BREAKING NEWS

यूपी की राह पर शिवराज सरकार - ‘लव जिहाद’ के दोषी को होगी 10 साल की सजा, लाएंगे विधेयक◾यूपी में योगी सरकार ने एस्मा लागू किया, अगले 6 माह तक नहीं होगी हड़ताल ◾लखनऊ विश्वविद्यालय : सामर्थ्य के इस्तेमाल का बेहतर उदाहरण है रायबरेली का रेल कोच फैक्ट्री- PM मोदी◾असंतुष्ट नेताओं से ममता बनर्जी की अपील : पार्टी को गलत मत समझिए, हम गलतियों को सुधारेंगे◾कोरोना के खिलाफ केंद्र ने कसी कमर, 31 दिसंबर तक के लिए जारी की नई गाइडलाइंस, जानें क्या हैं नियम◾लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक में विलय को मिली मंजूरी , सरकार ने निकासी की सीमा भी हटाई ◾ललन पासवान बोले-मुझे लगा लालू जी ने बधाई देने के लिए फोन किया, लेकिन वे सरकार गिराने की बात करने लगे◾पंजाब में एक दिसंबर से नाइट कर्फ्यू, कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर 1000 का जुर्माना◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾निर्वाचित प्रतिनिधियों की अनुशासनहीनता से उन्हें चुनने वाले लोगों की भावनाएं आहत होती हैं : कोविंद◾भारत में बैन हुए 43 मोबाइल ऐप पर ड्रैगन को लगी मिर्ची, व्यापार संबंधों की दी दुहाई ◾भाजपा MP के विवादित बोल - रोहिंग्याओं, पाकिस्तानियों को भगाने के लिए भाजपा करेगी 'सर्जिकल स्ट्राइक'◾विपक्ष के जबरदस्त हंगामे के बीच NDA के विजय सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर◾सुशील मोदी का दावा-लालू ने BJP MLA को दिया मंत्री पद का लालच, ट्विटर पर जारी किया ऑडियो◾UN में 'झूठ का डोजियर' पेश करने के लिए भारत ने पाक को लगाई फटकार, कहा- यह उसकी पुरानी आदत ◾लव जिहाद के खिलाफ UP सरकार के फैसले का अनिल विज ने किया स्वागत, बोले-योगी जिंदाबाद◾विश्व के 191 देशों में कोरोना का कहर तेज, अब तक 14 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾सोनिया और राजीव के विश्वासपात्र रहे अहमद पटेल थे कांग्रेस के असली संकटमोचक◾Weather update : जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी से उत्तर भारत में बढ़ी ठंड ◾देश में कोरोना एक्टिव केस में बढ़ोतरी, संक्रमितों का आंकड़ा 92 लाख के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

नहीं थम रही अज़रबैजान और अर्मेनिआ की जंग, अब टर्की को फ्रांस ने दिया जवाब

आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच नागोर्नो-काराबाख इलाके को लेकर भीषण जंग जारी है। रविवार से शुरू हुई इस झड़प में 100 से ज्‍यादा लोग मारे गए हैं और बताया जा रहा है कि यह हाल के दिनों में सबसे खूनी जंग में बदल गई है। इस बीच अजरबैजान के समर्थन में तुर्की की ओर से भेजे गए सीरियाई आतंकी भी जंग में उतर गए हैं। उधर, तुर्की की धमकी के बाद अब फ्रांस भी आर्मीनिया के साथ आ गया है।

आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए रूस ने लड़ाई को खत्‍म करने के लिए बातचीत आयोजित करने का ऑफर दिया है। रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लवरोव ने दोनों ही देशों की सरकारों को यह ऑफर दिया। उधर, इस लड़ाई के खात्‍मे के लिए रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रान से बात की है। दोनों ने नेताओं ने सीजफायर का आह्वान किया है।

बता दें कि रूस का आर्मीनिया के साथ सैन्‍य गठजोड़ है लेकिन उसका अजरबैजान के साथ भी करीबी संबंध है। बुधवार को अजरबैजान के राष्‍ट्रपति ने प्रण किया कि आर्मीनियाई सुरक्षा बलों के इलाके के छोड़ने तक यह लड़ाई जारी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि हमारी एकमात्र यह शर्त है कि आर्मीनिया के सुरक्षा बल पूरी तरह से और बिना शर्त हमारे इलाके को छोड़ दें।

वहीं, अजरबैजान की सेना ने बुधवार को ऐलान किया है कि उसने आर्मीनिया का एक S-300 मिसाइल सिस्टम नागोर्नो-काराबाख में उड़ा दिया। उसने यह भी दावा किया कि करीब 2,700 सैनिक अब तक इस जंग में या तो घायल हो गए हैं या जान गंवा चुके हैं। उसने यह भी दावा किया कि आर्मीनिया की सेना तोनशेन गांव के आसपास के इलाके से भाग खड़ी हुई है। उधर, आर्मीनिया ने दावा किया है कि अजरबैजान आम नागरिकों पर बम बरसा रहा है।