BREAKING NEWS

IPL-13: बेंगलोर का टूर्नामेंट में जीत से आगाज, हैदराबाद को 10 रनों से दी शिकस्त ◾ड्रग्स केस में एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण का नाम आया सामने, जया साह की मैनेजर से दीपिका की चैट्स आई सामने◾निलंबन को लेकर सरकार पर बरसा विपक्ष, संसद में रातभर धरना देंगे राज्यसभा से निलंबित सांसद◾कोरोना संक्रमित मां ठीक होकर पहुंची घर तो बेटा - बहु ताला लगाकर हुए गायब, वृद्धा ने 3 दिन गुजारे बाहर ◾सीएम योगी का एलान : नोएडा क्षेत्र को उत्तरी भारत के सबसे बड़े ‘लॉजिस्टिक हब’ के रूप में स्थापित करेंगे ◾गृह मंत्री अमित शाह ने रबी फसलों की एमएसपी में वृद्धि को बताया ‘ऐतिहासिक’◾रबी फसलों के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी से गलतफहमी दूर होनी चाहिए : राजनाथ सिंह◾केंद्र सरकार ने रबी फसलों के एमएसपी में की वृद्धि, किसान जहां चाहें अपने उत्पाद बेच सकेंगे : नरेंद्र तोमर◾राहुल गांधी ने राज्यसभा से विपक्षी सदस्यों के निलंबन को ‘अलोकतांत्रिक’ और ‘एकतरफा' बताया ◾भारतीय नौसेना ने पहली बार हेलीकॉप्टर स्ट्रीम में दो महिला अधिकारियों को किया तैनात◾माइक तोड़ा, रूलबुक फेंकी और राज्यसभा के उपसभापति को धमकी दी गई : वेंकैया नायडू◾इंदौर के अस्पताल में कोरोना मरीज बुजुर्ग के शव को चूहों ने कुतरा, जांच का आदेश◾राहुल का वार- देश की बदहाली के लिए खुद के कुशासन को दोषी नहीं ठहराती मोदी सरकार ◾विधानसभा चुनाव से पहले PM मोदी ने बिहार को दी 14,000 करोड़ की परियोजना की सौगात ◾MSP पर PM मोदी ने एक बार फिर दोहराई अपनी बात, कृषि मंडियों में पहले की तरह होता रहेगा काम◾संवेदनशील जानकारी साझा करने के आरोप में पत्रकार राजीव सहित 3 को 7 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया◾'सर्वज्ञ' सरकार के अहंकार ने ला दिया आर्थिक संकट, लोकतांत्रिक भारत की आवाज दबाना जारी : राहुल गांधी ◾कोविड-19 : देश में पॉजिटिव मामलों की संख्या 55 लाख के करीब, एक्टिव केस 10 लाख के पार ◾चीन से तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना में शामिल हुए राफेल ने लद्दाख में भरी उड़ान ◾राज्यसभा के सभापति की सख्त कार्रवाई, हंगामा करने वाले आठ विपक्षी सदस्य निलंबित◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

उप्र : कांग्रेस ने 10 अनुभवी नेताओं को दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता

लखनऊ : उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने रविवार को अपने दस दिग्गज नेताओं को पार्टी से बाहर जाने का रास्ता दिखा दिया। इससे पहले उन्हें बैठकें आयोजित करने और पार्टी के निर्णयों की आलोचना करने के लिए कारण बताओ नोटिस दिया गया था। 21 नवंबर को नेताओं को भेजे गए नोटिस पर जवाब 24 घंटों के भीतर मांगा गया था, लेकिन नेताओं ने नोटिस का जवाब देने से इनकार कर दिया। इसके बाद अब उन्हें अनुशासन समिति द्वारा पूर्व विधायक अजय राय, श्याम किशोर शुक्ला और इमरान मसूद के हस्ताक्षर वाले निष्कासन नोटिस भेजे गए हैं। 

जिन नेताओं को पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित किया गया है, उनमें पूर्व सांसद संतोष सिंह, हाजी सिराज मेहंदी, पूर्व मंत्री रामकृष्ण द्विवेदी और सत्यदेव त्रिपाठी, राजेंद्र सिंह सोलंकी, भूदर नारायण मिश्रा, हाफिज मोहम्मद उमर, विनोद चौधरी, नेकचंद्र पांडे, स्वयं प्रकाश गोस्वामी और संजीव सिंह शामिल हैं। कदम पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए वरिष्ठ नेता त्रिपाठी ने कहा, 14 नवंबर को हम पूर्व सांसद संतोष सिंह के घर पर गए और पंडित जवाहरलाल नेहरू को श्रद्धांजलि दी। हमने पार्टी के मामलों पर चर्चा की और इसमें कुछ भी गलत नहीं है। 

उन्होंने आगे कहा, पार्टी हाईकमान के साथ चीजों पर चर्चा करना अनुशासनहीनता नहीं है और अगर वर्तमान नेतृत्व ऐसा सोचता है, तो मुझे कुछ नहीं कहना है। पूर्व विधायक हाजी सिराज मेहंदी ने कहा, हम सभी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के सदस्य हैं और राज्य इकाई के पास हमें ऐसा नोटिस भेजने की शक्ति नहीं है। पार्टी में वर्तमान में जिस तरह से सभी वरिष्ठ नेताओं को नई समिति द्वारा दरकिनार किया जा रहा था, उस पर असंतोष व्यक्त करने के लिए वरिष्ठ नेताओं ने हाल ही में बैठकें की थीं।