BREAKING NEWS

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में SP के लिए प्रचार करेंगी ममता बनर्जी◾भाजपा का दामन थाम सकती हैं मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव - सूत्र◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : राजनाथ ने ममता को बंगाल की झांकी न होने की बताई ये वजह !◾पंजाब : कांग्रेस के 4 नेताओं ने मंत्री को पार्टी से निकालने की मांग की, सोनिया गांधी को लिखा पत्र ◾विधानसभा चुनावों में डिजिटल माध्यम से रैलियां करेगी BJP◾केरल : कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पाबंदियों पर बृहस्पतिवार को फैसला लेगी राज्य सरकार ◾कांग्रेस ने PM मोदी पर साधा निशाना - प्रधानमंत्री और भाजपा ने इकलौते दलित मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रतिशोध की कार्रवाई की◾UAE के विदेश मंत्री ने जयशंकर से की बात, आतंकी हमले में भारतीयों की मौत पर दुख जताया ◾ मुंबई : INS रणवीर में हुआ ब्लास्ट, तीन जवानों की मौत, कई घायल ◾यूपी : प्रियंका गांधी ने महिला कार्यकर्ताओं से की अपील, जहां कांग्रेस की महिला प्रत्याशी वहां करें समर्थन ◾ दिल्ली में मिले IED की हर कोण से जांच कर रही है पुलिस, अधिकारी ने दी जानकारी ◾दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 11,684 नए मामले आए सामने, 38 की हुई मौत ◾आजम खान जेल में रहकर लड़ेंगे यूपी विधानसभा चुनाव, रामपुर से सपा के उम्मीदवार घोषित◾पंजाब : ED ने मारा सीएम चन्नी के परिजनों पर छापा, कांग्रेस बोली ईडी है भाजपा का चुनाव विभाग◾BJP ने यूपी चुनाव के लिए उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट की जारी , इन नामों पर लगी मुहर◾बसपा ने भी किया 10 छोटे दलों से गठबंधन का ऐलान, यूपी चुनाव से पहले BSP ने चल दिया बड़ा दांव◾उत्तराखंड: दिल्ली में कल होगी BJP की चुनाव समिति की अहम बैठक, उम्मीदवारों के नाम की सूची पर होगा मंथन ◾देवास-एंट्रिक्स डील को लेकर वित्त मंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- यह धोखाधड़ी का सौदा था◾सुल्ली डील्स और बुली बाई के बाद क्लबहाउस ऐप बना रही महिलाओं को निशाना, DCW ने भेजा पुलिस को नोटिस ◾हिन्दुओं के खिलाफ घृणा फैलाने वालों को प्रोत्साहित करने की स्पर्धा है कांग्रेस, SP में: BJP◾

जीका वायरस के बढ़ते प्रकोप पर लगाम लगाएगी योगी सरकार, तेज करेगी घर-घर जाकर संक्रमण की जांच

जीका वायरस के प्रसार को खत्म करने के लिए निवारक उपायों को बढ़ाते हुए, उत्तर प्रदेश सरकार ने व्यापक निगरानी तेज कर दी है और संचरण के स्तर को कम करने के लिए पूरे राज्य में घर-घर सर्वेक्षण शुरू किया है। जीका को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा लागू किए गए कड़े नियंत्रण तंत्र के तहत, स्वास्थ्य कार्यकर्ता बड़े पैमाने पर स्वच्छता, राज्यव्यापी निगरानी अभियान, लार्वा विरोधी रसायनों के छिड़काव, फॉगिंग और सफाई अभियान कर रहे हैं।

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर वायरल फीवर, वेक्टर जनित बीमारियों और अन्य लक्षणों वाले संक्रमितों की पहचान कर रहे हैं। अधिकारी पोस्टरों की मदद से जीका को रोकने के लिए निवारक उपायों पर जागरूकता पैदा करने के लिए भी काम कर रहे हैं। सरकारी अस्पतालों में जीका वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी निजी अस्पतालों के लिए जीका वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज करना अनिवार्य कर दिया है और जीका और डेंगू के लिए कोई दहशत न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए एकीकृत कमांड सेंटर के माध्यम से बुखार के मामलों की निगरानी की जा रही है।

बता दें कि 22 अक्टूबर को जीका वायरस के राज्य के पहले मामले की पुष्टि के बाद से, उत्तर प्रदेश सरकार ने लखनऊ में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में इसके आगे फैलने के जोखिम को दूर करने के लिए बड़े पैमाने पर नमूनों का सख्त परीक्षण करने को कहा है। कानपुर और कन्नौज जैसे स्थानों में जीका परीक्षण पॉजिटिविटी दर लगातार गिरावट दर्ज कर रही है।

73,000 से अधिक निगरानी समितियां और आशा कार्यकर्ता भी स्क्रीनिंग के लिए घरों का दौरा कर रही हैं। वायरल लक्षण, बुखार और इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई) दिखाने वाले रोगियों का पता लगा रही हैं। इस बीच, राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से गिरावट आई है। रिकवरी दर को उल्लेखनीय 98.8 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए सक्रिय मामले को घटाकर 99 कर दिया गया है।

राज्य के 45 जिलों में ताजा और सक्रिय कोरोना मामले घटकर शून्य हो गए हैं। सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में बीते 24 घंटे में 1,21,074 से अधिक परीक्षण किए हैं, जिनमें से केवल 9 नमूनों का परीक्षण पॉजिटिव रहा है। इस दौरान 8 संक्रमित ठीक भी हुए। अब तक, 16,87,280 से अधिक कोरोना वायरस संक्रमित बीमारी से उबर चुके हैं।