BREAKING NEWS

आज का राशिफल (12 अगस्त 2022)◾मुफ्त की सौगातें और कल्याणकारी योजनाएं भिन्न चीजें : SC◾राजीव गांधी हत्याकांड : दोषी नलिनी ने समय पूर्व रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया◾PM मोदी ने वेंकैया नायडू की तुलना विनोबा भावे से की, कहा-आपकी ऊर्जा प्रभावित करती है◾बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, नौकरी में वृद्धि के संकल्प को दोहराया◾J&K के राजौरी में सेना के शिविर पर हमला : 3 जवान शहीद, 2 आतंकवादी मारे गये◾भारत चालू वित्त वर्ष में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा - सरकारी सूत्र◾महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर दी दस्तक , 1,877 नए मामले आये सामने , 5 की मौत◾भाजपा ने AAP पर साधा निशाना , कहा - फेल हो गया है केजरीवाल का दिल्ली मॉडल◾जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के 'मिनी कैबिनेट' में 75 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले◾ गोवा सीएम का केजरीवाल पर पलटवार, बोले- स्कूल चलाने के लिए हमें सलाह की नहीं जरूरत ◾नीतीश को अवसरवादी बताने पर तेजस्वी का भाजपा पर तंज - जो बिकेगा उसे खरीद लो है इनकी नीति ◾प्रधानमंत्री ने पीएमओ में कार्यरत कर्मचारियों की बेटियों से बंधवाई राखी, देशवासियों को दी शुभकामनायें ◾

याचिकाकर्ता ने इलाहाबाद HC में मांगी ताजमहल के 22 कमरों में जाने की अनुमति, कोर्ट ने लगाई फटकार

आगरा स्थित ताजमहल के बंद पड़े 22 कमरों को खोलने को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट में सुनवाई जारी है, करवाई के दौरान हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता को फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि जनहित याचिका (पीआईएल) व्यवस्था का गलत इस्तेमाल न करें, कल आप आएंगे और कहेंगे कि हमें माननीय जज के चेंबर में जाने की अनुमति चाहिए तो हम आपको उनके चेंबर में जाने देंगे? बता दें कि ताज महल के 22 कमरों के मामले में जस्टिस डीके उपाध्याय और जस्टिस सुभाष विद्यार्थी की बेंच सुनवाई कर रही है। 

हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता को लगाई फटकार 

कोर्ट ने याचिकाकर्ता से पूछा "क्या आप मानते हैं ताज महल को मुगल बादशाह शाहजहां ने नहीं बनवाया है? क्या हम यहां कोई फैसला सुनाने आए हैं? जैसे कि इसे किसने बनवाया या ताजमहल की उम्र क्या है? कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि आपको जिस मुद्दे पर पूरी जानकारी ना हो तब उस टॉपिक पर रिसर्च कीजिए, जाइए एमए कीजिए, पीएचडी कीजिए, उन्होंने कहा कि अगर कोई आपको रिसर्च ना करने दे तो हमारे पास आइए! कोर्ट ने पूछा अपने इस मामले पर किस्से जानकारी मांगी थी? हालांकि ताज महल के 22 कमरों को लेकर कोर्ट ने सुनवाई से इंकार नहीं किया है और ना ही करवाई को टाला है। 

याचिकाकर्ता ने बंद कमरों में जाने की मांगी अनुमति 

वहीं हाई कोर्ट के सवालों पर याचिकाकर्ता ने जवाब देते हुए कहा कि हमने अथॉरिटी से जानकारी मांगी, कोर्ट ने कहा कि अगर उन्होंने कहा है कि सुरक्षा कारणों से कमरों को बंद किया गया है तो यह जानकारी है, अगर आप इससे संतुष्ट नहीं हैं तो इसे चुनौती दीजिये। याचिकाकर्ता ने कोर्ट में कहा कि कृपया मुझे ताजमहल के बंद कमरों में जाने की अनुमति दे दें, इसपर कोर्ट ने फटकार लगते हुए कहा कि कल आप आकर हमें माननीय जजों के चैंबर में जाने के लिए कहेंगे? कृपया जनहित याचिका प्रणाली का मजाक न बनाएं, यह याचिका कई दिनों से मीडिया में घूम रही है और अब आप समय मांग रहे हैं?