BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर : खराब मौसम के कारण स्थगित अमरनाथ यात्रा शुरु ◾CM केजरीवाल ने किया 'दिल्ली शॉपिंग फेस्टिवल' का ऐलान, मिलेगा भारी डिस्काउंट◾2030 तक दिल्ली में होगा 'E-Vehicles' का दबदबा... जानें क्या है नई पॉलिसी? यह होंगे बड़े बदलाव ◾आम आदमी पार्टी की ईमानदारी ने विरोधियों की नींद उड़ा दी : मुख्यमंत्री केजरीवाल◾'काली' के पोस्टर पर छिड़ा विवाद... मोइत्रा ने अनफॉलो किया TMC का अकाउंट, पार्टी ने बनाई दूरी! ◾Himachal Pradesh :कुल्लू में बादल फटने से आया सैलाब , 4 लोग लापता ◾CM शिंदे ने उद्धव ठाकरे पर ली चुटकी, कहा-ऑटोरिक्शा ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दिया◾अयोध्या के संत ने फिल्म 'काली' का पोस्टर साझा करने के बाद फिल्म निर्माता लीना को धमकी की जारी◾CORONA UPDATE : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 16 हज़ार से ज़्यादा मामले सामने आए, 28 मरीजों ने गंवाई जान ◾अजमेर दरगाह का खादिम गिरफ्तार, नुपुर शर्मा की गर्दन काटने वाले को अपना घर देने का किया था ऐलान◾कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान दो आतंकवादियों ने आत्मसमर्पण किया◾LPG Price Hike : आम आदमी को महंगाई का बड़ा झटका, 50 रुपए महंगा हुआ घरेलू LPG सिलेंडर ◾आज का राशिफल (06 जुलाई 2022)◾Jharkhand : उच्च न्यायालय ने मानहानि मामले में राहुल गांधी की याचिका खारिज करते हुए कहा ..... ◾NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू 06 जुलाई को असम में राजग सांसदों, विधायकों से मिलेंगी◾Eng vs Ind 5th Test Match : इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट में भारत पर धीमी ओवरगति के लिये जुर्माना◾मैने भाजपा नेतृत्व को एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र सीएम बनाने का प्रस्ताव दिया था : फडणवीस◾फ्रांसीसी रक्षा कंपनी सैफरान ग्रुप हैदराबाद, बेंगलुरु में लगाएगा संयंत्र ◾ Spice Jet flight News: स्पाइस जेट विमान के विंडशील्ड में आई दरार, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटना ◾Maharashtra: उद्धव का छलका दर्द! बोले- सियासी राजनीति से हुआ दुखी, अपनों ने छोड़ा साथ, जल्द करूंगा वापसी◾

Earthquake : विनाशकारी भूकंप से तबाह हुआ अफगानिस्तान, तालिबान ने अंतर्राष्ट्रीय मदद की लगाई गुहार

अफगानिस्तान में आए विनाशकारी भूकंप ने भारी तबाही मचाई। 6.1 तीव्र गति से आए भूकंप में कम से कम 1,000 लोगों की मौत हो गई। वहीं 1500 लोगों के घायल होने की जानकारी है। भूकंप से हुई भारी जनहानि और बड़े स्तर पर मची तबाही के बाद अफगान की तालिबान सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय मदद की गुहार लगाई है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान के वरिष्ठ अधिकारी अब्दुल कहर बाल्खी ने एक बयान में कहा कि शासन जरूरत के हिसाब से लोगों की आर्थिक रूप से मदद करने में असमर्थ है, क्योंकि अफगानिस्तान मानवीय और आर्थिक संकट से जूझ रहा है। भूकंप का केंद्र खोस्त शहर से 44 किमी दूर था, लेकिन झटके पाकिस्तान और भारत तक महसूस किए गए थे।

अफगानिस्तान में भूकंप से लोगों की मौत पर UN चीफ ने जताया दुख

सहायता एजेंसियों, पड़ोसी देशों और विश्व शक्तियों द्वारा मदद मिलने के बावजूद बाल्खी ने कहा कि सहायता को काफी हद तक बढ़ाने की जरूरत है, क्योंकि यह एक विनाशकारी भूकंप है, जिसे दशकों में अनुभव नहीं किया गया। इस बीच, तालिबान के सर्वोच्च नेता हिबतुल्लाह अखुंदजादा ने दावा किया कि सैकड़ों घर नष्ट हो गए और मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ सकती है, क्योंकि बचाव दल और आपातकालीन कर्मचारी अभी भी मलबे में दबे लोगों की तलाश कर रहे हैं।

प्रभावित क्षेत्रों के स्थानीय लोगों के अनुसार, भूकंप के बाद तालिबान द्वारा ढीला रवैया अपनाया गया। घटना के लगभग आठ घंटे बाद तालिबान कैबिनेट के सदस्यों ने चिकित्सा निकासी की सुविधा के लिए पांच हेलीकॉप्टरों को भेजा। सरकार ने घोषणा की है कि वह पीड़ितों के परिवारों के लिए 100,000 और घायलों को 50,000 का भुगतान करेगी।