BREAKING NEWS

पिटबुल कुत्ते ने 9 साल के मासूम बच्चे पर किया हमला बच्चा गंभीर रूप से घायल, मालिक पर केस दर्ज◾गाजियाबाद: एक्शन में पुलिस कमिश्नर, 24 चौकी प्रभारियों समेत 47 दरोगाओं का किया ट्रांसफर ◾धर्मों को लेकर बोला SC- भारत एक धर्मनिरपेक्ष... सभी लोगों को अपने धर्मों का करना चाहिए पालन◾सीमा विवाद में फडणवीस की एंट्री, बोले- कर्नाटक के विवादित क्षेत्रों में मंत्रियों के दौरे पर अंतिम निर्णय शिंदे लेंगे◾कर्नाटक का शिवमोग्गा फिर बना चर्चा का केंद्र, दीवारों पर लिखा- 'Join CFI'....जांच में जुटी पुलिस ◾Haridwar News: खतरनाक पिटबुल के हमले में लहूलुहान हुआ बच्चा, पुलिस ने दर्ज किया मामला◾राजस्थान: शेखावटी में गैंगस्टरों का खूनी खेल में मौत का तांडव ! राजू ठेठ और विश्नोई गैंग में क्यों चली आ रही है दुश्मनी◾थरूर को दरकिनार करने का प्रयास! NCP ने पार्टी में शामिल होने का दिया ऑफर....मिला ये जवाब ◾जुड़वा बहनों से एक साथ शादी करना युवक को पड़ा भारी, केस दर्ज◾मोदी-मोदी के नारों के बीच राहुल ने की फ्लाइंग kiss की बौछार, खूब वायरल हो रहा है वीडियो◾जानिए अब कौनसी पाकिस्तानी लड़कीयाँ सोशल मीडिया पर मचा रही तहलका◾मैनपुरी उपचुनाव : SP ने चुनाव में गड़बड़ी का लगाया आरोप, कहा-मुस्लिम वोटर्स को मतदान से रोक रही है BJP◾Viral Video: चीन में बेकाबू हुआ कोरोना! मरीज ने क्रारंटाइन सेंटर जानें से किया मना...तो अधिकारी घसीटने लगा ◾ गुजरात विधानसभा चुनाव पर अखिलेश यादव ने दी प्रतिक्रिया, बोले- "मुझे उम्मीद है कि बीजेपी गुजरात में बुरी तरह हारेगी"◾UP News: मैनपुरी में जीत को लेकर डिंपल आश्वस्त, बोलीं- नेताजी के सम्मान में वोट दे रहे लोग, परिणाम पर कहा.... ◾Kaushambi में हेड मास्टर ने स्कूली छात्र से साफ कराया Toilet, शिक्षा विभाग में मचा हड़कंप! ◾मुंबई: महिला के साथ हैवानियत की सारी हदें पार, 3 लोगों ने किया गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से भी जलाया, मामला दर्ज ◾भाजपा की घेराबंदी में जुटा विपक्ष, PM पर लगाया आचार संहिता उल्लंघन का आरोप, जानें क्या है पूरा मामला ◾छतीसगढ़ के अस्पताल में बड़ी लापरवाही, वेंटिलेटर काम नहीं करने पर 4 बच्चों की गई जान, परिजनों ने किया हंगामा◾Kodava Community : भारत में रहने वाले ये लोग बिना लाइसेंस के रखते हैं हथियार, ब्रिटिश काल से मिली हुई है छूट◾

एनी एरनॉक्स ने जीता नोबेल पुरस्कार, बाधाओं को उजागर करने वाली लेखनी के लिए दिया गया पुरस्कार

इस साल साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार फ्रांसीसी लेखिका एनी एरनॉक्स को “साहस और लाक्षणिक ​​तीक्ष्णता के साथ व्यक्तिगत स्मृति के अंतस, व्यवस्थाओं और सामूहिक बाधाओं को उजागर करने” वाली उनकी लेखनी के लिये दिया गया है। स्वीडिश अकादमी में बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

