BREAKING NEWS

बजट 1 फरवरी को हो सकता है पेश : सूत्र ◾BJP की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग से की राहुल गांधी की शिकायत ◾दिल्ली में अभी चुनाव हुए तो भाजपा को मिलेंगी 42 सीटें◾अवसाद में निर्भया कांड के दोषी, खाना-पीना कम किया : तिहाड़ जेल के सूत्र◾योगी ने राम मंदिर के लिए हर परिवार से 11 रुपये, पत्थर मांगे ◾सर्जिकल स्ट्राइक की इजाजत देने से पहले पर्रिकर ने कहीं थीं दो बातें : दुआ◾‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी को लेकर भाजपा . कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर ◾महिलाओं की सुरक्षा को लेकर केजरीवाल बोले - हरसंभव कार्य कर रहा हूँ◾उत्तराखंड में भूकंप के हल्के झटके महसूस किये गये◾केवल भाजपा दे सकती है स्थिर और विकास उन्मुख सरकार : मनोज तिवारी◾अर्थव्यवस्था को गति देने के जब भी जरूरत होगी, कदम उठाये जाएंगे : वित्त मंत्री◾अमित शाह, निर्मला सीतारमण अगले सप्ताह भारत आर्थिक सम्मेलन में अपने विचार रखेंगे◾भाजपा की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग से राहूल गांधी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की ◾CAB-NRC कभी नहीं लागू करूंगी : ममता◾‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी पर राहुल का माफी से इनकार, मोदी का वीडियो ट्वीट कर किया पलटवार◾पाकिस्तानी सेना ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी में की गोलीबारी, दो जवान घायल◾मालदीव की अवामी-मजलिस के स्पीकर मोहम्मद नशीद ने PM मोदी से की मुलाकात◾यूएई से आए विमान में बम रखे होने की कॉल, दिल्ली पुलिस ने मांगी फोन करने वाले की जानकारी ◾पूर्वोत्तर में हिंसक प्रदर्शन के कारण जापान के प्रधानमंत्री का भारत दौरा रद्द ◾TOP 20 NEWS 13 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

विदेश

चीन के बाद अब इस देश ने भी WhatsApp किया बंद

 whatsapp-group

चीन में व्हाट्सऐप के बंद होने के बाद अब अफगानिस्तान सरकार व्हाट्सऐप को बंद करने का प्लान बना रही है । आपको बता दे कि देश में एक बड़ा वर्ग इसे 'अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता' पर हमला मान रहा है। सरकार द्वारा संचालित दूरसंचार कंपनी सलाम टेलीकॉम ने शुक्रवार से अपने नेटवर्क पर ये सेवाएं बंद कर दीं। लेकिन निजी टेलीकॉम ऑपरेटरों ने अपनी सेवाएं जारी रखी हैं।

देश के दूरसंचार नियामक प्राधिकरण के उप निदेशक के अनुसार अफगान सरकार ने यह कदम सुरक्षा कारणों की वजह से उठाया है। उन्होंने कहा कि सरकार की नजर से बचने के लिए आतंकी टेलीग्राम और व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय ने इन एप्स पर 20 दिन के प्रतिबंध का निवेदन किया था। सरकार ने कहा कि इस कदम से किसी की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कोई खतरा नहीं है।

आपको बता दे कि हाल में हुए इंटरव्यू में अफगानिस्तान के सरकारी अधिकारी की तरफ से कहा गया है कि सरकार ने यह कदम सुरक्षा कारणों की वजह से उठाया है। संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि यह बैन व्हाट्सएप की बेकार सर्विस क्वालिटी के कारण किया गया है। वैसे अफगानिस्तान सरकार की तरफ से व्हाट्सएप का विकल्प लाने पर विचार किया जा रहा है।

बता दे कि अफगानिस्तान में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अभियान चलाने वाले एक संगठन के कार्यकारी निदेशक अब्दुल मुजीब खालवतगर ने इस कदम की कड़ी आलोचना की है।