यूपी के गाजियाबाद में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता की हत्या के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि ‘आप’ नेता नवीन दास की हत्या समलैंगिक संबंध और जलन के कारण की गई थी। गाजियाबाद के साहिबाबाद इलाके में बीती 5 अक्टूबर को आप कार्यकर्ता नवीन दास की लाश ब्रिजा गाड़ी में बरामद हुई थी। इस मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि नवीन के दोस्त समर, तैयब और तालिब ने ही नवीन को हलवे में जहर मिलाकर खिला दिया था। जिससे उसकी मौत हो गई थी।

उसके बाद उसकी गाड़ी को साहिबाबाद में ले जाकर आग लगा दी थी। पुलिस के मुताबिक इससे पहले तीनों आरोपियों ने नवीन के अकाउंट से 5 लाख रुपये अपने खातों में ट्रांसफर किए थे। यही नहीं नवीन के पास मौजूद लाखों रुपये की नगदी भी लूट ली गई थी। बताया जा रहा है कि नवीन दास और उसके दोस्त तैयब के बीच समलैंगिक संबंध थे। दोनों के बीच यह रिश्ता काफी समय से चला आ रहा था। ये दोनों कनॉट प्लेस के नामी होटलों में गे पार्टी भी ऑर्गेनाइज करते थे।

व्यभिचार-समलैंगिकता अपराध नहीं, तो तीन तलाक कैसे- ओवैसी

इन पार्टीज में दूसरे समलैंगिक लोगों को आकर्षित किया जाता था। पुलिस के अनुसार इस मामले का मुख्य आरोपी तैयब है। जबकि उसका भाई तालिब उसका साथी है। तीसरा आरोपी भी समलैंगिक है। बताया जा रहा है कि नवीन के मोबाइल में इनके समलैंगिक रिश्तों के कुछ आपत्तिजनक वीडियो भी मौजूद थे। उसी से ब्लैकमेलिंग का खेल चल रहा था। तैयब चाहता था कि नवीन उसके साथ शादी करके बतौर कपल रहना शुरू कर दे। लेकिन नवीन को यह बात मंजूर नहीं थी।

नवीन का इवेंट मैनेजमेंट का काम था और तैयब को लगता था कि नवीन के पास काफी पैसा है। लिहाजा 4 अक्टूबर की रात को यह पूरा प्लान बनाया गया था। उसे अमलीजामा पहना दिया गया। तीनों ने नवीन को लोनी इलाके में बुलाया था, जहां पर उसे हलवा खाने को दिया गया था। जिसमें जहर मिला था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।