BREAKING NEWS

चुनाव दिल्ली के 2 करोड़ लोगों व 200 भाजपा सांसदों के बीच : केजरीवाल ◾भागवत ने किये बाबा विश्वनाथ के दर्शन◾निर्भया केस : पवन जल्लाद गुरुवार को पहुंचेगा तिहाड़◾प्रशांत ने नीतीश के दावे को बताया 'झूठा'◾बस ने ऑटो रिक्शा को मारी टक्कर, दोनों वाहन कुएं में गिरे, 15 से अधिक लोगों की मौत , 20 से ज़्यादा जख्मी◾भाजपा चुनाव को साम्प्रदायिक बनाना चाहती है : कांग्रेस◾अंडर-19 विश्व कप : ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत सेमीफाइनल में◾कन्हैया कुमार से ज्यादा खतरनाक बयान दिया है शरजील ने - शाह◾जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर BSF को ड्रोन रोधी प्रणाली से लैस किया जाएगा◾भारत ने हिन्दू लड़की के अपहरण पर पाक उच्चायोग के अधिकारी को किया तलब, आपत्ति पत्र जारी किया◾प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर जदयू में शामिल किया : नीतीश कुमार ◾NPR के प्रारूप में जोडे गए नए कॉलम को हटाने का आग्रह करेंगे पार्टी सांसद : नीतीश कुमार ◾बजट सत्र के मद्देनजर राज्यसभा के सभापति ने शुक्रवार को बुलाई सर्वदलीय बैठक ◾राहुल ने किया नेशनल रजिस्टर आफ अनएम्पलायमेंट पोस्टर का विमोचन ◾राजद्रोह का आरोपी शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार◾नरेंद्र मोदी ने देश की भाईचारे और एकता की छवि को नुकसान पहुंचाया : राहुल गांधी◾एनसीसी के कार्यक्रम में PM मोदी बोले- पाक को धूल चटाने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे'◾कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- प्रति व्यक्ति कर्ज 27 हजार रुपये बढ़ा, सरकार बजट में बताए कि यह बोझ कैसे कम होगा ◾2002 गुजरात दंगे के 14 दोषियों को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत◾केजरीवाल की चुनौती को अमित शाह ने स्वीकारी, 8 सांसदों को स्कूलों में भेजकर खोली पोल ◾

बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती

उत्तर प्रदेश और देश में हो रही बलात्कार की घटनाओं पर राज्य सरकार और केन्द्र सरकार को घेरते हुये बसपा प्रमुख मायावती ने शनिवार को कहा कि सुप्रीम कोर्ट स्वत: इन घटनाओं को संज्ञान में ले और केंद्र सरकार को ऐसे मामलों में सख्त कदम उठाने के निर्देश दे। 

मायावती ने कहा, "उत्तर प्रदेश सरकार को सख्त कदम उठाते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए। केन्द्र सरकार को भी इन घटनाओं को गंभीरता से लेना चाहिए। केन्द्र सरकार को महिलाओं पर हो रहे उत्पीड़न को रोकने के लिये सख्त कानून बनाना चाहिए।"

उन्होंने कहा कि लेकिन केंद्र की सरकार ऐसे मामलों में कार्रवाई करते हुए नजर नहीं आ रही है और इस स्थिति में हमारी पार्टी यह चाहेगी कि सुप्रीम कोर्ट इन घटनाओं को गंभीरता से ले। हैदराबाद की घटना है, उन्नाव की घटना है और भी घटनाएं आए दिन हो रही है, मैं समझती हूं कि सुप्रीम कोर्ट यदि खुद संज्ञान ले और केन्द्र को सख्त कदम उठाने के निर्देश दे तो शायद केंद्र सरकार हरकत में आ जाये।

मायावती ने कहा, "पूरे राज्य में कोई दिन ऐसा नहीं जाता है जिस दिन बलात्कार की या बलात्कार के बाद महिला की हत्या करने की या छेड़छाड़ की घटना नहीं होती हो। वैसे ऐसी घटनायें पूरे देश में हो रही है लेकिन उत्तर प्रदेश में तो अति हो रही है।" 

राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, "उन्नाव की घटना को मैंने काफी गंभीरता से लिया है। राज्य की राज्यपाल एक महिला है और एक महिला ही महिलाओं के दुख दर्द को समझ सकती हैं। मैंने इस मामले को लेकर राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है लेकिन राज्यपाल अभी शहर से बाहर है।"

उन्होंने कहा कि राज्यपाल से निवेदन करना चाहूंगी कि महिलाओं पर जो उत्पीड़न हो रहा है उसे रोकने के लिये वह अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी निभायें और समय से उचित कदम उठायें ताकि राज्य सरकार अपनी जिम्मेदारी ठीक ढंग से निभायें।'' 

इससे पहले मायावती ने आज सुबह ट्वीट किया, "जिस उन्नाव बलात्कार पीड़िता को जलाकर मारने की कोशिश की गई उसकी कल रात दिल्ली में हुई दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक। इस दुःख की घड़ी में बसपा पीड़ित परिवार के साथ है। उत्तर प्रदेश सरकार पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने हेतु शीघ्र ही विशेष पहल करे, यही इंसाफ का तकाज़ा और जनता की मांग है।" 

उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा, "साथ ही, इस तरह की दर्दनाक घटनाओं को राज्य सहित पूरे देशभर में रोकने के लिए राज्य सरकारों को चाहिए कि वे लोगों में कानून का खौफ पैदा करे तथा केन्द्र भी ऐसी घटनाओं को मद्देनजर रखते हुये दोषियों को निर्धारित समय के भीतर ही फांसी की सख्त सजा दिलाने का कानून जरूर बनाए।" 

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत: योगी बोले- फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई, आरोपियों को दिलाई जाएगी कड़ी सजा