किताबें पेश करती हैं -यौन व गर्भपात की बेलाग तस्वीर

एरनॉक्स (82) ने आत्मकथात्मक उपन्यास लिखना शुरू किया, लेकिन संस्मरणों के लिए उन्होंने कथा साहित्य को जल्दी छोड़ दिया। उनकी 20 से अधिक पुस्तकें हैं जिनमें से अधिकांश बहुत छोटी, उनके जीवन की घटनाओं और उनके आसपास के लोगों के जीवन की घटनाएं हैं। ये किताबें यौन मुठभेड़ों, गर्भपात, बीमारी और उनके माता-पिता की मृत्यु की बेलाग तस्वीर पेश करती हैं।

अक्सर खरा और साधारण भाषा में लिखा बेदाग होता हैं 

साहित्य के लिये नोबेल समिति के अध्यक्ष एंडर्स ओल्सन ने कहा कि एरनॉक्स का काम अक्सर “खरा और साधारण भाषा में लिखा बेदाग होता है।” उन्होंने स्वीडन के स्टाकहोम में पुरस्कार की घोषणा के बाद संवाददाताओं को बताया, “उन्होंने कुछ सराहनीय और स्थायी हासिल किया है।” एरनॉक्स अपनी शैली को “सपाट लेखन” (फ्लैट राइटिंग) के तौर पर वर्णित करती हैं, जो उनके द्वारा बताई जाने वाली घटनाओं का बेहद निष्पक्ष नजरिया, भड़कीले विवरणों और भावनाओं के ज्वार से निष्प्रभावी रखता है।

कोई गीतात्मक स्मरण नहीं विड़ंबना का कोई उत्साहजनक प्रदर्शन नहीं

“ला प्लेस” (एक पुरुष की जगह) से सुर्खी पाने वाली एरनॉक्स ने इसमें पिता के साथ अपने संबंधों के बारे में लिखा है : “कोई गीतात्मक स्मरण नहीं, विडंबना का कोई उत्साहजनक प्रदर्शन नहीं। यह तटस्थ लेखन शैली मुझमें स्वाभाविक रूप से है।”

आलोचकों के बीच में बेहद सराही गई उनकी किताब “द इयर्स” 2008 में प्रकाशित हुई थी और इसमें उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के अंत से लेकर आज तक खुद का और व्यापक फ्रांसीसी समाज का वर्णन किया है।

“द इयर्स में “मैं” की जगह “वह” कहकर संबोधित किया हैं

अपनी पूर्व की किताबों से इतर एरनॉक्स ने “द इयर्स” में तीसरे व्यक्ति के तौर पर अपने बारे में लिखा है और अपने चरित्र को “मैं” की जगह “वह” कहकर संबोधित किया है। किताब को कई पुरस्कार और सम्मान मिले हैं। निएंडरथल डीएनए के रहस्यों को उजागर करने वाले वैज्ञानिक को सम्मानित करने वाले चिकित्सा पुरस्कार के साथ सोमवार को नोबेल पुरस्कार की घोषणाओं का सप्ताह शुरू हो गया। तीन वैज्ञानिकों ने संयुक्त रूप से मंगलवार को भौतिकी में इस खोज के लिए यह पुरस्कार जीता कि छोटे कण अलग होने पर भी एक दूसरे के साथ संबंध बनाए रख सकते हैं।

अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कर की घोषणा 10 अक्टूबर को की जाएगी

रसायन विज्ञान में इस वर्ष का नोबेल पुरस्कार कैरोलिन आर बर्टोज्जी, मोर्टन मेल्डल और के. बैरी शार्पलेस को समान भागों में ‘अणुओं के एक साथ विखंडन’ का तरीका विकसित करने के लिए बुधवार को प्रदान किया गया था। नोबेल शांति पुरस्कार की घोषणा शुक्रवार और तथा अर्थशास्त्र के लिये नोबेल पुरस्कार की घोषणा 10 अक्टूबर को की जाएगी।