BREAKING NEWS

काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾शपथ लेते ही BJP पर बरसे नीतीश, कहा-2014 में जीतने वालों को 2024 की करनी चाहिए चिंता ◾60 वर्ष से अधिक उम्र की बहनों और माताओं के लिए बसों में निःशुल्क यात्रा योजना जल्द आएगी : CM योगी ◾ गुजरात भाजपा में फूट के संकेत ! मतभेद की खबर पकड़ रही हैं जोर◾निर्माणाधीन टंकी का लेंटर गिरने से 19 मजदूर मलबे में दबे◾राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- सहयोगियों को धीरे-धीरे खत्म कर रही है भाजपा ◾सुशील मोदी ने राजद को चेताया, कहा - नीतीश कुमार पार्टी तोड़ने की करेंगे कोशिश ◾बिहार में फिर से लौटा तेजस्वी- नीतीश युग, राजभवन में दोनों नेताओं ने ली गोपनीयता की शपथ ◾भारत व चीन की सीमा पर पकड़ा गया मानसिक रूप से अस्वस्थ्य व्यक्ति, सीमा सुरक्षा पर खड़ा होता है सवाल ◾बिहार की सियासी बयार पर प्रशांत किशोर का तंज, कहा-आशा है अब राज्य में राजनीतिक स्थिरता लौटे◾स्वतंत्र देव सिंह के इस्तीफे के बाद केशव प्रसाद मौर्य बन सकते है विधान परिषद के नेता◾

Russia-Ukraine war पर बोले राष्ट्रपति कोविंद, कहा- रूस-यूक्रेन संघर्ष पर भारत की स्थिति दृढ़ व सुसंगत

तीन दिवसीय तुर्कमेनिस्तान के दौरे पर गए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अश्गाबात में कहा कि यूक्रेन में जारी संघर्ष को लेकर अन्य देशों की अपेक्षा भारत का रूख दृढ़ और सुसंगत रहा है। साथ ही जोर दिया कि वर्तमान वैश्विक व्यवस्था अंतरराष्ट्रीय कानून, संयुक्त राष्ट्र चार्टर, क्षेत्रीय अखंडता और राष्ट्रों की संप्रभुता के सम्मान में निहित है। दुनियाभर की अन्य प्रमुख शक्तियों की तरह भारत ने यूक्रेन पर रूसी हमले की निंदा नहीं की है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र के मंचों पर रूसी हमले के निंदा संबंधी प्रस्तावों पर मतदान से दूरी बनायी थी। भारत इस संकट को बातचीत और कूटनीतिक तरीके से हल किए जाने पर जोर देता रहा है।
रूस-यूक्रेन संघर्ष पर भारत की स्थिति दृढ़ व सुसंगत रही
अश्गाबात में शनिवार को 'इंस्टिट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशन' में युवा छात्रों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि भारत यूक्रेन में बिगड़ते मानवीय हालात को लेकर चिंतित है। उन्होंने कहा, ''रूस-यूक्रेन संघर्ष पर भारत की स्थिति दृढ़ व सुसंगत रही है। हम बिगड़ते मानवीय हालात को लेकर बेहद चिंतित हैं। हमने युद्ध एवं हिंसा को तत्काल रोकने के साथ ही बातचीत और कूटनीति के रास्ते पर लौटने का आह्वान किया है। हमने यूक्रेन को मानवीय सहायता भी उपलब्ध करायी है।''
 रूस से रियायती कच्चे तेल की खरीद का भी फैसला किया
बता दें कि रूस भारत का सैन्य हार्डवेयर का प्रमुख आपूर्तिकर्ता रहा है और नई दिल्ली यूक्रेन संघर्ष के कारण कुछ प्रमुख प्लेटफार्मों और उपकरणों की आपूर्ति में संभावित देरी से चिंतित है। भारत ने रूस से रियायती कच्चे तेल की खरीद का भी फैसला किया है, जिससे कई पश्चिमी शक्तियों में चिंता बढ़ गई है। इसे लेकर व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने लगभग दो सप्ताह पहले कहा था कि भारत द्वारा रियायती कच्चे तेल की रूसी पेशकश को स्वीकार करना मास्को पर अमेरिकी प्रतिबंधों का उल्लंघन नहीं होगा, लेकिन उन्होंने भारत को रेखांकित करते हुए जोर देते हुए कहा कि देशों को यह भी सोचना चाहिए कि रूस पर 'आप कहां खड़े होना चाहते हैं।'
गौरतलब है कि रूसी हमलों से बचने के लिए 25 लाख से अधिक लोगों के यूक्रेन से भाग जाने का अनुमान है, जिसे संयुक्त राष्ट्र ने द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से सबसे तेजी से बढ़ते शरणार्थी संकट कहा है।