BREAKING NEWS

आगामी दिल्ली विधानसभा चुनावों को एक और 'स्वतंत्रता संग्राम' मानें : केजरीवाल ◾अयोध्या मामला : मध्यस्थता समिति ने न्यायालय में सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी ◾राहुल गांधी ने कहा- भूख सूचकांक में भारत का लुढ़कना मोदी सरकार की घोर विफलता◾श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जानी जाएगी जम्मू-कश्मीर की चेनानी-नासरी सुरंग : नितिन गडकरी ◾वोट की खातिर लोकलुभावन वादों से बचें राजनीतिक दल : वेंकैया नायडू ◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- 5 साल में घुसपैठियों को देश से बाहर करेंगे◾देवेन्द्र और नरेन्द्र महाराष्ट्र में विकास के दोहरा इंजन हैं : PM मोदी◾TOP 20 NEWS 16 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या विवाद मामले पर सुनवाई पूरी, SC ने फैसला रखा सुरक्षित ◾PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-परिवार भक्ति में ही राष्ट्र भक्ति आती है नजर ◾अर्थव्यवस्था को लेकर प्रियंका का केंद्र पर तंज, कहा-विश्व बैंक के बाद IMF ने भी दिखाया सरकार को आईना◾साक्षी महाराज बोले- 6 दिसंबर से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण◾महाराष्ट्र रैली में PM मोदी ने कहा-राष्ट्र निर्माण का आधार हैं सावरकर के संस्कार◾कपिल सिब्बल का PM पर तंज, बोले- मोदी जी, राजनीति पर कम और बच्चों पर ज्यादा ध्यान दीजिए◾आईएनएक्स मीडिया मामला: तिहाड़ जेल में पूछताछ के बाद ED ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार◾अयोध्या विवाद : CJI गोगोई ने मामले की सुनवाई को आज शाम 5 बजे पूरी करने का दिया निर्देश◾होमगार्ड मामले में मायावती का यूपी सरकार पर वार, बेरोजगारी बढ़ाने का लगाया आरोप◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए 3 आतंकवादी◾होमगार्ड मामले पर प्रियंका का सवाल- योगी सरकार पर कौन सा फितूर है सवार ◾आईएनएक्स मीडिया: चिदंबरम से पूछताछ करने तिहाड़ पहुंची ED टीम, कार्ति और नलिनी भी मौजूद◾

विदेश

पाकिस्तान समेत एशिया-प्रशांत समूह के सभी देशों ने किया भारत का समर्थन

चीन और पाकिस्तान समेत एशिया-प्रशांत समूह के सभी 55 देशों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में दो साल के कार्यकाल के लिए भारत की गैर-स्थायी सदस्यता की उम्मीदवारी का समर्थन किया है जो भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत है। 

इस बीच, जर्मनी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन किया है। 15 देशों की सदस्यता वाले यूएनएससी के 202।-2022 के कार्यकाल के लिए पांच गैर-स्थायी सीटों के लिए चुनाव अगले वर्ष जून के आसपास होगा। 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य हैं जिनके पास वीटो की शक्ति है। इन पांच स्थायी सदस्यों में अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस और रूस हैं। 

जिन 55 देशों ने भारत की उम्मीदवारी का समर्थन किया है उनमें अफगानिस्तान, बंगलादेश, भूटान, चीन, इंडोनेशिया, ईरान, जापान, कुवैत, किर्गीजस्तान, मलेशिया, मालदीव, म्यांमार, नेपाल, पाकिस्तान, कतर, सऊदी अरब, श्रीलंका, सीरिया, तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और वियतनाम शामिल हैं। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करने वाले देशों का धन्यवाद करते हुए ट््वीट किया, ‘‘एशिया-प्रशांत के सभी देशों ने वर्ष 202।2022 के लिए सुरक्षा परिषद में भारत की गैर स्थायी सीट का सर्वसम्मति से समर्थन किया है। ’’

उन्होंने एक वीडियो संदेश के साथ ट्वीट किया, ‘‘एशिया-प्रशांत समूह ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की गैर-स्थायी सीट के लिए भारत का समर्थन किया है। 55 देश, एक उम्मीदवार देश-भारत।’’ इस बीच, भारत में जर्मनी के राजदूत वाल्टर जे लिंडनर ने मंगलवार को नयी दिल्ली में कहा कि 1.4 अरब की जनसंख्या वाले देश भारत को यूएनएससी में स्थायी सीट मिलनी चाहिए क्योंकि इसकी अनुपस्थिति से परिषद की विश्वसनीयता को चोट पहुंचेगी। 

लंबे समय से कई देश यूएनएससी की स्थायी सदस्यता के लिए भारत की उम्मीदवारी का समर्थन कर रहे हैं। 

संयुक्त राष्ट्र का संस्थापक सदस्य भारत संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों के लिए सैनिकों के सबसे बड़ योगदानकर्ताओं में से एक है। भारत अब तक यूएनएससी के गैर-स्थायी सदस्य के रूप में सात बार निर्वाचित हो चुका है।