BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

उत्तर प्रदेश : बीमार है सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी

समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक मुलायम सिंह यादव के गांव मे स्थापित देश की इकलौती सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी मे इस कदर बदहाली का आलम है कि तीमारदार मरीजों के लिये घरो से पंखा लाने को मजबूर है। मरीजो और डाक्टरो को एक दूसरे छोर पर जाने के लिए बनी लिफ्टे भी खराब पडी हुई है। पांच केबीए का ट्रांसफार्मर फुंक जाने के कारण पिछले एक माह से कई महत्वपूर्ण स्थानो पर एसी ना चलने के कारण त्राहि त्राहि मची हुई है। 

नया ट्रांसफार्मर स्थापित करने के लिए करें 50 लाख रुपए की आवश्यकता बताई गई है जिसे यूनिवर्सिटी प्रशासन को देना है लेकिन यूपीआरएनएन के अधिकारियों को यूनिवर्सिटी की ओर से यह रकम नहीं मिल पा रही है। नतीजे के तौर पर संस्थान में अधिकतर स्थानों पर एसी का इस्तेमाल नही किया जा पा रहा है, इस कारण मरीज बेहद परेशान बने हुए हैं।

 

गायनी विभाग में भर्ती मरीजों के तीमारदार अपने घरों से टेबल फैन लगा कर बैठे है तीमारदारों का कहना है कि संस्थान में डाक्टर मरीजों को देख तो रहे हैं लेकिन दवाइयों को देने के बजाय बाहर से लिखने में ज्यादा जोर दे रहे हैं। इसका असल कारण क्या है यह तीमारदारों ओर मरीजो को नहीं पता है लेकिन संस्थान के सूत्र बताते हैं कुलपति ने दवाइयों की आपूर्ति करने वाली कंपनी के भुगतान पर रोक लगा दी है। इस कारण संस्थान में दवाइयों का टोटा बना हुआ है। जब किसी भी मरीज के तीमारदार को डाक्टर दवा की पर्ची लिख कर देता है तो अपने मरीज के हितकर वो मेडिकल स्टोर से दबाइयो को खरीदने के लिए विवश हो जाता है। 

गायनी विभाग में इस समय करीब 60 के आसपास महिला मरीज भर्ती है लेकिन एसी ना चलने के कारण उनके तीमारदार अपने अपने पीड़तों की सुविधा का मद्देनत्रर घरों से पंखा लेकर आये हुए है जिनको बाकायदा चलता हुआ देखा जा सकता है। एससी ना चलने के कारण ओपीडी, एसआईसीयू, पुरानी इमरजेंसी में करीब एक माह से हालात खराब है। एसआईसीयू जहां सीरियस मरीजो को रखा जाता है वहॉ भी स्थिति दयनीय बनी हुई है। 

इन सबको दुरस्त करने का सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में यूपीआरएनएन को टेंडर मिला हुआ है। यूपीआरएनएन की प्रोजेक्ट मैनेजर ए। के.सिंह कहना है कि 5 केबीए के जले हुए ट्रांसफार्मर के स्थान पर नये ट्रांसफार्मर को स्थापित करने के लिए धन की मांग संस्थान से की गई है जब घन मिल जायेगा तब ट्रांसफार्मर की स्थापना कर दी जाएगी।