BREAKING NEWS

यूपी : योगी सरकार ने पुलिस विभाग में किया बड़ा फेरबदल, 11 IPS अधिकारियों के किए तबादले, देखें सभी की लिस्ट ◾J&K News: जम्मू कश्मीर के कठुआ में सुरक्षाबलों ने पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया गया◾'मन की बात' में बोले मोदी- देश में 'यूनिकॉर्न' कंपनियों की संख्या हुई 100, महामारी में भी बढ़ा स्टार्टअप और धन ◾नेपाल : 22 लोगों को लेकर जा रहा तारा एयरलाइन्स का विमान लापता, 4 भारतीय भी थे सवार, तलाश जारी ◾दिल्ली : साकेत कोर्ट के जज की पत्नी ने की आत्महत्या, कल से थी लापता, जांच में जुटी पुलिस ◾दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना की फोटो का इस्तेमाल कर युवक को दी धमकी, स्पेशल सेल कर रही जांच ◾यूपी : कर्नाटक से अयोध्या जा रहे श्रद्धालुओं के वाहन की ट्रक से टक्कर, 6 की मौत, 10 घायल ◾India Covid Update : पिछले 24 घंटे में आए 2,828 नए केस, उपचाराधीन मामलों की संख्या हुई 17 हजार 87 ◾इंडोनेशिया : इंजन फेल होने से मकासर जलडमरूमध्य में डूबा जहाज, 25 लोग लापता, तलाश जारी ◾भारत के टीकाकरण अभियान की बिल गेट्स ने की तारीफ, दुनिया को सीख लेने की दी नसीहत ◾राज्यसभा को लेकर झारखंड के CM हेमंत सोरेन ने की सोनिया गांधी से की मुलाकात, मिल सकती है एक सीट ? ◾लिपुलेख, कालापानी को लेकर नेपाल ने फिर दोहराया बयान, PM देउबा बोले- जमीन वापस लेने के लिए है प्रतिबद्ध ◾आज का राशिफल ( 29 मई 2022)◾पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल पानी के मुद्दों पर वार्ता के लिए अगले हफ्ते भारत आएगा◾वेंकैया नायडू ने तमिलनाडु में करुणानिधि की 16 फुट ऊंची प्रतिमा का किया अनावरण ◾ योगी सरकार का कामकाजी महिलाओं के लिए बड़ा फैसला, जानें ऑफिस टाइमिंग को लेकर क्या दिया आदेश ◾ J&K : अनंतनाग इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, दो दहशतगर्द हुए ढेर ◾ Asia Cup 2022: रोमांचक मुकाबले में टीम इंडिया का शानदार प्रदर्शन, जापान को 2-1 से दी मात ◾ नैनो यूरिया संयंत्र का उद्घाटन कर पीएम मोदी, बोले- आत्मनिर्भरता में भारत की अनेक मुश्किलों का हल ◾ Gujarat News: देश में गुजरात का सहकारी आंदोलन एक सफल मॉडल, गांधीनगर में बोले अमित शाह ◾

अमेरिका चोरी-छुुपे दे रहा ताइवान के सुरक्षा बलों को सैन्य प्रशिक्षण, चीन की बढ़ी चिंता

अमेरिका कम से कम एक साल से गुप्त रूप से ताइवान में सैन्य प्रशिक्षकों की एक छोटी टुकड़ी के साथ उनके सैन्य बलों को प्रशिक्षण दे रहा है। एक हालिया मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। चीन के साथ प्रतिद्वंद्विता को देखते हुए अमेरिका का यह कदम काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

उधर, वॉल स्ट्रीट जर्नल ने गुरुवार को बताया कि लगभग दो दर्जन अमेरिकी विशेष बल के सैनिक और अनिर्दिष्ट (संख्या के बारे में सही जानकारी नहीं है) संख्या में नौसैनिक अब ताइवानी बलों को प्रशिक्षण दे रहे हैं। प्रशिक्षकों को पहले पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन द्वारा ताइवान भेजा गया था, लेकिन उनकी उपस्थिति की सूचना अब तक नहीं दी गई थी।

ताइवान के  राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने चीन को चेताया, कहा- 

यह रिपोर्ट तब सामने आई है, जब कुछ दिनों पहले ही राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने चीन को चेताया है। राष्ट्रपति वेन के फॉरेन अफेयर्स पत्रिका में छपे लेख में चीन को साफ चेतावनी दी है कि चीन अगर ताइवान पर अतिक्रमण करता है तो पूरे एशिया में इसके विनाशकारी परिणाम देखने को मिलेंगे। उन्होंने आगे लिखा है कि ताइवान कभी युद्ध जैसी स्थिति और ना ही सैन्य टकराव चाहता है, लेकिन अपने आपको बचाने के लिए जो भी जरूरी प्रयास करने पड़े उन्हें ताइवान करेगा और वह किसी भी हालात में नहीं चूकेगा।

चीन-ताइवान में युद्ध की आशंका

ताइवान राष्ट्रपति का ये बयान ऐसे वक्त पर भी सामने आया है, जब चीन ताइवान पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। दरअसल चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है। वहीं ताइवान अपने आपको अलग स्वतंत्र लोकतांत्रिक देश मानता है। 1979 के बाद से, जब वाशिंगटन ने चीन के साथ राजनयिक संबंध स्थापित किए, अमेरिकी सैनिक स्थायी रूप से द्वीप पर आधारित नहीं रहे हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय का बयान- शर्मन की भारत यात्रा संपन्न, देशों के बीच संबंधों को प्रगाढ़ करने का मिला अवसर

गार्डियन ने कहा कि पेंटागन के प्रवक्ता जॉन सप्पल सीधे रिपोर्ट पर टिप्पणी नहीं करेंगे, लेकिन उन्होंने कहा है कि ताइवान के साथ हमारा समर्थन और रक्षा संबंध चीन से मौजूदा खतरे के खिलाफ संरेखित है। सेंटर फॉर ए न्यू अमेरिकन सिक्योरिटी के इंडो-पैसिफिक सिक्योरिटी प्रोग्राम के फेलो जैकब स्टोक्स ने कहा, यह एक महत्वपूर्ण कदम है, लेकिन इसका उद्देश्य मुख्य रूप से उत्तेजक नहीं है, बल्कि वास्तव में ताइवान की सेना की रक्षा क्षमता में सुधार करना है।