BREAKING NEWS

UP के BJP विधायक का विवादित बयान, कहा- ‘राक्षसी’ संस्कृति की है ममता बनर्जी, उनके डीएनए में दोष◾किसानों की परेशानियों को सुनने और समझने की बजाए सरकार उन्हें आतंकवादी कहती है : राहुल गांधी◾लालू प्रसाद की बिगड़ी तबीयत पर बोले मुख्यमंत्री नीतीश- वे जल्द ठीक हों, मेरी शुभकामना उनके साथ◾असम में गरजे अमित शाह- कांग्रेस बताए इतने सालों तक रक्तरंजित क्यों रहा राज्य◾कृषि कानून को लेकर 60वें दिन आंदोलन जारी, 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली की तैयारी में जुटे किसान ◾LAC विवाद : भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक मोल्डो में जारी ◾दिल्ली में आधी रात को लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, छह लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ा◾गणतंत्र दिवस पर 2 बजे के बाद खुलेगी कनॉट प्लेस मार्केट, बंद रहेंगे ये 4 मेट्रो स्टेशन◾उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, शीतलहर से फिर कांपेगी राजधानी दिल्ली ◾राहुल गांधी का तंज- जनता महंगाई से त्रस्त, मोदी सरकार टैक्स वसूली में मस्त◾CM उद्धव ठाकरे की साइन की हुई फाइल से छेड़छाड़, PWD इंजीनियर के खिलाफ जांच के दिए थे आदेश◾BJP सांसद साक्षी महाराज का आरोप-कांग्रेस ने कराई थी नेताजी की हत्या◾देश में कोरोना के 14849 नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 1 करोड़ 65 लाख के पार ◾TOP 5 NEWS 24 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 9.86 करोड़ तक पहुंचा◾ममता बनर्जी के लिये ‘जय श्री राम’ का नारा सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है : अनिल विज◾ सात और राज्य अगले सप्ताह से स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीका लगाएंगे : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾ वायुसेना प्रमुख भदौरिया बोले- भारत पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों पर काम कर रहा है◾आज का राशिफल (24 जनवरी 2021)◾गुजरात में फरवरी में होंगे स्थानीय निकाय चुनाव ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वायरस : राष्ट्रपति ट्रम्प ने दी मास्क पहन कर घर से बाहर निकलने की सलाह, खुद नहीं पहनेंगे मास्क

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सभी देशवासियों को कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिये जन स्वास्थ्य उपाय के तौर पर स्कार्फ या घर पर बने कपड़े के मास्क से चेहरा ढकने का सुझाव दिया है। हालांकि, उन्होंने खुद मास्क नहीं पहनने का फैसला किया है। अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) का हवाला देते हुए ट्रम्प ने लोगों से स्कार्फ या घर पर बने कपड़े के मास्क से चेहरा ढंकने और मेडिकल उपयोग वाले मास्क स्वास्थ्यकर्मियों के लिए छोड़ने का अनुरोध किया है। 

जन स्वास्थ्य पर सरकार की परामर्श एजेंसी सीडीसी की ओर से ये दिशानिर्देश अमेरिका में एक दिन में 1,100 लोगों की मौत के बाद आये हैं। यह संख्या 24 घंटे में दुनिया के किसी भी देश में कोरोना वायरस से हुई मौतों की तुलना में सबसे अधिक है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक सीडीसी के वरिष्ठ अधिकारियों ने इस हफ्ते व्हाइट हाउस से कहा कि वायरस संक्रमण का लक्षण नहीं दिखने वाले लोगों के बीच संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए और सख्त दिशानिर्देशों की जरूरत है। 

