BREAKING NEWS

तुर्की में शक्तिशाली भूकंप में चार लोगों की मौत, कई इमारतें गिरीं◾अनिल बैजल ने दिल्ली में अंतर-राज्यीय बस सेवा फिर से शुरू करने की दी मंजूरी, सभी सीटों पर बैठ सकेंगे यात्री◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾मध्यप्रदेश उपचुनाव : कांग्रेस को बड़ा झटका, चुनाव आयोग ने कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा किया रद्द◾विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई के​ लिए पाक पर कोई 'दबाव नहीं' था : पाकिस्तान ◾पीएम मोदी ने सरदार पटेल प्राणी उद्यान में ‘जंगल सफारी’ का उद्घाटन किया ◾टेक्नोलॉजी में अमेरिका को टक्कर देने के लिए चीन ने बनाया प्लान, चौतरफा विरोध के बीच उठाया बड़ा कदम ◾हंदवाड़ा में चेकिंग के दौरान लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े 2 आतंकी गिरफ्तार, हथियार भी बरामद◾उत्तर प्रदेश : राजनीतिक दुश्मनी के चलते अमेठी में ग्राम प्रधान के पति को जिंदा जलाया◾फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों के खिलाफ जाकिर नाइक ने उगला जहर, कहा-मिलेगी दर्दनाक सजा◾केवडिया : पीएम मोदी ने की न्यूट्री ट्रेन की सवारी, एकता मॉल और बच्चों के पोषक पार्क का किया उद्घाटन◾पीएम मोदी के दो दिवसीय गुजरात दौरे की हुई शुरुआत, पांच लाख पौधे वाले आरोग्य वन का किया लोकार्पण ◾बिहार : दूसरे चरण के चुनाव में आरजेडी,जेडीयू के सामने बड़ी चुनौती, सिवान में कांटे की टक्कर ◾राष्ट्रपति, पीएम सहित कांग्रेस नेताओं ने 'मिलाद-उन-नबी' के मौके पर देशवासियों को दी बधाई◾चीन द्वारा पूर्वी लद्दाख में दोबारा जमीन कब्जाने वाली रिपोर्ट को भारतीय सेना ने फर्जी करार दिया ◾प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर में 'टीआरएफ' द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की निंदा की◾IPL -13 : राजस्थान रॉयल्स की जीत होगी बेहद जरूरी हार के साथ हो सकती है प्लेऑफ की दौड़ से बाहर ◾PM मोदी ने पूर्व CM केशुभाई को दी श्रद्धांजलि, महेश और नरेश कनोडिया के परिजनों से की मुलाकात◾जम्मू और कश्मीर : BJP नेताओं के घर पसरा मातम, नड्डा बोले-व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान◾मुंगेर घटना को संजय राउत ने बताया हिंदुत्व पर हमला, BJP की चुप्पी पर उठाया सवाल ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इजराइल : PM बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग, प्रदर्शनकारियों ने इस्तीफे की मांग की

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ लोगों को गुस्‍सा शांत नहीं हो रहा है। आपको बता दें कि शनिवार को नेतन्‍याहू के आधिकारिक आवास के बाहर प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शनों में हिस्सा लिया। इजराइली सरकार के खिलाफ प्रदर्शन ऐसे वक्‍त में हो रहा है, जब कोरोना महामारी के कारण सरकार की तरफ से दिशा निर्देशों को और सख्‍त कर दिया गया है।

इससे पहले नेतन्‍याहू सरकार के खिलाफ अगस्‍त में एक बड़ी रैली का आयोजन भी किया जा चुका है। सरकार विरोधी प्रदर्शनों की शुरुआत के बाद से यह राजधानी में आयोजित की जाने वाली सबसे बड़ी रैली थी। रिपोर्टों के मुताबिक करीब 10,000 लोगों ने प्रधानमंत्री के निवास पर विरोध प्रदर्शन में भाग लिया।

इजराइल के तटीय शहर कैसरिया में नेतन्याहू के निजी घर के बाहर लोगों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। गुस्साए लोगों ने शहर के प्रमुख राजमार्गों पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने दूसरें शहरों को जोड़ने वाले पुलों और जक्‍शनों तक पर जाम लगा दिया। जिसका परिणाम यह हुआ कि अवागमन का मार्ग पूरी तरह से ठप्प पड़ गया। प्रदर्शन में शामिल कई प्रदर्शनकारी हालांकि शारीरिक दूरी के नियम को नजरंदाज किया गया। प्रदर्शनकारियों से कहा गया था कि वे छोटे-छोटे समूहों में रहें। 

दरअसल इन गुस्साए हुए लोगों की यह मांग है कि नेतन्याहू अपने पद से इस्तीफा दे दें, क्योंकि उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों में सुनवाई चल रही है। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने एक इमारत पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा कि आपका वक़्त अब खत्म हो गया है। इस दौरान कई प्रदर्शनकारियों ने इस्राइली झंडे लहराए और नेतन्याहू को इस्तीफा देने की मांग की।

बुधवार को इजराइल डेमोक्रेसी इंस्टीट्यूट द्वारा प्रकाशित हुए एक सर्वेक्षण के मुताबिक केवल 27 फीसद इजरायलियों ने कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए नेतन्याहू पर भरोसा जताया। कोरोना से निपटने के लिए इजराइल सरकार ने मार्च में पहला लॉकडाउन लगाया और फिर मई में इसे शिथिल कर दिया गया, क्योंकि कोरोना के नए मामले आना बंद हो गए। लेकिन हाल ही में इजराइल में दोबारा से कोरोना वायरस सकंमण का संकट बढ़ गया है और नए मामलों की संख्‍या में काफी वृद्धि हुई है। 

90 लाख की आबादी में लगभग 7 हजार नए मामले सामने आए हैं। पूरी दुनिया जहाँ आर्थिक संकट से गुज़र रही है इसमें इजराइल भी कहीं चूका नहीं है यहाँ भी आर्थिक संकट और बेरोजगारी में इज़ाफ़ा हुआ है।