BREAKING NEWS

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, सेना कैंप में घुस रहे 2 आतंकी ढेर, 3 जवान शहीद◾आज का राशिफल (11 अगस्त 2022)◾हर घर तिरंगा अभियान : शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही औरंगजेब की मां ने अपने घर पर फहराया 'तिरंगा'◾दिल का दौरा पड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव एम्स में भर्ती , वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए◾माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हुए हमलों के मुख्य आरोपी ने अपनी बात कबूली

बांग्लादेश के पीरगंज में हाल ही में हिन्दुओं पर हुए हमलों के मुख्य आरोपी सैकत मंडल ने अपनी बात कबूल ली है। पुलिस ने उसे रविवार को कोर्ट में पेश किया था, जहां उसने कबूल किया कि हिन्दुओं के खिलाफ हिंसा भड़काने के लिए मैंने ही सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली थी। आरोपी का बयान रंगपुर के वरिष्ठ न्यायिक दंडाधिकारी देलवर हुसैन ने दर्ज किया।  कोर्ट ने एक निष्कासित स्थानीय बांग्लादेश छात्र लीग के नेता और उनके सहयोगी और तथा एक मस्जिद के इमाम मोहम्मद रोबिउल इस्लाम (36) को मामले में मुख्य आरोपी के रूप में नामित किया है। इस हमले में हिन्दुओं 70 परिवार प्रभावित हुए हैं।

अफवाह के कारण हुआ हमला 

इस घटना में पुलिस ने कहा है कि रंगपुर के पीरगंज में हमला एक अफवाह के कारण हुआ था। उन्होनें कहा, सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाली गयी थी जिसमें लिखा गया था कि एक हिंदू व्यक्ति ने फेसबुक पर धार्मिक रूप से आपत्तिजनक कंटेंट पोस्ट किया है। पुलिस ने बताया की अधिकांश पीड़ित अभी भी सदमे में हैं साथ ही लोगों में डर बना हुआ है कि अभी और हमले हो सकते हैं। स्थानीय संघ परिषद के अध्यक्ष के अनुसार, इस हमले में 65 हिंदू घरों में आग लगा दी गई थी। यूनियन परिषद के अध्यक्ष मोहम्मद सादिकुल इस्लाम ने बताया कि हमलावर जमात-ए-इस्लामी की स्थानीय इकाइयों और उसकी छात्र शाखा इस्लामी छात्र शिबिर के थे।

अभी भी दहशत में जी रहे है लोग 

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की जांच टीम के निदेशक अशरफुल आलम ने हाल ही में ढाका से इस स्थान का दौरा किया और उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वह पीड़ितों के लिए चिंतित हैं। आलम ने कहा, हिंसा में अपना सब कुछ गंवाने वाले लगभग सभी परिवार दहशत में जी रहे हैं तथा उन्हें इस बात की चिंता है कि वे भविष्य में इस क्षेत्र में व्यापार नहीं कर पाएंगे। एक महिला ने  बताया, भीड़ ने न केवल हमारे घर जला दिए, बल्कि फर्नीचर, गाय, बकरी और नकदी सहित सारा सामान लूट लिया। वही क्षेत्र के उपजिला निर्बाही अधिकारी बिरोदा रानी रॉय ने लोगों से शांत रहने का अनुरोध किया और उन्हें आश्वासन दिया कि कोई समस्या नहीं होगी क्योंकि स्थानीय प्रशासन उनका समर्थन करेगा। उन्होंने कहा, हमले में माझीपारा में 25 परिवारों के कुल 32 घरों में आग लगा दी गई तथा लूटपाट के बाद 59 और घरों में तोड़फोड़ की गई। लगभग 70 प्रभावित परिवारों को सूचीबद्ध किया गया है।

पीड़ितों के घरों के पुनःनिर्माण के लिए की जायगी मदद 

बांग्लादेश में यूएनओ के स्थानीय प्रतिनिधि ने कहा कि उन्होंने आपदा प्रबंधन और राहत मंत्रालय की मदद से प्रभावित परिवारों को तुरंत भोजन और कपड़े मुहैया कराये है। पीड़ितों को बांग्लादेश की संसद के अध्यक्ष शिरीन शर्मिन चौधरी, विद्यानंद फाउंडेशन, अवामी लीग, शेखासेबक लीग, जुबो लीग, छात्र लीग और सामाजिक संगठनों से अपने घरों के पुनर्निर्माण के लिए कुछ नकद सहायता मिली है।