BREAKING NEWS

इन वजहों के कारण राकेश झुनझुनवाला को कहा जाता है 'बिग बुल', PM मोदी के भी रहे है खास !◾वेंटिलेटर से हटाए गए सलमान रुश्दी, चाक़ू हमले में आयी है हाथ और लीवर पर गहरी चोट◾मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर मराठा आरक्षण समर्थक और पूर्व विधायक विनायक मेटे की दुर्घटना में मौत◾शेयर बाजार के 'बिग बुल' राकेश झुनझुनवाला 62 वर्ष की उम्र में निधन , पीएम मोदी ने जताई संवेदना ◾सावधान ! चीनी मांझे का खतरा बरकरार, कुछ लोगों की जा चुकी है जान, कई लोग घायल◾उद्धव ने CM शिंदे पर साधा निशाना , कहा - शिवसेना कोई खुले में रखी चीज नहीं कि कोई उसे उठा ले जाए◾Independence Day : देशभक्ति के जोश में डूबी दिल्ली, तिरंगे से जगमगाती दिखी प्रतिष्ठित इमारतें◾दिल्ली में शनिवार को सामने आए कोरोना वायरस संक्रमण के 2,031 नए मामले, साथ ही दर्ज हुई नौ और मरीजों की मौत ◾स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित करेंगी राष्ट्रपति मुर्मू◾आज का राशिफल (14 अगस्त 2022)◾‘हर घर तिरंगा’ मुहिम को मिली प्रतिक्रिया से बहुत खुश एवं गौरवान्वित हूं : PM मोदी◾हर घर तिरंगा अभियान : मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय पर फहराया तिरंगा ◾CM योगी ने वीर जवानों की सराहना की , कहा - देश के लिए बलिदान देने की जरूरत पड़ी, तो जवानों ने कभी संकोच नहीं किया◾NGT चीफ और जयराम रमेश ने उपराष्ट्रपति धनखड़ से की मुलाकात ◾विपक्ष के 11 दलों ने ईवीएम, धनबल और मीडिया के ‘दुरुपयोग’ के खिलाफ लड़ने का किया संकल्प◾ पाक : बारूदी सुरंग हमले में एक जवान की मौत, दो घायल◾ केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोलीं- लोगों से अपने घरों पर तिरंगा फहराने का आग्रह करने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं मोदी ◾J-K News: जम्मू कश्मीर में आतंकियों का कहर! श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में CRPF का एक जवान घायल◾जयराम ठाकुर ने कहा- पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग से केंद्र को अवगत कराऊंगा◾ उपराज्यपाल सिन्हा का दावा - आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोकेगी सरकार◾

वाराणसी : EVM को लेकर हुए बवाल के बाद चुनाव आयोग ने ADM के खिलाफ कार्रवाई का दिया आदेश

चुनाव आयोग ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी को वाराणसी के अपर जिलाधिकारी (एडीएम) एन. के. सिंह के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है, जिन पर ईवीएम के परिवहन में नियमों के उल्लंघन पर आरोप लगाया गया है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा कि एडीएम की ओर से चूक यह रही थी कि उन्होंने राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों को मूवमेंट के बारे में सूचित नहीं किया था।

दरअसल चुनाव आयोग ने माना है कि ईवीएम के ट्रांसपोर्टेशन में प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया और नोडल अधिकारी की ओर से लापरवाही कई गई है। इसके बाद चुनाव आयोग ने यह कार्रवाई की है।

हालांकि, आयोग ने यह भी स्पष्ट किया कि इन मशीनों को विशेष रूप से केवल प्रशिक्षण उद्देश्यों के लिए निर्धारित और अलग किया गया था और इनका मतदान ईवीएम से कोई संबंध नहीं है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा कि यह दोहराया जाता है कि तीन स्तरीय सुरक्षित स्ट्रांग रूम से कोई भी मतदान मशीन नहीं निकाली जा सकती है।

पता चला है कि एडीएम को चुनाव ड्यूटी से मुक्त कर दिया गया है और उनकी जगह एडीएम संजय कुमार को पदस्थापित कर दिया गया है।

इससे पहले, समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दावा था किया कि वाराणसी में ईवीएम ले जा रहे एक ट्रक को उनकी पार्टी के कार्यकतार्ओं ने रोका, जो स्ट्रांग रूम पर नजर रख रहे थे, जहां ईवीएम मशीनें स्ट्रांग रूम में रखी गई थीं। उन्होंने सत्तारूढ़ भाजपा पर अपने पक्ष में वोटिंग की कोशिश करने का भी आरोप लगाया।

यूपी सीईओ के कार्यालय ने मंगलवार देर रात जारी बयान में कहा कि किसी राजनीतिक दल के लोगों द्वारा वाहन रोककर और चुनाव में इन ईवीएम का इस्तेमाल करने का आरोप लगाकर अफवाह फैलाई गई है।

अधिकारियों ने यह भी कहा कि वाराणसी जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा भेजी गई रिपोर्ट के अनुसार घटना की जांच के दौरान पाया गया कि इन ईवीएम को नौ मार्च को मतगणना ड्यूटी में शामिल अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए चिह्न्ति किया गया था।