BREAKING NEWS

CAA को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट आज करेगा सुनवाई◾जेपी नड्डा और अमित शाह ने दिल्ली भाजपा की चुनावी तैयारियों का लिया जायजा◾JNU में हिंसा से पहले चार पत्र लिखकर प्रशासन को छात्रों से वार्ता करने को कहा गया था : दिल्ली पुलिस◾यात्रीगण कृपया ध्यान दें, दिल्ली आने वाली 22 ट्रेनें आज 1 से 8 घंटे तक लेट◾आप नेता सुनीता, उमेद और अनवर भाजपा में शामिल◾बैंक धोखाधड़ी : हीरा कारोबारी के 13 ठिकानों पर सीबीआई छापे◾केजरीवाल के नामांकन पत्र दाखिले में चुनाव आयोग ने जानबूझकर विलंब नहीं किया : दिल्ली निर्वाचन कार्यालय◾केजरीवाल के पास कुल 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति, 2015 से 1.3 करोड़ रुपये बढ़त◾दावोस में डोनाल्ड ट्रंप से मिले इमरान , अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- कश्मीर पर करीबी नजर◾टुकड़े-टुकड़े गैंग का अस्तित्व है और वह सरकार चला रहा है : थरूर◾गणतंत्र दिवस : 23 जनवरी को परेड रिहर्सल, दिल्ली पुलिस ने जारी की सूचना, ये मार्ग रहेंगे बंद, यहां से जाना होगा !◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो शुक्रवार को चार दिवसीय यात्रा पर आएंगे भारत◾दिल्ली को सर्दी से मिली फौरी तौर पर राहत, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में अभी भी शीत लहर ◾भारत कठिन दौर से गुजर रहा है, नीचे बनी रहेगी आर्थिक वृद्धि दर : अर्थशास्त्री◾अदालत ने आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी◾अमित शाह की रैली में शरणार्थियों का छलका दर्द◾जम्मू कश्मीर के लोगों से उनकी समस्याओं के बारे में सुनना चाहता है केंद्र : नकवी ◾छह घंटे के इंतजार के बाद केजरीवाल ने नामांकन पत्र किया दाखिल◾TOP 20 NEWS 21 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾बेटियों के खिलाफ FIRदर्ज होने पर मुनव्वर राना बोले- मुझ पर दर्ज करो मुकदमा, मैंने ऐसी बागी बेटियां पैदा की◾

सरकारी डॉक्टर को डांटते हुए अखिलेश यादव का वीडियो हुआ वायरल, BJP ने बताया शर्मनाक

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा एक अस्पताल में कथित तौर पर सरकारी डॉक्टर को फटकार लगाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। बीजेपी ने इसे शर्मनाक बताया। अखिलेश एक बस हादसे में घायल हुए लोगों से मिलने अस्पताल पहुंचे थे। उन्हें वीडियो में सरकारी डॉक्टर से कहते सुना जा रहा है, ''तुम सरकार के आदमी हो, तुम्हें नहीं बोलना चाहिए। तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते।'' 

उन्हें आपात चिकित्सा अधिकारी डी एस मिश्रा से कहते सुना जा सकता है, ''तुम बहुत छोटे अधिकारी हो। बहुत छोटे कर्मचारी हो। आरएसएस के हो सकते हो। बीजेपी के हो सकते हो .... दूर हो जाओ यहां से। एकदम दूर हो जाओ। हट जाओ यहां से। बाहर भागो यहां से।'' इस पर मिश्रा ने कहा, ''वह (अखिलेश यादव) मरीजों का हालचाल ले रहे थे। पूछ रहे थे कि चैक मिला कि नहीं। मैंने सफाई देनी चाही कि साहब चैक मिला है। ये भाग जाते हैं घर। 

इस पर (वह) भड़क गये एकदम से। कहा भाग जाइये ... हम इमरजेंसी डयूटी पर थे और हमसे कहा कि निकल जाइये।’’ उन्होंने कहा कि वह मरीजों का इलाज कर रहे थे। एक मरीज ने कहा कि उसे मुआवजे का चैक नहीं मिला है। मैंने सफाई देने की कोशिश की तो सपा अध्यक्ष ने चले जाने को कहा। उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने इस घटना पर कहा, ''बहुत शर्म की बात है कि उत्तर प्रदेश जैसे राज्य के मुख्यमंत्री के पद पर रह चुके अखिलेश यादव जैसे व्यक्ति ने एक बुजुर्ग आपात चिकित्सा अधिकारी को अकारण बेइज्जत किया।'' 

जय प्रताप सिंह ने कहा, ''ये समझ के परे है कि इतने नीचे स्तर पर अखिलेश जाएंगे और इस तरह की भाषा का उपयोग करेंगे। वह डॉक्टर वहां डयूटी पर थे और घायलों की देखरेख भी कर रहे थे। मरीजों को जो पैसा सरकार की तरफ से मिलना था, वह भी दिलवाया जा रहा था।'' मंत्री ने कहा कि इसके बावजूद भी अखिलेश ने इस तरह की भाषा का प्रयोग करके किसी एक संस्था या किसी एक दल से जोड़ते हुए इस तरह की बात की है जो बहुत ही शर्म की बात है। उन्होंने कहा, ‘‘इतने निचले स्तर पर गिरकर बात करना राजनीति के खिलाफ ही जाता है और इनके खिलाफ भी जाएगा।’’