवेश को जारी रखने के बारे में पीएम मोदी करेंगे निर्णय : नितिन गडकरी◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 30,773 नए मामलों की पुष्टि, 309 लोगों की हुई मौत◾पंजाब के बाद अब राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी निगाहें, क्या होगा उलटफेर?◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जहरीली शराब से अब तक 22 लोगों ने गंवाई जान, प्रशासन ने कहा- मौतों के पीछे हैं और भी कई कारण

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में देशी शराब के ठेके से शराब लेकर सेवन करने वालों की मौत का सिलसिला शनिवार को भी जारी है। इस कारण से अब तक कुल 22 मौंते हुई हैं। लेकिन ग्रामीणों का आरोप है यहां पर तकरीबन 3 दर्जन मौंते हो चुकी है।प्रशासन का कहना है कि सारी मौंते सिर्फ शराब के सेवन से नहीं हुई है बल्कि उनके अन्य कारण भी हैं अभी मामले की जांच हो रही है। इस मामले में तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा 6 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।

मंडला आयुक्त गौरव दयाल ने बताया कि अलीगढ़ के अलग-अलग तीन थाना क्षेत्रों में शराब के सेवन से कुल 22 मौंते हुई हैं। उनका कहना है कि कुछ मौतें अन्य कारणों से भी हो सकती हैं सभी शराब पीनें से नहीं हुई है। बांकी जांच चल रही है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के पीआरओ कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले अभी तक पुलिस ने तीन मुकदमे दर्ज कर शराब तस्करी रैकेट में आरोपी अनिल चौधरी सहित 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। दो मुख्य आरोपी फरार हैं, जिन पर 50-50 हजार का इनाम घोषित किया गया है। उधर, लापरवाही के आरोप में सरकार ने जिला आबकारी अधिकारी धीरज शर्मा, आबकारी निरीक्षक राजेश यादव, प्रधान सिपाही अशोक कुमार, निरीक्षक चंद्रप्रकाश यादव और सिपाही रामराज राना को निलंबित कर दिया है।

ज्ञात हो कि अलीगढ़ के सात गांव में गुरुवार रात बड़ी संख्या में लोगों ने देशी शराब का सेवन किया। इनमें से अधिकांश तो अलीगढ़ के लोग थे जबकि बड़ी संख्या में ट्रक के चालक भी थे, जो कि एचपी बॉटलिंग प्लांट में गैस सिलेंडर लेने आए थे। शुक्रवार को जहां 17 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं आज सुबह भी पांच लोगों की मौत हो गई। मृतकों की संख्या अब 22 हो गई है। अभी भी यह संख्या बढ़ सकती है। जिला अस्पताल में भर्ती कई लोगों की हालत अभी गम्भीर बनी हुई है।

अलीगढ़ के लोधा, खैर व जवां क्षेत्र के लोगों ने गुरुवार शाम अलग-अलग ठेकों से देसी शराब खरीदी थी। देर शाम सेवन किया। लोधा के गांव करसुआ के सुनील को रात में उल्टियां होने लगीं। हालत बिगडने पर जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां मौत हो गई। कुछ देर बाद ही गांव के कुछ अन्य लोगों को उल्टियां शुरू हो गईं। ग्रामीणों का दावा 3 दर्जन से अधिक मौत होने का है। प्रशासन व आबकारी विभाग की टीम ने वहां की दुकान को भी सील कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है शराब पीने से ही मौत हुई है।

डीएम चंद्रभूषण सिंह ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। चार ठेके सील कर दिए गए हैं। जांच होने तक जिले में देसी शराब की सभी दुकानें बंद करा दी गई हैं। यहां पर प्रथम²ष्टया जांच में मिलावटी शराब बनाकर सरकारी दुकान से बेचने का मामला सामने आया है, इसमें सरकारी ठेकेदार भी लिप्त हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक में गृह व आबकारी विभाग को 48 घंटे अवैध शराब के खिलाफ छापामार अभियान चलाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस प्रकरण में हर दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन पर एनएसए भी लगाया जाएगा। अगर सरकारी ठेके से शराब खरीदी है तो ठेका सीज किया जाए। दोषियों की संपत्ति जब्त कर नीलाम होगी और उससे मृतकों के स्वजन को मुआवजा दिया जाएगा।

देश में कोरोना के दैनिक मामले 45 दिनों में सबसे कम, 3617 लोगों की मौत