अमेरिका में अबतक 2,78,458 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जबकि 7,100 लोगों की मौत हुई है। न्यूयॉर्क राज्य सबसे अधिक प्रभावित हुआ है, जहां करीब 3,000 लोगों की मौत हुई है। जॉन्स हॉप्किंस विश्वविद्यालय द्वारा जारी अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस से अबतक दुनिया में 11,31,000 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 59,800 लोगों की मौतें हुई है। अब तक स्वास्थ्य एजेंसियों ने कहा था कि केवल बीमार और कोरोना वायरस संक्रमितों का इलाज कर रहे चिकित्सा पेशवरों को ही मास्क पहनने की जरूरत है लेकिन नये अध्ययन में कहा गया है कि लापरवाही की वजह से होने वाले संक्रमण को रोकने के लिए चेहरा का ढंकना महत्वपूर्ण है। 

ट्रम्प ने कहा, ‘‘हालिया अध्ययनों से यह पता चला है कि जिन लोगों में संक्रमण के लक्षण नहीं दिखते हैं, कोरोना वायरस का संक्रमण फैलाने में उनकी बड़ी भूमिका साबित हो रही है। व्हाइट हाउस में पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘सीडीसी ने एहतियाती कदम के तहत सामान्य कपड़े से चेहरे को ढंकने की सलाह दी है। ट्रम्प ने कहा, ‘‘सीडीसी चिकित्सा या सर्जिकल मास्क का इस्तेमाल करने की सिफारिश नहीं कर रही है। इनकी जरूरत अमेरिका वासियों की जान बचाने के लिए काम कर रहे चिकित्साकर्मियों को है। चिकित्सा रक्षा उपकरण अग्रणी मोर्चे पर काम कर रहे स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के लिए रखे होने चाहिए जो महत्वपूर्ण सेवाएं दे रहे हैं।’’ 

सीडीसी ने सिफारिश की है कि अमेरिकी सामान्य कपड़े का मास्क पहन सकते हैं जो या तो ऑनलाइन खरीदा गया हो या घर पर बना हो। हालांकि, ट्रम्प ने कहा कि वह इस दिशा निर्देश का पालन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुद मास्क नहीं पहनना चाहता है। यह बस सिफारिश है।’’ राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘खूबसूरत ‘रूजवेल्ट डेस्क’ के पीछे ओवल कार्यालय में बैठते हुए मुझे लगता है कि राष्ट्रपति, तानाशाह, शासक, महारानी से बात करते हुए मास्क पहनना ठीक नहीं है। मैं इसे अपने लिए नहीं देखता।’’ 

उल्लेखनीय है कि रूजवेल्ट डेस्क अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय की ऐतिहासिक मेज है, जिसे ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया ने 1880 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रूथरफोर्ड बी हेयेस को उपहार में दिया था। संवाददाता सम्मेलन के दौरान ट्रम्प ने स्पष्ट किया कि मास्क को लेकर जारी नया दिशानिर्देश सामाजिक मेल मिलाप से दूरी, यथासंभव घरों में रहने और कम से कम छह फीट की दूरी पर खड़े होने के लिए जारी सीडीसी के पूर्व के दिशानिर्देश का स्थान नहीं लेगा। 

नए आंकड़ों के आधार पर सीडीसी ने कहा कि यह वायरस करीब से बात करते समय, खांसने या छींकने से तेज गति से फैलता है यहां तक कि उन लोगों से भी जिनमें संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं देते। अमेरिका के सर्जन जनरल डॉ जेरोम एडम्स ने स्वीकार किया कि रुख में बदलाव से कुछ अनिश्विता पैदा होगी। उन्होंने कहा कि यह अमेरिकी लोगों के लिए भ्रमित करने वाला है। एडम्स ने बताया कि यह बदलाव इस सूचना के बाद किया गया जिसमें कहा गया था कि बिना लक्षण वाले भी संक्रमण फैला सकते हैं। दिशानिर्देश के बारे में उन्होंने कहा कि इसमें अमेरिकियों को सार्वजनिक स्थलों पर कपड़े का मास्क पहनने की सलाह दी गई जहां पर सामाजिक मेल मिलाप से दूरी कायम करना कठिन है खासतौर पर किराने की दुकानों पर।