BREAKING NEWS

हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾शपथ लेते ही BJP पर बरसे नीतीश, कहा-2014 में जीतने वालों को 2024 की करनी चाहिए चिंता ◾60 वर्ष से अधिक उम्र की बहनों और माताओं के लिए बसों में निःशुल्क यात्रा योजना जल्द आएगी : CM योगी ◾ गुजरात भाजपा में फूट के संकेत ! मतभेद की खबर पकड़ रही हैं जोर◾निर्माणाधीन टंकी का लेंटर गिरने से 19 मजदूर मलबे में दबे◾राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- सहयोगियों को धीरे-धीरे खत्म कर रही है भाजपा ◾सुशील मोदी ने राजद को चेताया, कहा - नीतीश कुमार पार्टी तोड़ने की करेंगे कोशिश ◾बिहार में फिर से लौटा तेजस्वी- नीतीश युग, राजभवन में दोनों नेताओं ने ली गोपनीयता की शपथ ◾भारत व चीन की सीमा पर पकड़ा गया मानसिक रूप से अस्वस्थ्य व्यक्ति, सीमा सुरक्षा पर खड़ा होता है सवाल ◾बिहार की सियासी बयार पर प्रशांत किशोर का तंज, कहा-आशा है अब राज्य में राजनीतिक स्थिरता लौटे◾

ताजमहल के कमरों को खुलवाने वाले आप हैं कौन.. PIL का मत बनाइए मजाक! इलाहाबाद HC ने खारिज की याचिका

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने ताजमहल में बंद पड़े 22 कमरों को खोलने वाली याचिका को आज खारिज कर दिया। हाई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पूछा कि फैक्ट फाइंडिंग कमेटी बनाने की मांग का क्या तुक है? उन्होंने कड़ाई से सवाल करते हुए भाजपा युवा मीडिया प्रभारी रजनीश सिंह (याचिकाकर्ता) से पूछा इस कमेटी की सहायता से आप क्या जानना चाहते हैं? कोर्ट के मुताबिक यह याचिका समुचित और न्यायिक मुद्दों पर आधारित नहीं है, इस मामले में जस्टिस डीके उपाध्याय और जस्टिस सुभाष विद्यार्थी की बेंच ने याचिकाकर्ता से पूछा कि आप कौन से जजमेंट दिखा रहे हैं? दरअसल भाजपा नेता ने हाई कोर्ट में सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट पेश किये थे जिसमें अनुच्छेद 19 के तहत बुनियादी अधिकारों और खासकर उपासना, पूजा और धार्मिक मान्यता की आजादी के बारे में बात की गई है। 

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने याचिका को किया खारिज 

इस पर हाई कोर्ट ने कहा कि हम याचिकाकर्ता की दलीलों से सहमत नहीं हैं, यह याचिका न्यायिक मुद्दों पर आधारित नहीं है इस्ल्ये इस याचिका को किया खारिज किया जाता है। बता दें कि इससे पहले इलाहाबाद हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता को फटकार लगते हुए पूछा था कि "क्या आप मानते हैं ताज महल को मुगल बादशाह शाहजहां ने नहीं बनवाया है? क्या हम यहां कोई फैसला सुनाने आए हैं? जैसे कि इसे किसने बनवाया या ताजमहल की उम्र क्या है? कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि आपको किसी मुद्दे पर पूरी जानकारी ना हो तो उस टॉपिक पर रिसर्च कीजिए, जाइए एमए कीजिए, पीएचडी कीजिए, कोर्ट ने कहा कि अगर कोई आपको रिसर्च ना करने दे तो हमारे पास आइए! 

जानें कहां से शुरू हुआ ताजमहल Vs तेजोमहल का विवाद 

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ पीठ के समक्ष भाजपा युवा मीडिया प्रभारी रजनीश सिंह द्वारा याचिका दायर की गई थी, जिसमें भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण को ताजमहल में 22 बंद दरवाजों की जांच के लिए निर्देश देने की मांग की गई थी ताकि पुष्टि की जा सके की ताजमहल में हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमा है या नहीं? ताजमहल एक हिंदू मंदिर (तेजोमहल) है या नहीं? बता दें कि ताज महल मुगल युग का स्मारक है जो भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित है। ताजमहल को मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज के मकबरे रूप में बनवाया था। संगमरमर के स्मारक का निर्माण 1632 में शुरू हुआ और 1653 में पूरा होने में 22 साल लगे।