BREAKING NEWS

जलवायु परिवर्तन पर ‘बेसिक’ देशों को एक सुर में आवाज उठानी होगी : जावड़ेकर ◾BJP सरकार का रवैया नकारात्मक, अमेठी-मैनपुरी में सैनिक स्कूल की स्थापना समाजवादी सरकार में हुई : अखिलेश◾MP : मुख्यमंत्री कमलनाथ उज्जैन मंदिर को दे सकते हैं 300 करोड़ की सौगात ◾TOP 20 NEWS 17 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ AIIMS अस्पताल में लगी भीषण आग, अभी तक कोई हताहत नहीं◾जेटली जीवन रक्षक प्रणाली पर : नीतीश, पीयूष गोयल समेत अन्य नेता हाल जानने एम्स पहुंचे ◾PM मोदी : भूटान का पड़ोसी होना सौभाग्य कि बात, भूटान कि पंचवर्षीय योजनाओं में करेंगे सहयोग◾पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद◾प्रियंका गांधी बोलीं- देश में 'भयंकर मंदी' लेकिन सरकार के लोग खामोश◾ मायावती का ट्वीट- देश में आर्थिक मंदी का खतरा, इसे गंभीरता से लें केंद्र◾AAP के पूर्व विधायक कपिल मिश्रा भाजपा में शामिल◾चिदंबरम बोले- मीर को नजरबंद करना गैरकानूनी, नागरिकों की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें अदालतें◾राजनाथ के आवास पर ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक शुरू, शाह समेत कई मंत्री मौजूद◾भूटान पहुंचे मोदी का PM लोटे ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत, दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर◾शरद पवार बोले- पता नहीं राणे का कांग्रेस में शामिल होने का फैसला गलत था या बड़ी भूल◾उत्तर कोरिया ने किया नए हथियार का परीक्षण, किम ने जताया संतोष◾12 दिन बाद आज से घाटी में फोन और जम्मू समेत कई इलाकों में 2G इंटरनेट सेवा बहाल◾राम माधव बोले- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को मिलेगा देश के कानूनों के अनुसार लाभ◾वित्त मंत्रालय के अधिकारियों संग PMO की बैठक आज, इन मुद्दों पर होगी चर्चा◾कोविंद, शाह और योगी जेटली को देखने AIIMS पहुंचे, जेटली की हालत नाजुक : सूत्र ◾

विदेश

म्यांमार में भूस्खलन की चपेट में आने से 33 की मौत

म्यांमार के एक शहर में भूस्खलन से कई घरों के ध्वस्त हो जाने से कम से कम 33 लोगों की मौत हो गई है। अधिकारियों ने शनिवार को इस आपदा की जानकारी दी। सूत्रों के अनुसार, यह घटना शुक्रवार को मोन राज्य के पाउंग शहर में घटित हुई। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, क्षेत्र में कई दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन के चलते देश भर में 38 हजार से ज्यादा लोग अपने घरों को छोड़ने पर मजबूर हैं।

अग्निशमन विभाग ने भूस्खलन में मारे गए लोगों की संख्या के बारे में जानकारी दी। क्षेत्र में आई भारी बाढ़ के कारण यह घटना घटी है। पीड़ितों की संख्या बढ़ने की संभावना व्यक्त की गई है। राहत और बचाव कार्य जारी है। एक 70 वर्षीय पीड़ित महिला ने एफे न्यूज को फोन पर बताया कि इस 'भयानक' प्राकृतिक आपदा में उन्होंने अपने 13 रिश्तेदारों को खो दिया है।

कश्मीर से निषेधाज्ञा हटायें और सभी नेताओं को रिहा करें : NC

महिला ने आगे कहा, 'मैंने अपनी जिंदगी में पहली बार ऐसी आपदा देखी है।' एक अन्य पीड़ित को चान अए ने अपने परिवार के 14 लोगों को इस भयानक त्रासदी में खो दिया। वह इसलिए बच गए, क्योंकि भूस्खलन के दौरान वह खरीदारी करने दूसरे क्षेत्र में गए थे। 

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि वहां 100 से अधिक लोग दफन हो सकते हैं। उनमें से अधिकतर लोग बचे होंगे, इसकी मुझे कोई उम्मीद नहीं है।' सैकड़ों की संख्या में नजदीकी गांव के लोग बाहर की दुनिया से कट गए हैं, और वे मदद का इंतजार कर रहे हैं। ऊपर से आए मलबे ने रास्तों को बंद कर दिया है।