BREAKING NEWS

भारत, फिलीपीन ने आतंकवाद से लड़ाई में सहयोग जारी रखने की प्रतिबद्धता जतायी ◾एनएससीएन (आईएम) ने मोदी पर जताया भरोसा◾पवार का दावा, इंदापुर सीट पर हर्षवर्धन को मनाने की कोशिश की ◾PM मोदी ने बॉलीवुड कलाकारों और फिल्म निर्माताओं से की मुलाकात◾18 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को होगी वोटिंग◾कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना - UP में 'जगंल राज', तिवारी की हत्या के मामले में हो कार्रवाई◾मोदी लोगों को बताएं, किसने पाकिस्तान को दो भागों में बांटा : कांग्रेस◾हरियाणा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा चुस्त ◾महाराष्ट्र, हरियाणा में फीका रहा कांग्रेस का चुनाव प्रचार ◾कांग्रेस की गलत नीतियों ने देश को कर दिया बर्बाद : PM मोदी◾हरियाणा ,महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव के लिए थमा चुनाव प्रचार, 21 अक्टूबर को होगा मतदान , मतगणना 24 अक्टूबर को◾हरियाणा चुनाव 2019 : गोपाल कांडा के भाई के समर्थन में उतरीं सपना चौधरी, भाजपा नाराज◾सीतारमण बोली- सुस्ती के प्रभाव को कम करने के लिए सम्मलित प्रयास हो ◾TOP 20 NEWS 19 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रेवाड़ी में बोले मोदी- कांग्रेस 1964 में वादा करने के बावजूद अनुच्छेद 370 समाप्त करने में नाकाम रही◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: CM योगी बोले- इस मामले में शामिल आरोपियों को नहीं छोड़ेंगे◾प्रधानमंत्री जनता से बोलें कि कांग्रेस सरकार ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किए : कपिल सिब्बल◾अमित शाह की राहुल को चुनौती, बोले- घोषणा करें कि सत्ता में वापसी के बाद अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को करेंगे लागू◾हरियाणा चुनाव: PM मोदी बोले- कांग्रेस ने अपनी गलत नीतियों से देश को किया बर्बाद ◾प्रियंका का तंज- भाजपा के मंत्रियों का काम अर्थव्यवस्था सुधारना है, 'कॉमेडी सर्कस' चलाना नहीं◾

विदेश

भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव से बेहद चिंतित हैं अमेरिकी सांसद

अमेरिका के सांसदों ने जम्मू-कश्मीर की स्थिति को लेकर ‘गहरी चिंता’ जाहिर की है और भारत तथा पाकिस्तान में अमेरिकी राजदूतों से दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए हर संभव प्रयास करने को कहा है। जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को पांच अगस्त को समाप्त कर दिया गया और राज्य को दो केंद्र शासित क्षेत्रों में बांट दिया गया। पाकिस्तान इसका विरोध कर रहा है। 

इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। दिल्ली और इस्लामाबाद में अमेरिकी राजदूतों केनेथ जस्टर और पॉल डब्ल्यू जोन्स को शुक्रवार को अमेरिकी सांसद ने पत्र लिखकर कहा कि ऐसी आशंका है कि इस संकट के परिणामस्वरूप भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों में नरमी ही रहेगी। 

पत्र में कहा गया है, "यह स्थिति वैश्विक शांति और स्पष्ट तौर अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है। पाकिस्तान और भारत दोनों ही महत्वपूर्ण सहयोगी हैं और अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया सहित क्षेत्र में हमारे हितों के लिए बेहद जरूरी है।" 

पत्र में दोनों देशों के अमेरिकी राजदूतों से अपील की गई है कि वह अपनी क्षमता के अनुसार ‘दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए’ हर संभव प्रयास करें। इसके अलावा पत्र में अमेरिका के हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के सदस्यों ने दोनों राजनयिकों से अपील की है कि वह अमेरिका में रह रहे कश्मीरी लोगों का संपर्क जम्मू-कश्मीर में रह रहे उनके परिवारों से कराएं। 

उन्होंने भारत सरकार से मांग की है कि जम्मू-कश्मीर में संचार के माध्यम बहाल करें और मीडिया को संबंधित क्षेत्र में जाने की अनुमति दें। इस पत्र पर इलहान उमर, राउल एम ग्रीजाल्वा, एंडी लेविन, जेम्स पी मैकगवर्न, टेड ल्यू, डोनाल्ड बेयर और एलन लोवेनथल के हस्ताक्षर हैं। वहीं एक अन्य बयान में राशिदा तलैब ने कहा कि उनके मन में भारत के प्रति काफी सम्मान है लेकिन वह जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने की आलोचना करती हैं।