BREAKING NEWS

PM मोदी को श्रीकृष्ण आयोग की रिपोर्ट पर कार्रवाई करनी चाहिए : ओवैसी ◾हिन्दू समाज पार्टी के नेता की दिनदहाड़े हत्या : SIT करेगी जांच◾कमलेश तिवारी हत्याकांड : राजनाथ ने डीजीपी, डीएम से आरोपियों को तत्काल पकड़ने को कहा◾सपा-बसपा ने सत्ता को बनाया अराजकता और भ्रष्टाचार का पर्याय : CM योगी◾FBI के 10 मोस्ट वांटेड की लिस्ट में भारत का भगोड़ा शामिल◾करतारपुर गलियारा : अमरिंदर सिंह ने 20 डॉलर का शुल्क न लेने की अपील की ◾प्रफुल्ल पटेल 12 घंटे तक चली पूछताछ के बाद ईडी कार्यालय से निकले ◾फडनवीस के नेतृत्व में फिर बनेगी गठबंधन सरकार : PM मोदी◾प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के आसपास कोई भी नेता नहीं : सर्वेक्षण ◾मोदी का विपक्ष पर वार : कांग्रेस के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती सरकारों ने केवल घोटालों की उपज काटी है◾ISIS के निशाने पर थे कमलेश तिवारी, सूरत से निकला ये कनेक्शन◾अमित शाह ने राहुल गांधी से पूछा, आदिवासियों के लिए आपके परिवार ने क्या किया ◾पायलट ने निकाय प्रमुखों के चुनाव संबंधी फैसले पर खड़े किये सवाल ◾राम मंदिर पर हिंदुओं के पक्ष में निर्णय की आशा : RSS ◾TOP 20 NEWS 18 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾FATF ने पाक को ‘ग्रे सूची’ में कायम रखा, कार्रवाई की चेतावनी दी ◾दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को कोर्ट ने सुनाई 6 महीने की सजा, मिली जमानत◾महेंद्रगढ़ रैली में राहुल का प्रधानमंत्री पर वार, बोले-मोदी को नहीं है अर्थव्यवस्था की कोई समझ◾मोदी को डर, 'घेराबंदी' हटने पर कश्मीर में होगा खूनखराबा : इमरान खान◾हिसार में बोले PM मोदी-कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा चुनाव में पहले ही मान ली है हार◾

विदेश

वेनेजुएला पर अमेरिकी, रूसी प्रस्ताव सुरक्षा परिषद में खारिज

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद अमेरिका और रूस द्वारा प्रायोजित वेनेजुएला पर दो प्रतिस्पर्धी मसौदा प्रस्तावों को अपनाने में विफल रहा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, गुरुवार को 15 सदस्यीय परिषद में अमेरिका के मसौदे के पक्ष में नौ मत और विपक्ष में तीन मत पड़े और तीन ने मतदान करने से परहेज किया। रूस और चीन के साथ-साथ दक्षिण अफ्रीका ने भी प्रस्ताव पर वीटो कर दिया। मिनटों बाद, सुरक्षा परिषद ने रूसी मसौदे पर मतदान कराया, जिसमें चार वोट पक्ष में, सात विपक्ष में पड़े और चार ने मत नहीं डाला।

अमेरिका के मसौदे में वेनेजुएला में मानवीय स्थिति को और अधिक बिगड़ने से रोकने और मानवीय सिद्धांतों के अनुसार वेनेजुएला के सभी क्षेत्रों में बिना किसी बाधा के सहायता के पहुंचने और सहायता प्रदान करने की आवश्यकता पर जोर दिया गया है। वहीं, रूसी मसौदा में इसके विपरीत यह मांग की गई कि अंतर्राष्ट्रीय सहायता वेनेजुएला सरकार की सहमति और अपील के आधार पर प्रदान की जानी चाहिए। इसमें शांतिपूर्ण साधनों के माध्यम से वर्तमान स्थिति के समाधान का भी आग्रह किया गया और वेनेजुएला में राजनीतिक समाधान तक पहुंचने के उद्देश्य से सभी पहलों का समर्थन किया गया।

लैटिन अमेरिकी देश राजनीतिक संकट का सामना कर रहा है। ऐसे में वेनेजुएला को लेकर सुरक्षा परिषद की गुरुवार की बैठक महज एक महीने के अंदर तीसरी बैठक है। संयुक्त राष्ट्र में चीन के उपस्थायी प्रतिनिधि वु हाइताओ ने कहा कि चीन वेनेजुएला के आंतरिक मामलों में बाहरी ताकतों और सैन्य बलों के हस्तक्षेप का विरोध करता है। वेनेजुएला में उस समय से राजनीतिक संकट बढ़ गया जब 23 जनवरी को नेशनल असेंबली के अध्यक्ष जुआन ग्वाइदो ने खुद को अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया और अमेरिकी और कुछ देशों ने उन्हें मान्यता दे दी।