BREAKING NEWS

CM शिंदे का विपक्ष पर प्रहार, कहा- महाराष्ट्र सरकार के अच्छे काम को हजम नहीं कर पा रहे विरोधी◾सीमा विवाद से जुड़े CM बोम्मई के बयान को लेकर राकांपा ने महाराष्ट्र सरकार, केंद्र और भाजपा को लिया आड़े हाथ ◾दिल्ली की अदालत ने कुख्यात अपराधी लॉरेंस बिश्नोई की NIA हिरासत चार दिन के लिए बढ़ाई◾राजस्थान में कानून व्यवस्था ध्वस्त, भाजपा ने सीकर हत्याकांड को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना◾नकवी ने विपक्षी दलों पर कसा तंज, बोले- भाजपा राज में हुए विकास से वोटों के स्वयंभू स्वामी दिवालिया हो चुके ◾भारत जोड़ो यात्रा बना बयानबाजी का प्लेटफॉर्म, राहुल ने ईंधन के दाम को लेकर प्रधानमंत्री पर साधा निशाना ◾Pak नहीं आ रहा अपनी करतूतों से बाज, पंजाब के फाजिल्का में 25 kg हेरोइन, पिस्तौल एवं गोलाबारूद बरामद◾भूकंप के तेज झटकों से कांपा इंडोनेशिया का मुख्य द्वीप, रिक्टर स्केल पर 5.7 रही तीव्रता ◾UP News: सपा विधायक नाहिद हसन को मिली राहत, चित्रकूट जेल से हुए रिहा◾एमसीडी चुनाव में बीजेपी और केजरीवाल की तरफ से किए गए बड़े वादे, क्या जनता करेगी विश्वास?◾मां-बाप की मौत का बदला लेने के लिए बेटी बनी कातिल◾हाई अलर्ट पर राष्ट्रीय राजधानी, MCD चुनाव के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम◾Bharat Jodo Yatra: गहलोत-पायलट विवाद के बीच रविवार को राजस्थान पहुंचेगी राहुल की यात्रा, तैयारियों में जुटे नेता ◾MCD चुनाव में AIMIM की एंट्री से बिगड़ जाएगा समीकरण, ओवैसी के 15 उम्मीदवार दे रहे टक्कर ◾यूनियन कार्बाइड की ‘गलती और लापरवाही’ से भोपाल में ‘अविस्मरणीय’ आपदा हुई : CM शिवराज◾Maharashtra: शिंदे सरकार को झटका, हाई कोर्ट ने फैसले पर लगाई रोक, जानें पूरा मामला ◾कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- मेरी टिप्पणी का दुरुपयोग कर रही है भाजपा◾मथुरा : शौच के लिए गई दलित नाबालिग की गैंगरेप के बाद हत्या, पुलिस ने गिरफ्तार किए दो आरोपी◾UP News: आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, 'भड़काऊ' शब्दों का इस्तेमाल करने के आरोप में एक और केस दर्ज ◾Tamil Nadu: किसानों को मिली राहत, बैंक ऑफ बड़ौदा ने दिए 134 करोड़ रुपये के कृषि कर्ज◾

काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमला होने का अलर्ट, तालिबान ने पहुंच और नियंत्रण को किया मजबूत

तालिबान के बढ़ते आतंक के मद्देनजर अफगानिस्तान के काबुल से बड़ी संख्या में लोगों का निकलना जारी है। इस बीच अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने अपने नागरिकों को चेतावनी दी है कि वह सुरक्षित स्थान पर रहें, क्योंकि काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमला होने की आशंका बढ़ गई है। अमेरिकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन ने कहा है कि तालिबान ने काबुल हवाईअड्डे के आस-पास पहुंच एवं नियंत्रण के अपने कदमों को मजबूत कर दिया है।

ब्रिटेन की सरकार ने कहा है कि काबुल हवाई अड्डे पर आत्मघाती हमले के खतरे की चेतावनी के बावजूद अफगानिस्तान छोड़ने की उम्मीद में बड़ी संख्या में लोग हवाई अड्डे के बाहर जमा हैं। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन ने अपने नागरिकों से तत्काल वह इलाका छोड़ने को कहा है। इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस्लामिक स्टेट समूह से संबंधित आतंकवादियों द्वारा हमले किए जाने की चेतावनी दी थी।

ब्रिटेन के सशस्त्र बल मंत्री जेम्स हेप्पी ने बृहस्पतिवार को बीबीसी से कहा कि हवाई अड्डे पर “आसन्न हमले की बहुत विश्वसनीय सूचनाएं हैं।” हेप्पी ने माना कि लोग किसी भी तरह से देश से निकलना चाह रहे हैं, और कतार में लगे कई लोग अपना भाग्य आज़माना चाहते हैं लेकिन इस खतरे की सूचना वास्तव में विश्वसनीय है और जल्दी वास्तविकता में बदल सकती है।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए अफगानिस्तान में लोगों तक पहुंचने का एकमात्र माध्यम हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा है। पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, “तालिबान ने अपनी चौकियों पर सुरक्षा बढ़ा दी है और वे भीड़ नियंत्रण में जुट गए हैं... हमने कल अनुमान लगाया कि भीड़ पिछले दिनों की तुलना में लगभग आधी है।”

उन्होंने कहा, “हमने उन्हें (भीड़ को) उस स्तर तक बढ़ते नहीं देखा है, जितनी वह शुरुआती दिनों में थी। लेकिन हां, इसका कारण निश्चित रूप से यह है कि तालिबान ने क्षेत्र के चारों ओर पहुंच एवं नियंत्रण के अपने कदमों को मजबूत कर दिया है।”किर्बी ने संवाददाताओं के प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि 31 अगस्त के बाद काबुल हवाईअड्डे का प्रबंधन अमेरिका की जिम्मेदारी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि अमेरिकी दूतावास फिलहाल हवाईअड्डे से काम कर रहा है। किर्बी ने कहा कि तालिबान उस शहर में हवाईअड्डा चलाने के लिए जिम्मेदार है, जहां वे अब सरकार के प्रमुख हैं।

अफगानिस्तान में 31 अगस्त के बाद राजनयिक मौजूदगी के ‘विकल्पों’ पर विचार कर रहे हैं : एंटोनी ब्लिंकन