तोक्यो : ईरान के विदेश मंत्री ने अमेरिका पर तनाव बढ़ाने का आरोप लगाया और कहा कि ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से अमेरिका के खुद को अलग कर लेने के बावजूद ईरान अत्याधिक संयम बरत रहा है। जापानी अधिकारियों के साथ बैठक करने यहां पहुंचे ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावाद जरीफ ने कहा, ‘‘अमेरिका तनाव बढ़ा रहा है, जो अस्वीकार्य है।’’

उन्होंने परमाणु समझौते का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘हम अत्यधिक संयम बरत रहे हैं….इस तथ्य के बावजूद की अमेरिका पिछले साल मई में जेसीपीओए से बाहर हो गया था। जेसीपीओए को ‘ज्वाइंट कॉम्प्रिहेंसिव प्लान ऑफ एक्शन’ ने नाम से जाना जाता है।’’ जरीफ ने कहा कि ईरान समझौते को ले कर प्रतिबद्ध है और लगातार हो रहे आकलन यह दिखाते हैं कि ईरान बहुपक्षीय समझौते का पालन कर रहा है।

दरअसल अमेरिका ने पिछले साल खुद को परमाणु समझौते से अलग कर लिया था जिसके बाद दोनों के बीच रिश्ते तनावपूर्ण हो गए थे लेकिन हाल के समय में ईरान पर लगातार बढ़ते अमेरिकी दवाब से रिश्तों में तनाव चरम पर है। गौतलब है कि इस महीने की शुरुआत में ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने खाड़ी में यूएसएस अब्रहम लिंकन एयरक्राफ्ट कैरियर स्ट्राइक ग्रुप तथा बी-52 बमर फोर्स तैनात करने की घोषणा की थी। बुधवार को यानी कल अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने सभी गैर-आपात दूतावास कर्मियों को बगदाद में अपना दूतावास और एरबिल में वाणिज्य दूतावास छोड़ने का आदेश दिया था।