BREAKING NEWS

भारत, फिलीपीन ने आतंकवाद से लड़ाई में सहयोग जारी रखने की प्रतिबद्धता जतायी ◾एनएससीएन (आईएम) ने मोदी पर जताया भरोसा◾पवार का दावा, इंदापुर सीट पर हर्षवर्धन को मनाने की कोशिश की ◾PM मोदी ने बॉलीवुड कलाकारों और फिल्म निर्माताओं से की मुलाकात◾18 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को होगी वोटिंग◾कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना - UP में 'जगंल राज', तिवारी की हत्या के मामले में हो कार्रवाई◾मोदी लोगों को बताएं, किसने पाकिस्तान को दो भागों में बांटा : कांग्रेस◾हरियाणा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा चुस्त ◾महाराष्ट्र, हरियाणा में फीका रहा कांग्रेस का चुनाव प्रचार ◾कांग्रेस की गलत नीतियों ने देश को कर दिया बर्बाद : PM मोदी◾हरियाणा ,महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव के लिए थमा चुनाव प्रचार, 21 अक्टूबर को होगा मतदान , मतगणना 24 अक्टूबर को◾हरियाणा चुनाव 2019 : गोपाल कांडा के भाई के समर्थन में उतरीं सपना चौधरी, भाजपा नाराज◾सीतारमण बोली- सुस्ती के प्रभाव को कम करने के लिए सम्मलित प्रयास हो ◾TOP 20 NEWS 19 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रेवाड़ी में बोले मोदी- कांग्रेस 1964 में वादा करने के बावजूद अनुच्छेद 370 समाप्त करने में नाकाम रही◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: CM योगी बोले- इस मामले में शामिल आरोपियों को नहीं छोड़ेंगे◾प्रधानमंत्री जनता से बोलें कि कांग्रेस सरकार ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किए : कपिल सिब्बल◾अमित शाह की राहुल को चुनौती, बोले- घोषणा करें कि सत्ता में वापसी के बाद अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को करेंगे लागू◾हरियाणा चुनाव: PM मोदी बोले- कांग्रेस ने अपनी गलत नीतियों से देश को किया बर्बाद ◾प्रियंका का तंज- भाजपा के मंत्रियों का काम अर्थव्यवस्था सुधारना है, 'कॉमेडी सर्कस' चलाना नहीं◾

उत्तर प्रदेश

जानिए आखिर योगी आदित्यनाथ को यूपी में क्यों कहा जाता है 'एनकाउंटर मैन'?

उत्तर प्रदेश की कमान संभालने के एक महीने बाद जब सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह घोषणा की थी, "अगर अपराध करोगे तो ठोक दिए जाएंगे", शायद इसे कुछ लोगों ने गंभीरता से ले लिया है। पिछले तीन दशकों में, राज्य में अपराध और राजनीति अविभाज्य हो गई थी और अपराधियों के नेताओं के साथ संबंध केवल मजबूत हुए। 

जनवरी में योगी आदित्यनाथ ने गर्व से बताया था कि उनके कार्यकाल में तीन हजार के करीब एनकाउंटर हुए हैं, जिनमें 69 अपराधियों को पुलिस ने मार गिराया, मुठभेड़ में 838 घायल हुए और 7,043 को गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा सरकार के दो साल पूरा करने के दौरान 11,981 अपराधियों ने अपनी जमानत रद्द करवाई और कोर्ट के सामने आत्मसमर्पण किया। 

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री की 'ठोको नीति' का विपक्ष ने खूब मजाक बनाया, लेकिन आलोचकों की बात से योगी को कोई असर नहीं हुआ। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी. सिंह ने कहा, "ऊपर से आदेश दिए गए थे कि किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाए। पुलिस बल पर किसी प्रकार का राजनीतिक दबाव नहीं है। संगठित अपराधों में कमी आई है। यहां तक की हत्याओं के मामलों में भी आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया।" 

अयोध्या का समग्र विकास सुनिश्चित किया जाए : योगी आदित्यनाथ

पुलिस सूत्रों के अनुसार, उत्तर प्रदेश में अपराध कम होने का एक अन्य कारण नोटबंदी भी रहा है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "नोटबंदी के बाद नकदी के आदान-प्रदान में कमी देखने को मिली और अंडरवर्ल्ड का पैसा चेक और ड्राफ्ट में नहीं आता है, जिसके बाद से सूबे में अपराध में कमी देखने को मिली।" आला अधिकारियों ने पुलिस के मामले में किसी प्रकार से हस्तक्षेप नहीं करने के कारण योगी सरकार को पूरे नंबर दिए हैं। 

अधिकारी ने कहा, "एक मामले में जाने माने अपराधी को गिरफ्तार किया गया और भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने हमें आरोपी पर लगे आरोपों को कम करने को कहा ताकि उसे जमानत मिल सके। हमने मुख्यमंत्री को सूचित किया और उन्होंने हमें नेता की बात को नजरअंदाज करने को कहा। इसका परिणाम यह है कि अपराधी अभी भी जेल में है और उसकी जमानत दो बार खारिज हो चुकी है।"

हालांकि, मुख्यमंत्री की एनकाउंटर नीति भी प्रश्न खड़े करती है। पिछले साल एक पोर्टल ने एक रिपोर्ट में दावा किया था कि उत्तर प्रदेश के 14 एनकाउंटर पहले से ही योजनाबद्ध तरीके से किए गए।