BREAKING NEWS

ज्ञानवापी शिवलिंग विवाद : DU प्रोफेसर की गिरफ्तारी को लेकर छात्रों का हंगामा◾NSE Co-Location Case : मुंबई-दिल्ली समेत 10 ठिकानों पर CBI का एक्शन◾नफरत की राजनीति कर रही है BJP, राहुल गांधी के बयान को AAP का समर्थन◾नवनीत राणा को BMC का नोटिस, 7 दिन में जवाब नहीं दिया तो होगी कार्रवाई◾शर्मनाक! JNU कैंपस में MCA की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तार◾उत्तराखंड : सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे बंद, फंसे 3 हजार यात्री, सख्त हुए पंजीकरण के नियम ◾MP : मुस्लिम समझकर बुजुर्ग की पीट-पीटकर हत्या, Video जारी कर जीतू पटवारी ने गृहमंत्री से पूछा सवाल◾India Covid Update : पिछले 24 घंटे में आए 2,323 नए केस, 25 मरीजों की हुई मौत ◾रूस ने मारियुपोल पर पूरी तरह से कब्जे का किया दावा, मलबे के ढेर में तब्दील हो चुका है पूरा शहर ◾यूरोप में Monkeypox का कहर, जानें क्या है ये बला, और कैसे फैलता है संक्रमण◾कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में राहुल ने BJP पर जमकर बोला हमला, कहा-भारत में आज अच्छे हालात नहीं◾दिल्ली पुलिस ने DU प्रोफेसर रतन लाल को किया गिरफ्तार, शिवलिंग पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी ◾पिता की पुण्यतिथि पर भावुक हुए राहुल, बोले-मुझे उनकी बहुत याद आती है◾कोविड-19 : विश्व में कोरोना के मामले 52.66 करोड़ के पार, 11 बिलियन से अधिक का हुआ टीकाकरण ◾छह दिन में दूसरी बार बढ़े CNG के दाम, जानिए राजधानी सहित कई शहरों के रेट ◾ शीना बोरा मर्डर केस में इंद्राणी मुखर्जी हुई जेल से रिहा, जानें कैसे और क्यों कराई थी अपनी ही बेटी की हत्या ?◾गुजरात में चुनाव जीतने के लिए नरेश पटेल को उतार सकती है कांग्रेस, सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद होगा एलान ◾कांग्रेस का मोदी सरकार पर तीखा वार, कहा- चीन मसले पर देश को अंधेरे में न रखे केंद्र◾Maharashtra News: राज ठाकरे का ऐलान- नहीं करेंगे 5 जून को अयोध्या का दौरा, जानें- इसके पीछे की वजह◾ RR vs CSK: MS Dhoni ने टॉस जीतकर चुनी बल्लेबाजी, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंगXI◾

पाकिस्तानी जेल में कैद 20 भारतीय मछुआरों को रिहा किया

पाकिस्तानी जलक्षेत्र में कथित तौर पर अवैध रूप से मछली पकड़ने के मामले में चार साल की सजा पूरी करने के बाद 20 भारतीय मछुआरों को रविवार को पाकिस्तान के लांधी जिला जेल से रिहा कर दिया गया। रिहा किए गए मछुआरों को भारतीय अधिकारियों को सौंपने के लिए सोमवार को उन्हें वाघा सीमा पर लाया जाएगा। जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

लांधी जेल के अधीक्षक इरशाद शाह ने कहा कि भारतीय अधिकारियों द्वारा मछुआरों की राष्ट्रीयता की पुष्टि करने के बाद सद्भावना के तौर पर उन्हें रिहा कर दिया गया। रिहा किए गए अधिकतर मछुआरे गुजरात के हैं। इरशाद शाह ने कहा, “इन मछुआरों ने चार साल जेल में गुजारे थे और हमारी सरकार द्वारा सद्भावना के तौर पर आज उन्हें रिहा कर दिया गया है।”

गैर-लाभकारी सामाजिक कल्याण संगठन एधी ट्रस्ट फाउंडेशन ने मछुआरों को लाहौर में वाघा सीमा तक ले जाने की व्यवस्था की, जहां से उन्हें सोमवार को भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया जाएगा। इरशाद शाह ने कहा, “हमने रिहा किए गए मछुआरों को एधी फाउंडेशन को सौंप दिया है जोकि उनकी सभी यात्रा और अन्य खर्चों का ख्याल रख रहा है। वे अल्लामा इकबाल एक्सप्रेस ट्रेन से लाहौर जाएंगे।” अधिकारी ने कहा कि अब भी 588 भारतीय नागरिक लांधी जेल में बंद हैं, जिनमें से अधिकांश मछुआरे हैं।