BREAKING NEWS

ममता का पलट वार ,कहा 'प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अमित शाह ‘‘सबसे बड़े लुटेरे’◾दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने निशुल्क डायलिसिस अस्पताल की शुरुआत की ◾तेलंगाना सरकार ने महिला सरकारी कर्मचारियों के लिए किया यह खास ऐलान◾ममता का PM पर वार, कहा-मतदाताओं को गुमराह करने के लिए झूठ का सहारा ले रहे हैं मोदी◾कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में ममता पर बरसे PM मोदी, 'लोकसभा में हाफ, इस बार होगी साफ' का दिया नारा◾रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ ममता ने किया पैदल मार्च, सैंकड़ों महिलाओं ने लिया हिस्सा ◾देश के 6 राज्यों में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, केरल और महाराष्ट्र में स्थिति बहुत खतरनाक : सरकार◾BCCI ने किया IPL की डेट शीट का ऐलान, 9 अप्रैल को विराट और रोहित की टक्कर से होगा आगाज ◾कन्याकुमारी में BJP का डोर-टू-डोर कैंपेन लॉन्च, गृह मंत्री अमित शाह ने दिखाया विक्ट्री साइन◾कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन जारी, दिल्ली की सीमा पर हरियाणा के किसान ने की आत्महत्या ◾PM मोदी की रैली के मंच पर भाजपा में शामिल हुए मिथुन चक्रवर्ती, लहराया पार्टी का झंडा ◾किसान आंदोलन 102 दिन :11 दौर की वार्ता में नहीं निकला कोई हल, सरकार मानने को तैयार नहीं ◾जन औषधि दिवस पर PM की अपील 'मोदी की दुकान' से खरीदें सस्ती दवाइयां ◾भाजपा नेता शुभेंदू अधिकारी बोले- नंदीग्राम सीट से ममता बनर्जी को भारी मतों से हराउंगा◾दुनिया में कोरोना महामारी के मामले 11.64 करोड़ के पार, 25.8 लाख लोगों की मौत◾Today's Corona Update : देश में कोरोना के 18,711 नए मामले, 100 और मरीजों की मौत◾अमित शाह आज तमिलनाडु और केरल के दौरे पर, 'विजय यात्रा’ को करेंगे संबोधित◾TOP- 5 NEWS 07 MARCH : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली में लगातार दूसरे दिन 300 से अधिक कोरोना वायरस के मामलों की हुई पुष्टि◾पीएम मोदी आज कोलकाता में चुनावी अभियान का बिगुल फूकेंगे,भाजपा ने भारी भीड़ जुटाने की बनाई योजना◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

‘तख्तापलट की साजिश’ के आरोप में सऊदी अरब के तीन राजकुमारों को हिरासत में लिया गया

सऊदी अरब में शाही परिवार के तीन सदस्यों को हिरासत में लिया गया हैं। तीनो पर सत्ता के लिए साज़िश रचने के आरोप लगाए जा रहे हैं।गौरतलब हैं की इन आरोपों के पीछे  सदस्यों द्वारा की गई तख्तापलट की साजिश है। इसके साथ ही देश के शक्तिशाली राजकुमार (क्राउन प्रिंस) ने सत्ता पर अपनी पकड़ मजबूत बनाये रखने के संकेत दिये है।

 अमेरिकी अख़बार ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ ने अज्ञात सूत्रों के हवाले से बताया कि शाही गार्ड ने शाह सलमान के भाई राजकुमार अहमद बिन अब्दुल अजीज अल-सउद और भतीजे राजकुमार मोहम्मद बिन नयेफ को शुक्रवार सुबह उनके घर से हिरासत में ले लिया। उन पर राजद्रोह के आरोप लगे हैं। साथ ही इस समाचार पत्र में यह भी बताया गया है कि सऊदी अरब की अदालत ने कभी सत्ता के संभावित दावेदार रहे दो लोगों पर ‘‘शाह तथा क्राउन प्रिंस को हटाने के लिए तख्तापलट करने की साजिश’’ रचने का आरोप लगाया तथा उन्हें ताउम्र कैद या मौत की सजा सुनाई जा सकती है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस के नए चीफ ऑफ स्टॉफ की घोषणा की

न्यूयॉर्क टाइम्स ने भी हिरासत में लिए जाने की खबर देते हुए बताया कि राजकुमार नयेफ के छोटे भाई राजकुमार नवाफ बिन नयेफ को भी हिरासत में लिया गया है। सऊदी अरब के अधिकारियों ने तत्काल इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है।इससे पहले क्राउन प्रिंस मोहम्मन बिन सलमान ने सत्ता पर अपनी पकड़ मजबूत करते हुए प्रतिष्ठित मौलवियों और कार्यकर्ताओं के साथ-साथ राजकुमारों और कारोबारियों को जेल में डाला था। 

शाह के बेटे प्रिंस मोहम्मद ने इस्तांबुल दूतावास में अक्टूबर 2018 में आलोचक जमाल खशोगी की हत्या को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आलोचना का भी सामना किया। मुल्क के रक्षा से लेकर अर्थव्यवस्था तक सभी बड़े मामलों को देखने वाले वास्तविक नेता के तौर पर देखे जा रहे क्राउन प्रिंस अपने 84 वर्षीय पिता शाह सलमान से औपचारिक रूप से सत्ता के हस्तांतरण से पहले आंतरिक असंतोष को खत्म करने की राह पर दिख रहे हैं। 

अमेरिका स्थित आरएएनडी कोरपोरेशन में नीति विश्लेषक बेका वासेर ने कहा, ‘‘ प्रिंस मोहम्मद ने पहले ही अपनी राह में आने वाले खतरों को हटा दिया है और अपनी सत्ता के आलोचकों को जेल भेज दिया या उनकी हत्या करा दी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह सत्ता पर अपनी पकड़ मजबूत बनाने की ओर एक कदम है और साथ ही शाही परिवार के सदस्यों समेत किसी के लिए भी संदेश है कि उनको हटाने की हिम्मत न करें।’’ 

राजकुमार अहमद, खशोगी की हत्या के बाद लंदन से सऊदी अरब लौटे थे जिसे कुछ लोगों ने राजतंत्र के लिए समर्थन जुटाने के प्रयास के तौर पर देखा। जून 2017 में क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पूर्व क्राउन प्रिंस नयेफ को दरकिनार करते हुए अरब देश की सत्ता पर कब्जा जमाया था। उस समय खाड़ी देश के टेलीविजन चैनलों ने प्रिंस मोहम्मद को पूर्व प्रिंस का हाथ चूमते हुए और उनके सम्मान में घुटनों के बल बैठते हुए दिखाया था। 

बाद में पश्चिमी मीडिया में आई खबरों में कहा गया कि अपदस्थ प्रिंस को घर में नजरबंद कर दिया गया है। हालांकि सऊदी अरब के अधिकारियों ने इस दावे का खंडन किया था। हिरासत में लेने की यह कार्रवाई ऐसे समय में की गई है जब सऊदी अरब ने कोरोना वायरस के डर से मुस्लिम जायरीनों को इस्लाम के पवित्र स्थल की यात्रा करने से रोक दिया है। 

सऊदी अरब ने मक्का और मदीना में इस बीमारी के फैलने के डर से ‘उमरा’ स्थगित कर दिया है जिससे आगामी हज यात्रा पर भी अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं। तेल संपन्न सऊदी अरब कच्चे तेल की गिरती कीमतों से भी जूझ रहा है जो उसके राजस्व का मुख्य स्रोत है।