BREAKING NEWS

दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अमेरिका ने कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए कई राज्यों में लगाया कर्फ्यू

चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस ने विश्व भर में दस्तक दे दी है। अमेरिका ने वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए अपने प्रयासों को तेज करते हुए नागरिकों की आवाजाही को प्रतिबंधित करना शुरू कर दिया है। ट्रंप ने पहली बार माना कि वैश्विक महामारी के चलते अमेरिकी अर्थव्यवस्था “संभवत:” मंदी की ओर बढ़ सकती है जहां 1987 के बाद से पहली बार वॉल स्ट्रीट के शेयर करीब 13 प्रतिशत गिरकर सबसे निचले स्तर पर बंद हुए।

अमेरिका ने यूरोपीय राष्ट्रों का अनुसरण करते हुए स्कूलों, सार्वजनिक भवनों, रेस्तरां, बार आदि को बंद करने की घोषणा की है। ट्रंप ने आशंका जताई है कि अमेरिका में कोरोना वायरस का संकट अभी कई महीनों तक जारी रह सकता है। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा, “ मुझे ऐसा लगता है कि अगर हम इस दिशा में बहुत अच्छे से काम करें तो उम्मीद है कि जुलाई या अगस्त तक हमें इससे छुटकारा मिल जाएगा।”

उनकी इन टिप्पणियों से पहले कनाडा ने घोषणा की कि वह ज्यादातर विदेशी नागरिकों के लिए अपनी सीमाएं बंद कर रहा है और न्यू जर्सी के गवर्नर फिल मर्फी ने कहा कि वह न्यूयॉर्क शहर की सीमा के साथ लगने वाले राज्य में आवाजाही को सीमित कर रहे हैं।मर्फी ने कहा, “ सभी गैर जरूरी खुदरा, शौकियां एवं मनोरंजनात्मक कारोबार रात आठ बजे के बाद बंद हो जाने चाहिए और यह आज रात से प्रभावी होगा।”

उन्होंने कहा, “ न्यू जर्सी में रात आठ बजे से सुबह पांच बजे तक सभी गैर जरूरी और गैर-आपात यात्राएं प्रतिबंधित की जाती है। यह निकट भविष्य तक प्रभावी रहेगा। हम चाहते हैं कि सब घरों के अंदर रहें-बाहर नहीं।”बाद में सैन फ्रांसिस्कों ने भी एक ही स्थान पर रहने संबंधी आदेश पारित किया जिसमें लाखों निवासियों को बहुत जरूरी न होने तक घर के अंदर ही रहने को कहा गया है।

इन घोषणाओं से पहले प्यूर्टो रिको ने मॉल, सिनेमाघर, जिम और बार बंद रखने के साथ ही रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक के लिए कर्फ्यू लगाया था। व्हाइट हाउस ने उन खबरों से इनकार किया है कि ट्रंप देश भर में कामबंदी के कदम पर विचार कर रहे हैं और राष्ट्रपति अस्थायी अस्पतालों के निर्माण में मदद के लिए सेना को कह सकते हैं।

राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस संकट के चलते चुनाव रद्द करना ‘‘अनावश्यक” है जबकि ओहियो के गवर्नर ने कहा कि मंगलवार को राज्य में निर्धारित प्राथमिक चुनाव (प्राइमरी) टाल दिए जाएं। इस बीच, अमेरिका की बड़ी एयरलाइन कंपनियों ने कहा कि वह विमान सेवाओं में कम से कम 50 फीसदी की कटौती करेंगी।