BREAKING NEWS

राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप◾मेरी मानसिक ताकत तोड़ना चाहती है केंद्र सरकार : चिदंबरम ◾भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई है : राहुल◾TOP 20 NEWS 7 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का नारा 'अबकी बार, तीन पार' होगा : केजरीवाल◾एनआरसी के खिलाफ कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेगी पार्टी : संजय सिंह◾राकांपा नेता उमाशंकर यादव बोले- नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दें CM योगी◾बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾उन्नाव रेप केस: बुजुर्ग पिता की गुहार, बेटी के गुनहगारों को मिले मौत की सजा◾उन्नाव रेप पीड़िता की दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक : मायावती◾सीएम बनने के बाद PM मोदी से पहली बार मिले उद्धव ठाकरे, सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मुम्बई रवाना हुए मोदी ◾

उत्तर प्रदेश

कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू माफी मांगें, वरना मुकदमा होगा : श्रीकांत शर्मा

 shrikant

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू पर निशाना साधा, और कहा कि या तो वह अपने बयानों के लिए माफी मांगें, अन्यथा आपराधिक मानहानि का मुकदमा झेलने के लिए तैयार रहें। श्रीकांत ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा, 'उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार 'लल्लू' द्वारा उनके ऊपर लगाए गए निजी आरोप मनगढ़ंत, तथ्यों से परे और शर्मनाक हैं। 

उन्हें अपने इन निंदा योग्य आरोपों पर अविलंब माफी मांगनी चाहिए, नहीं तो वह आपराधिक मानहानि का मुकदमा झेलने के लिए तैयार रहें।' ऊर्जा मंत्री ने कहा, 'लल्लू ने मीडिया की सुर्खियों में बने रहने के लिए निजी आरोप गढ़े और आरोपित किए हैं। उनके ये आरोप पूरी तरह मनगढ़ंत, तथ्यों से परे हैं। 

प्रियंका और राहुल को 'रोल मॉडल' मानते हैं पाकिस्तान के लोग : आनंद स्वरूप शुक्ला

वह राहुल गांधी की तरह बर्ताव कर रहे हैं, जिन्होंने भी कई नेताओं पर झूठे आरोप लगाए और आज अदालतों के चक्कर लगा रहे हैं। उनके इस कृत्य से उन्हें सूक्ष्म प्रसिद्धि तो जरूर मिल सकती है, लेकिन उनका यह आचरण सार्वजनिक जीवन की मर्यादा के विपरीत है।' उन्होंने कहा, 'डीएचएफएल मामले में निवेश का रास्ता कांग्रेस परिवार के प्रिय मित्र अखिलेश यादव के समय ही खोला गया। इसकी पठकथा उनके कार्यकाल में ही लिखी गई।

 जैसे ही मामला संज्ञान में आया मैंने स्वयं मामले की सीबीआई जांच के लिए मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखकर जांच कराने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने अनुरोध स्वीकार किया और उनके द्वारा इसकी सिफारिश डीओपीटी को तत्काल की गई। वर्तमान में डीजी (ईओडब्ल्यू) इसकी जांच कर रहे हैं।' 

शर्मा ने कहा कि 'सरकार भ्रष्टाचार के मामलों को लेकर गंभीर है और उसकी नीति ऐसे मामलों में जीरो टॉलरेन्स की है। इसीलिए तत्काल मामले में एफआईआर और प्रथम²ष्ट्या दोषियों की गिरफ्तारी भी कराई गई।' उन्होंने कहा, 'कर्मचारियों के भविष्य निधि का निवेश कहां होगा, यह काम ट्रस्ट के अध्यक्ष और ट्रस्टियों का है।

ऊर्जा मंत्री का इस प्रक्रिया से कोई सरोकार नहीं है। ऊर्जा विभाग के सभी सदस्य मेरे परिवार का हिस्सा हैं। सरकार ने पहले ही कहा है कि इस मामले में किसी का अहित नहीं होगा।' ऊर्जा मंत्री ने कहा, 'लल्लू अपने कृत्य पर सार्वजनिक तौर पर तत्काल माफी मांगें। केवल आरोप लगाकर भाग जाने की राजनीति नहीं चलेगी। वह ऐसा नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि का नोटिस भेजकर शीघ्र ही कानूनी कार्यवाही शुरू कराई जाएगी।' 

उल्लेखनीय है कि राज्य के बिजली कर्मियों के भविष्य निधि को विवादास्पद कंपनी डीएचएफएल में निवेश किए जाने के मामले को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने प्रदेश के उर्जा मंत्री को तुरंत बर्खास्त करने की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से रविवार को मांग की थी। 

उन्होंने कहा था कि दूसरों पर आरोप लगाकर अपने आरोप नहीं छिपाए जा सकते। लल्लू ने कहा था, '21 महीने तक सरकार क्या कर रही थी? सपा के साथ क्या सांठगांठ थी? डीएचएफएल घोटाले में ऊर्जा मंत्री, चेयरमैन, एमडी पर एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। ऊर्जा मंत्री के घर और दफ्तर आने-जाने वालों का विजिटर रजिस्टर सील किया जाए।'