BREAKING NEWS

केजरीवाल सरकार ने सर गंगा राम अस्पताल के खिलाफ दर्ज कराई FIR, नियमों के उल्लंघन का लगाया आरोप◾पूर्वी लद्दाख गतिरोध - मोल्डो में खत्म हुई भारत और चीन सेना के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत◾केजरीवाल सरकार ने दिए निर्देश, कहा- बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों को 24 घंटे के अंदर अस्पताल से दें छुट्टी◾एकता कपूर की मुश्किलें बढ़ी, अश्लीलता फैलाने और राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान के आरोप में FIR दर्ज◾बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अमित शाह कल करेंगे ऑनलाइन वर्चुअल रैली, सभी तैयारियां पूरी हुई ◾केजरीवाल ने दी निजी अस्पतालों को चेतावनी, कहा- राजनितिक पार्टियों के दम पर मरीजों के इलाज से न करें आनाकानी◾ED ऑफिस तक पहुंचा कोरोना, 5 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद 48 घंटो के लिए मुख्यालय सील ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत-चीन सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक जारी◾राहुल गांधी का केंद्र पर वार- लोगों को नकद सहयोग नहीं देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही है सरकार◾वंदे भारत मिशन -3 के तहत अब तक 22000 टिकटों की हो चुकी है बुकिंग◾अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से होगी शुरू,15 दिनों तक जारी रहेगी यात्रा, भक्तों के लिए होगा आरती का लाइव टेलिकास्ट◾World Corona : वैश्विक महामारी से दुनियाभर में हाहाकार, संक्रमितों की संख्या 67 लाख के पार◾CM अमरिंदर सिंह ने केंद्र पर साधा निशाना,कहा- कोरोना संकट के बीच राज्यों को मदद देने में विफल रही है सरकार◾UP में कोरोना संक्रमितों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा दस हजार के करीब ◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 36 हजार के पार, अब तक 6642 लोगों की मौत ◾प्रियंका गांधी ने लॉकडाउन के दौरान यूपी में 44,000 से अधिक प्रवासियों को घर पहुंचने में मदद की ◾वैश्विक महामारी से निपटने में महत्त्वपूर्ण हो सकती है ‘आयुष्मान भारत’ योजना: डब्ल्यूएचओ ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 1330 नए मामले आए सामने , मौत का आंकड़ा 708 पहुंचा ◾हथिनी की मौत पर विवादित बयान देने पर केरल पुलिस ने मेनका गांधी के खिलाफ दर्ज की FIR◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सभी देशवासियों को कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिये जन स्वास्थ्य उपाय के तौर पर स्कार्फ या घर पर बने कपड़े के मास्क से चेहरा ढकने का सुझाव दिया है। हालांकि, उन्होंने खुद मास्क नहीं पहनने का फैसला किया है। अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) का हवाला देते हुए ट्रम्प ने लोगों से स्कार्फ या घर पर बने कपड़े के मास्क से चेहरा ढंकने और मेडिकल उपयोग वाले मास्क स्वास्थ्यकर्मियों के लिए छोड़ने का अनुरोध किया है। 

जन स्वास्थ्य पर सरकार की परामर्श एजेंसी सीडीसी की ओर से ये दिशानिर्देश अमेरिका में एक दिन में 1,100 लोगों की मौत के बाद आये हैं। यह संख्या 24 घंटे में दुनिया के किसी भी देश में कोरोना वायरस से हुई मौतों की तुलना में सबसे अधिक है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक सीडीसी के वरिष्ठ अधिकारियों ने इस हफ्ते व्हाइट हाउस से कहा कि वायरस संक्रमण का लक्षण नहीं दिखने वाले लोगों के बीच संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए और सख्त दिशानिर्देशों की जरूरत है। 

