BREAKING NEWS

CM केजरीवाल ने कहा- डेंगू नियंत्रण पर उठाएंगे कई कदम, स्कूली छात्र होंगे शामिल◾ महाराष्ट्र : शिंदे की पीएफआई कार्यकर्ताओं को दो टूक, कहा - बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे' ◾अमित शाह के वार पर RJD प्रमुख का पलटवार, बोले- भाजपा का होगा सफाया ◾ राजस्थान : कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक के बेटों को रिश्वत लेते हुए एसीबी ने किया गिरफ्तार ◾पीएफआई हिंसा पर विजयन का बड़ा बयान, कहा - पूर्व नियोजित थी हिंसा, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा ◾दक्षिण में 2024 की तैयारी का जायजा लेने के लिए केरल के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे जेपी नड्डा ◾ 'आप' का राज्यपाल पर बड़ा आरोप, कहा - बीजेपी के इशारे पर कर रहे हैं काम◾Himachal Pradesh: कांग्रेस को झटका! आश्रय शर्मा बीजेपी में होंगे शामिल◾यूपी में मर्यादा तार -तार कक्षा तीन की छात्रो को प्रिंसिपल ने दिखाया अश्लील वीडीयो, मामला दर्ज◾हिजाब विवाद में फंसा ईरान, तेजी के साथ पूरे देश में फैल रही हैं प्रदर्शन की आग ◾Punjab News: होशियारपुर में गैस संयंत्र में धमाका, एक की मौत◾चीन में सैन्य तख्तापलट का मंडराया खतरा ! शी जिनपिंग नजरबंद, चीन में चर्चाओं ने पकड़ी गति◾Pune: पीएफआई कार्यकर्ताओं ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, भाजपा ने की एक्शन लेने की मांग◾दिल्ली में बोले लालू-'नीतीश और मैं सोनिया से मिलेंगे, विपक्ष को एकजुट करने की करेंगे कोशिश'◾संदीप दीक्षित ने AAP सरकार के शिक्षा मॉडल को घेरा, जानें क्या कहा .... ◾हिमाचल की युवा शक्ति ने हमेशा देश को गौरवान्वित होने का अवसर दिया : PM मोदी◾ पीएफआई के गुंडों को दुकानदार ने दिखाई हैसियत, दुकान बंद करने से किया इनकार, वीडीयो वायरल◾अगर हो गई है ट्रेन लेट तो जानें IRCTC का ये नियम, यात्रा में मिलेगा बिल्कुल मुफ्त में खाना◾Congress President Election: गहलोत -थरूर में मुकाबला पक्का, थरूर ने मंगवाया नामांकन पत्र ◾सरकार की नीतियों की गलत व्याख्या कर जनमानस में पीएफआई ने फैलाई नफरत : एनआईए ◾

यूपी: सीएम योगी का दावा, आपदा में राज्य ने जो उत्कृष्ट कार्य किया, वह देश के लिए उदाहरण बना

उत्तर प्रदेश में कोरोना का प्रकोप जारी है। इस  बीच, सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा करते हुए कहा कि कोरोना काल के आपदा के समय जो राज्य ने उत्कृष्ट स्तर पर जो कार्य किया है वह देश के लिए एक मिसाल बना है। उन्होंने कहा, ''जब हम एक टीम के रूप में काम करते हैं और पूरा सिस्टम उसके साथ जुड़ता है तो उसके परिणाम भी सकारात्मक आते हैं ।''

योगी ने कहा, ''आपदा के दौरान प्रदेश ने उत्कृष्ट स्तर का कार्य किया, जो देश के लिए एक उदाहरण बना है। वर्तमान में पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोविड-19 से जूझ रही है। संकट के समय में सभी का एकजुट होना बेहद जरूरी है।'' मुख्यमंत्री यहां अपने सरकारी आवास पर प्रदेश में आए 10 लाख 48 हजार 166 श्रमिक परिवारों के खातों में डीबीटी (प्रत्यक्ष नकदी अंतरण) के माध्यम से 104 करोड़ 82 लाख रुपये के आनलाइन हस्तांतरण संबंधी कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इसके माध्यम से प्रति परिवार 1000 रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी गयी।

 योगी ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान राजस्व विभाग और राहत आयुक्त कार्यालय ने बहुत बड़ा कार्य किया है । प्रदेश के 35 लाख कामगारों एवं श्रमिकों को विषम परिस्थितियों में घर वापस आना पड़ा। उन्होंने बताया कि वापस आए श्रमिकों एवं कामगारों को कच्ची खाद्य सामग्री युक्त खाद्यान्न किट दी जा रही है। अब तक 14 लाख परिवारों को राशन किट उपलब्ध करायी जा चुकी है।

योगी ने कहा कि कामगारों एवं श्रमिकों के लिए रोजगार देने के उद्देश्य से एक आयोग के गठन की कार्यवाही की जा रही है। प्रदेश में इनकी स्किल मैपिंग की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देशित किया कि स्किल मैपिंग होने के बाद इन कामगारों के बैंक खातों की सूची शासन को उपलब्ध करायी जाए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आने वाले कामगारों एवं श्रमिकों को 1000 रुपये भरण-पोषण भत्ते के रूप में उपलब्ध कराया जा रहा है। योगी ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस के अवसर ‘बाल श्रमिक विद्या योजना’ का शुभारंभ किया गया। इसका उद्देश्य 08-18 आयु वर्ग के कामकाजी बच्चों को बाल श्रम से अलग कर शिक्षा से जोड़ना है । श्रमिकों की पुत्रियों की शादी के लिए भी श्रम विभाग द्वारा एक कार्य योजना तैयार की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान विभिन्न राज्यों से सर्वाधिक प्रवासी कामगार व श्रमिक उत्तर प्रदेश में आए। इनकी सुविधा के लिए 1,650 से अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर उत्तर प्रदेश में आयी। कामगारों एवं श्रमिकों को सुरक्षित उनके घरों तक पहुंचाने के लिए परिवहन निगम की 12,000 से अधिक बसों का संचालन किया गया ।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 से लड़ने के लिए कोविड अस्पतालों में एक लाख से अधिक बेड की व्यवस्था की है। सभी जनपदों में कोरोना की जांच के लिए ट्रूनैट मशीनें उपलब्ध करायी गयी हैं । सरकार द्वारा कोरोना का निःशुल्क इलाज किया जा रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद गोरखपुर, वाराणसी, आजमगढ़, झांसी, सिद्धार्थनगर तथा गोण्डा के लाभार्थियों से संवाद किया।