BREAKING NEWS

Parliament Winter Session : PM मोदी की सभी दलों से अपील, सत्र को सार्थक बनाने की दिशा में करें प्रयास ◾ महाराष्ट्र Vs कर्नाटक : अमित शाह के दखल से सुलझेगा BJP शासित राज्यों का विवाद?◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटो में 166 नए मामले दर्ज, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 4,255 ◾MPC Meeting : RBI ने रेपो रेट में की 0.35% की बढ़ोत्तरी, कार-होम और पर्सनल सभी लोन होंगे महंगे ◾'MCD में भी केजरीवाल, अच्छे होंगे 5 साल' रिजल्ट से पहले AAP दफ्तर में आए नए पोस्टर◾Delhi MCD Elections : दिल्ली में 15 साल राज करने वाली शीला की हुई थी हार, अब भाजपा के साथ भी होगा ऐसा ? ◾संसद के शीतकालीन सत्र का आज से होगा आगाज, कई मुद्दों को लेकर सरकार को निशाना बनाएगा विपक्ष◾AAP को मिलने वाली हैं 180 से ज्यादा सीटें, जीत की ओर इशारा कर रहे हैं एग्जिट पोल : सौरभ भारद्वाज◾MCD रिजल्ट : शुरुआती रुझानों में BJP और AAP में कड़ा मुकाबला, कौन बनेगा दिल्ली का बॉस◾आज का राशिफल (07 दिसंबर 2022)◾Delhi MCD Election Result : एमसीडी में फिर आएगी BJP या AAP करेगी चमत्कार?, 250 वार्डों का परिणाम आज, 42 सेंटर्स पर होगी मतगणना◾MCD चुनाव : एग्जिट पोल में आप की जीत के अनुमान के बाद केजरीवाल ने दिल्लीवासियों को दी बधाई◾Morocco vs Spain (FIFA World Cup 2022) : स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में हराकर मोरक्को पहली बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में◾दिल्ली शराब नीति मामला : 11 दिसंबर को कविता से पूछताछ करेगी CBI◾MP Borewell Incident : एमपी के बैतूल में 8 साल का बच्चा बोरवेल में गिरा, बचाव अभियान जारी◾भारत अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष के जश्न को आगे बढ़ाएगा - PM मोदी◾गुजरात में भी विफल मीम-भीम गठजोड़, सर्वे ने सभी को चौंकाया, भाजपा को सबसे आगे दिखाया ◾Tamil Nadu: सीएम स्टालिन ने कहा- उत्तर भारत के पेरियार हैं अंबेडकर◾UP News: सपा विधायक अतुल प्रधान ने किया सदन की कार्यवाही का फेसबुक पर सीधा प्रसारण, हुई कार्रवाई◾संसद में मचेगा घमासान! विपक्ष की महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी◾

योगी सरकार के खिलाफ उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर उत्तर प्रदेश में संवैधानिक अधिकारों के कथित हनन और लोकतांत्रिक व्यवस्था को छिन्न-भिन्न किए जाने की शिकायत की है। लल्लू ने गत मंगलवार को लिखे पत्र में राष्ट्रपति का ध्यान पिछली 28 दिसंबर को कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस पर पार्टी द्वारा आयोजित कार्यक्रमों को सरकार द्वारा रोके जाने की तरफ दिलाया है।   

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने पत्र में कहा है कि पार्टी के स्थापना दिवस पर लखनऊ के प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से पदयात्रा निकालते हुए हजरतगंज स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने का कार्यक्रम रखा गया था लेकिन स्थानीय पुलिस प्रशासन ने बिना किसी स्पष्ट आदेश के उक्त पदयात्रा को रोक दिया और राष्ट्रपिता की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित नहीं करने दी। 

लल्लू ने कहा कि यह कोई पहली घटना नहीं है जब कांग्रेस के किसी कार्यक्रम को पुलिस ने इस तरह रोका हो। उन्होंने कहा कि किसी भी राष्ट्रीय पार्टी खासकर कांग्रेस को, जिसका इतिहास भारत के इतिहास से सीधा जुड़ा हो, उसे अपना स्थापना दिवस बनाने से अलोकतांत्रिक तरीके से रोकना देश में स्थापित विधिक परंपराओं को रोकने जैसा है। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने खिलाफ लगातार हो रही कार्रवाई की तरफ राष्ट्रपति का ध्यान दिलाते हुए कहा कि पिछले कुछ महीनों से अनलॉक की प्रक्रिया लगातार चल रही है और सरकारी आंकड़ों में भी जनजीवन सामान्य गति से चलने लगा है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को धारा 144 और कथित तौर पर उच्चतम न्यायालय तथा उच्च न्यायालय के आदेशों की आड़ लेकर रोका जाना उनके नागरिक अधिकारों के साथ-साथ एक विधायक होने के नाते उन्हें मिले अधिकारों का भी लगातार हनन है। 

लल्लू ने मई 2018 से लेकर 26 दिसंबर 2020 तक अपनी गिरफ्तारियां का जिक्र करते हुए कहा कि गिरफ्तारी के कारणों के तौर पर जो बातें कही गई हैं उन्हें देखने से स्पष्ट हो जाता है कि पुलिस प्रशासन ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष होने के नाते उनके दायित्वों को पूरा करने में रुकावट डाली है। उन्होंने कहा, ‘‘आदरणीय महामहिम राष्ट्रपति जी जन समस्याओं को सरकार के सामने उठाना गलत आचरण नहीं है। जहां प्रदेश सरकार के पदाधिकारियों के राजनीतिक कार्यक्रम निर्बाध रूप से चल रहे हैं, सिनेमा हॉल खुल गए हैं, होटल और शराबखाने चल रहे हैं, वहीं कांग्रेस के कार्यक्रमों को धारा 144 और महामारी एक्ट का हवाला देकर रोका गया है।’’ 

लल्लू ने राष्ट्रपति से इसका संज्ञान लेने का अनुरोध करते हुए कहा, ‘‘आशा है कि आप मेरी व्यथा पर स्वयं संज्ञान लेंगे और मेरे साथ किए जा रहे दुर्व्यवहार के लिए जिम्मेदार राजनीतिक और प्रशासनिक अधिकारियों को चेतावनी देते हुए संविधान प्रदत्त अधिकारों की रक्षा करेंगे।’’