अमेरिका में अबतक 2,78,458 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जबकि 7,100 लोगों की मौत हुई है। न्यूयॉर्क राज्य सबसे अधिक प्रभावित हुआ है, जहां करीब 3,000 लोगों की मौत हुई है। जॉन्स हॉप्किंस विश्वविद्यालय द्वारा जारी अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस से अबतक दुनिया में 11,31,000 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 59,800 लोगों की मौतें हुई है। अब तक स्वास्थ्य एजेंसियों ने कहा था कि केवल बीमार और कोरोना वायरस संक्रमितों का इलाज कर रहे चिकित्सा पेशवरों को ही मास्क पहनने की जरूरत है लेकिन नये अध्ययन में कहा गया है कि लापरवाही की वजह से होने वाले संक्रमण को रोकने के लिए चेहरा का ढंकना महत्वपूर्ण है। 

ट्रम्प ने कहा, ‘‘हालिया अध्ययनों से यह पता चला है कि जिन लोगों में संक्रमण के लक्षण नहीं दिखते हैं, कोरोना वायरस का संक्रमण फैलाने में उनकी बड़ी भूमिका साबित हो रही है। व्हाइट हाउस में पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘सीडीसी ने एहतियाती कदम के तहत सामान्य कपड़े से चेहरे को ढंकने की सलाह दी है। ट्रम्प ने कहा, ‘‘सीडीसी चिकित्सा या सर्जिकल मास्क का इस्तेमाल करने की सिफारिश नहीं कर रही है। इनकी जरूरत अमेरिका वासियों की जान बचाने के लिए काम कर रहे चिकित्साकर्मियों को है। चिकित्सा रक्षा उपकरण अग्रणी मोर्चे पर काम कर रहे स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के लिए रखे होने चाहिए जो महत्वपूर्ण सेवाएं दे रहे हैं।’’ 

सीडीसी ने सिफारिश की है कि अमेरिकी सामान्य कपड़े का मास्क पहन सकते हैं जो या तो ऑनलाइन खरीदा गया हो या घर पर बना हो। हालांकि, ट्रम्प ने कहा कि वह इस दिशा निर्देश का पालन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुद मास्क नहीं पहनना चाहता है। यह बस सिफारिश है।’’ राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘खूबसूरत ‘रूजवेल्ट डेस्क’ के पीछे ओवल कार्यालय में बैठते हुए मुझे लगता है कि राष्ट्रपति, तानाशाह, शासक, महारानी से बात करते हुए मास्क पहनना ठीक नहीं है। मैं इसे अपने लिए नहीं देखता।’’ 

उल्लेखनीय है कि रूजवेल्ट डेस्क अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय की ऐतिहासिक मेज है, जिसे ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया ने 1880 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रूथरफोर्ड बी हेयेस को उपहार में दिया था। संवाददाता सम्मेलन के दौरान ट्रम्प ने स्पष्ट किया कि मास्क को लेकर जारी नया दिशानिर्देश सामाजिक मेल मिलाप से दूरी, यथासंभव घरों में रहने और कम से कम छह फीट की दूरी पर खड़े होने के लिए जारी सीडीसी के पूर्व के दिशानिर्देश का स्थान नहीं लेगा। 

नए आंकड़ों के आधार पर सीडीसी ने कहा कि यह वायरस करीब से बात करते समय, खांसने या छींकने से तेज गति से फैलता है यहां तक कि उन लोगों से भी जिनमें संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं देते। अमेरिका के सर्जन जनरल डॉ जेरोम एडम्स ने स्वीकार किया कि रुख में बदलाव से कुछ अनिश्विता पैदा होगी। उन्होंने कहा कि यह अमेरिकी लोगों के लिए भ्रमित करने वाला है। एडम्स ने बताया कि यह बदलाव इस सूचना के बाद किया गया जिसमें कहा गया था कि बिना लक्षण वाले भी संक्रमण फैला सकते हैं। दिशानिर्देश के बारे में उन्होंने कहा कि इसमें अमेरिकियों को सार्वजनिक स्थलों पर कपड़े का मास्क पहनने की सलाह दी गई जहां पर सामाजिक मेल मिलाप से दूरी कायम करना कठिन है खासतौर पर किराने की दुकानों पर।