BREAKING NEWS

प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर जदयू में शामिल किया : नीतीश कुमार ◾NPR के प्रारूप में जोडे गए नए कॉलम को हटाने का आग्रह करेंगे पार्टी सांसद : नीतीश कुमार ◾बजट सत्र के मद्देनजर राज्यसभा के सभापति ने शुक्रवार को बुलाई सर्वदलीय बैठक ◾राहुल ने किया नेशनल रजिस्टर आफ अनएम्पलायमेंट पोस्टर का विमोचन ◾राजद्रोह का आरोपी शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार◾नरेंद्र मोदी ने देश की भाईचारे और एकता की छवि को नुकसान पहुंचाया : राहुल गांधी◾एनसीसी के कार्यक्रम में PM मोदी बोले- पाक को धूल चटाने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे'◾कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- प्रति व्यक्ति कर्ज 27 हजार रुपये बढ़ा, सरकार बजट में बताए कि यह बोझ कैसे कम होगा ◾2002 गुजरात दंगे के 14 दोषियों को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत◾केजरीवाल की चुनौती को अमित शाह ने स्वीकारी, 8 सांसदों को स्कूलों में भेजकर खोली पोल ◾सीएए के तहत भारतीय नागरिकता पाने के लिए लोगों को देना होगा धर्म का सबूत◾क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए एक-दूसरे की संवेदनाओं को समझना आवश्यक : राजनाथ सिंह◾पाक के लाहौर में मारा गया खालिस्तानी नेता 'हैप्पी PhD’, RSS नेताओं की हत्या का था आरोपी◾निर्भया केस के दोषी मुकेश सिंह की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई ◾BJP सांसद प्रवेश वर्मा का बड़ा बयान, बोले-हमारी सरकार बनी तो 1 घंटे में खाली करा देंगे शाहीन बाग◾दिल्ली में कोरोना वायरस ने दी दस्तक, RML अस्पताल में 3 संदिग्ध मामले सामने आए◾जम्मू-कश्मीर पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल, लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी को किया गिरफ्तार◾मध्यप्रदेश : कमलनाथ सरकार में राजनीतिक नियुक्तियां अटकने से कांग्रेस नेताओं में बढ़ रहा असंतोष ◾दिल्ली चुनाव : अमित शाह ने केजरीवाल को शाहीनबाग जाने की चुनौती दी, कहा- मोदी सरकार राष्ट्र विरोधी को नहीं बख्शेगी ◾कोरोना वायरस से चीन में अब तक 106 लोगों की मौत, 1300 नए मामले आए सामने ◾

‘अली’ और ‘बजरंगबली’ वाली टिप्पणी पर योगी को EC का कारण बताओ नोटिस

चुनाव आयोग ने मेरठ में एक रैली के दौरान ‘‘अली’’ और ‘‘बजरंग अली’’ वाली टिप्पणी करने को लेकर गुरूवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कारण बताओ नोटिस जारी किया। आयोग का मानना है कि प्रथम दृष्टया योगी ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है। आयोग ने उनसे शुक्रवार की शाम तक जवाब देने को कहा है।

योगी ने लोकसभा चुनावों की तुलना इस्लाम में अहम शख्सियत ‘अली’ और हिंदू देवता ‘बजरंगबली’ के बीच मुकाबले से की थी। बीजेपी नेता ने कहा था, ‘‘अगर कांग्रेस, सपा, बसपा को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है।’’ योगी ने देवबंद में बसपा प्रमुख मायावती के उस भाषण की तरफ इशारा करते हुए यह टिप्पणी की थी जिसमें मायावती ने मुस्लिमों से सपा-बसपा गठबंधन को वोट देने की अपील की थी।

वहीं योगी ने 31 मार्च को गाजियाबाद में चुनावी रैली में कहा था कि कांग्रेस के लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते थे और ‘मोदी जी की सेना’ आतंकवादियों को गोली और बम से स्वागत करती है। उनके इस बयान की कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने काफी आलोचना की थी।

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने इसे सेना का अपमान बताते हुए कहा था कि ये भारत के सशस्त्र बल हैं, ‘प्रचार मंत्री की निजी सेना नहीं’। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया था।