BREAKING NEWS

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- पत्रकारिता ‘कठिन दौर’ से गुजर रही है, फर्जी खबरें नये खतरे के तौर पर सामने आई हैं◾कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾भाजपा के नये अध्यक्ष बने नड्डा, नरेंद्र मोदी समेत इन नेताओं ने दी शुभकामनाएं ◾TOP 20 NEWS 20 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भाजपा के नये अध्यक्ष नड्डा बोले- जिन राज्यों में भाजपा मजबूत नहीं, वहां कमल पहुंचाएं◾PM मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- जिन्हें जनता ने नकार दिया अब वे भ्रम और झूठ के शस्त्र का इस्तेमाल कर रहे हैं◾उम्मीद है कि नड्डा के नेतृत्व में BJP निरंतर सशक्त और अधिक व्यापक होगी : अमित शाह ◾निर्भया गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की याचिका, अब फांसी तय◾आज नामांकन नहीं भर पाए CM केजरीवाल, रोड शो के चलते हुई देरी◾JP नड्डा बने बीजेपी के नए अध्यक्ष, अमित शाह समेत कई नेताओं ने दी बधाई ◾पंचतत्व में विलीन हुए श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा 'मिन्ना जी' ◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾

कश्मीर में सारी पाबंदियां हटाई जाएं : इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने शनिवार को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन के मौके पर कश्मीर मुद्दा उठाया और भारत से अपील की कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद घाटी में लगाई गई सभी पाबंदियों को खत्म किया जाए।

प्रधानमंत्री खान ने करतारपुर गलियारे का उद्घाटन किया। इसके माध्यम से सिख श्रद्धालु पाकिस्तान के पंजाब स्थित उस स्थान के दर्शन कर सकेंगे जहां सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने अंतिम समय बिताया। गलियारे के माध्यम से सिख श्रद्धालु वीजा मुक्त यात्रा कर सकेंगे और वे करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब तक जा सकेंगे जहां गुरु नानक देव ने अपने जीवन के 18 वर्ष बिताए थे।

कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए खान ने कहा कि उन्होंने अपने भारतीय समकक्ष नरेन्द्र मोदी से पहली बैठक में कहा था कि इसका समाधान किया जाना चाहिए। खान ने कहा, ‘‘कश्मीर में आज हम जो देख रहे हैं कि यह अब जमीन का मुद्दा नहीं है। यह मानवीय संकट बन गया है। कश्मीर के लोगों के लिए चीजें और भी खराब हो गई हैं जिनसे जानवरों जैसा व्यवहार होने लगा है, उन्हें मूलभूत मानवाधिकारों से वंचित किया जा रहा है और उनके इर्द-गिर्द नौ लाख सैनिक मौजूद हैं।’’

प्रधानमंत्री खान ने कहा कि उपमहाद्वीप का तभी विकास होगा जब कश्मीर मुद्दे का समाधान हो जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीर मुद्दे का समाधान होने से भारत और पाकिस्तान की समृद्धि बढ़ेगी और दोनों देशों का विकास होगा। कश्मीर मुद्दे के कारण दोनों देशों के बीच 70 वर्षों से नफरत चली आ रही है। भारत को कश्मीर के लोगों के साथ न्याय सुनिश्चित करना चाहिए। उम्मीद है कि हमारे संबंध सुधरेंगे।’’

प्रधानमंत्री खान ने कहा कि एक नेता हमेशा लोगों को एक साथ लाता है न कि उन्हें बांटता है। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने 500 श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को रवाना करते हुए कहा कि करतारपुर गलियारा खुलने से दरबार साहिब गुरुद्वारा में मत्था टेकना आसान हो जाएगा।

उन्होंने खान को धन्यवाद देते हुए कहा कि ऐतिहासिक गलियारा खुलने से काफी खुशी हुई है। मोदी ने कहा, ‘‘मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने भारत की इच्छाओं को समझा और करतारपुर को हकीकत में तब्दील किया।’’

विदेश मंत्री कुरैशी ने अपने भाषण में कहा कि करतारपुर गलियारा खोलने के लिए मोदी ने खान को धन्यवाद दिया, क्या भारत के प्रधानमंत्री अपने पाकिस्तानी समकक्ष को भी धन्यवाद बोलने का मौका देंगे। उन्होंने कहा, ‘‘आप कश्मीर में कर्फ्यू खत्म कर, पैलेट गन का इस्तेमाल बंद कर, मानवाधिकारों का उल्लंघन समाप्त कर और संचार पाबंदियां हटाकर ऐसा कर सकते हैं।’’

कुरैशी ने कहा कि जिस तरह से करतारपुर के दरवाजे खुले हैं उसी तरह से श्रीनगर के जामिया मस्जिद के दरवाजे भी खुलने चाहिए ताकि कश्मीरी जुम्मे की नमाज पढ़ सकें। समझौते के तहत प्रतिदिन पांच हजार भारतीय तीर्थयात्री गुरुद्वारा दरबार साहिब की यात्रा कर सकेंगे।