BREAKING NEWS

संसद का शीतकालीन सत्र LIVE : राज्यसभा के 250वें सत्र पर PM मोदी का संबोधन, कहा-इसमें शामिल होना मेरा सौभाग्य◾CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जन्मदिन आज, PM मोदी ने दी बधाई◾संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर घमासान के आसार◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾

उत्तर प्रदेश

माता-पिता की सजा से बचने के लिए दो स्कूली छात्रों ने रची अपहरण की झूठी कहानी

राजधानी लखनऊ से एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है जिसमे 13 और 11 साल के दो नाबालिग लड़कों ने स्कूल नहीं जाने पर माता-पिता से सजा मिलने के डर से अपहरण की झूठी कहानी रच डाली। लखनऊ के सआदतगंज इलाके के रहने वाले दोनों लड़के सोमवार को स्कूल के लिए घर से निकले थे लेकिन दोनों ही छात्र घर एक मनगढ़ंत कहानी के साथ वापस लौटे। 

घर पहुंचकर दोनों ने अपने माता-पिता को बताया कि वे सुबह 7.30 बजे जब स्कूल जा रहे थे, तभी कार सवार एक शख्स ने उन्हें बुलाया। लड़कों ने आगे कहा, उस आदमी ने हम दोनों को कार के अंदर खींच लिया जिसमें पांच अन्य लोग पहले से ही सवार थे, उन लोगों ने हमारी आंखों पर पट्टी बांध दी। जब हम ठाकुरगंज के पास पहुंचे तो कार के शीशे को बोतल से तोड़ने में सफल रहे और मदद के लिए जोर- जोर से चिल्लाएं। उस समय ट्रैफिक के धीमे होने के कारण कार हल्की हो गई थी, जिस वजह से हम दोनों वहां से भागने में सफल हो पाऐ। 

लड़को की बात सुनकर घबराए माता-पिता ने पुलिस को सूचित किया। जानकारी पाते ही पुलिस ने अपहरणकर्ताओं का पता लगाने के लिए एक टीम बनाई। सआदतगंज के एसचओ महेश पाल सिंह ने कहा कि जब हमने इलाके के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया, तब सच सामने आया। 

उन्होंने आगे बताया कि हमने ना लड़कों को देखा और ना ही किसी कार को। इसके बाद जब पुलिस ने लड़को से पूछताछ की तब लड़कों ने कबूल किया कि उन्होंने ही मनगढ़ंत कहानी बनाई थी, क्योंकि उन्होंने अपना होमवर्क नहीं किया था और स्कूल के लिए भी देर हो चुकी थी। एसएचओ ने दोनों लड़कों को भविष्य में ऐसा कोई भी ड्रामा ना करने की सलाह दी।