BREAKING NEWS

कर्नाटक : सिद्धारमैया ने कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से दिया इस्तीफा◾JNU छात्रों ने राष्ट्रपति भवन तक शुरू किया मार्च, पुलिस ने की शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील◾रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत, मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए विदेश जाने की मिली अनुमति◾बीजेपी ने छह सीटें जीतने के साथ कर्नाटक विधानसभा में बहुमत किया हासिल ◾झारखंड में बोले राहुल- सत्ता में आने पर लोगों को जल, जंगल और जमीन लौटाया जाएगा◾कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश विभाजन किया जिसके कारण नागरिकता कानून में संशोधन की जरूरत पड़ी : अमित शाह◾अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया भारत और संविधान का अपमान◾झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस कभी भी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरी◾गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में पेश किया नागरिकता संशोधन विधेयक◾शिवसेना नागरिकता संशोधन विधेयक का करेगी समर्थन: संजय राउत ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले पर बुधवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾कर्नाटक उपचुनाव : कांग्रेस नेता शिवकुमार ने मानी हार, बोले-लोगों ने दलबदलुओं को किया स्वीकार◾विभाजनकारी चालक के साथ कैब की सवारी है ‘कैब’ विधेयक: कपिल सिब्बल ◾शिवसेना ने केंद्र पर लगाया हिंदुओं-मुसलमानों का ‘अदृश्य विभाजन’ करने का आरोप◾कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जन्मदिन आज, PM मोदी समेत कई नेताओं ने दी बधाई◾दिल्ली: अनाज मंडी में 24 घंटे बाद फिर लगी इमारत में आग, मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां◾कर्नाटक उपचुनाव : येदियुरप्पा का दावा- भाजपा जीतेगी 15 में से 13 सीटें◾कर्नाटक उपचुनाव : मतगणना जारी, परिणाम तय करेंगे BJP का भविष्य ◾असम में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ 16 संगठनों का मंगलवार को बंद का आह्वान ◾दिल्ली : आग की त्रासदी के बाद अस्पताल में भयावह दास्तां ◾

विदेश

सुरक्षा परिषद की ब्रीफिंग में भाग लेने से रोक रहा है अमेरिका : ईरान

 iran

संयुक्त राष्ट्र में ईरान के राजदूत माजिद तख्त रवांची ने अमेरिका पर ईरान तथा अमेरिका के बीच जारी तनाव के मुद्दे पर आयोजित होने वाले संरा सुरक्षा परिषद के संवाददाता सम्मेलन में ईरान के भागीदारी को अवरुद्ध करने का आरोप लगाया है। 

रवांची ने कहा, "एक ऐसा देश (ईरान) जिसके हवाई क्षेत्र का अमेरिका के जासूसी ड्रोनों द्वारा दो बार उल्लंघन किया गया है संरा सुरक्षा परिषद की बैठक में भाग लेने का हकदार था। संरा घोषणापत्र के अनुसार यह हमारा अधिकार है। हमने उस बैठक में भाग लेने के लिए अपनी इच्छा और अनुरोध को व्यक्त किया था। दुर्भाग्य से हमें हालांकि यह अधिकार नहीं दिया गया।"

उन्होंने कहा कि परिषद की आज एकतरफा ब्रीफिंग की जा रही है। अमेरिका इस निकाय का स्थायी सदस्य होने के नाते और ईरान विरोधी अपनी नीति के कारण परिषद को गुमराह करने के लिए अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर रहा है।