BREAKING NEWS

कोरोना वायरस से निपटने के लिए PM मोदी की माता जी ने दिए 25 हजार रुपये◾Covid-19 को लेकर प्रियंका का ट्वीट , कहा - कांग्रेस सरकारों का इंतजाम शानदार ◾गृह मंत्रालय का बयान - इस साल तबलीगी गतिविधियों के लिये 2100 विदेशी भारत आए◾कोविड-19 के देशभर मे फैलने की आशंका, निजामुद्दीन से जुड़े संदिग्ध मामलों की देशभर में तलाश शुरू◾ITBP के जवानों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए पीएम राहत कोष में दिया एक दिन का वेतन ◾सरकार ने विदेशी तब्लीगी कार्यकर्ताओं को पर्यटन वीजा देने पर लगाई रोक ◾Covid 19 का कहर जारी : देश में कोरोना के 227 नये मामले आये सामने, पिछले 24 घंटों में तीन और मौतें◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 82 नए मामले आये सामने , मरीज़ों की तादाद 300 के पार◾निजामुद्दीन मुद्दे पर योगी सरकार एक्शन में ,तबलीगी जमात के 157 लोगों में से 95 प्रतिशत की हुई पहचान ◾तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में दी सहायता राशि, PM को पत्र लिख कर दिया समर्थन ◾कोरोना का कहर : यूपी में संक्रमितों की संख्या 100 के पार, नोएडा में सबसे अधिक पॉजिटिव मरीज◾कोरोना तबाही : दुनियाभर में सख्ती से लॉकडाउन लागू, मरने वालों का आंकड़ा 39 हजार के पार ◾निजामुद्दीन मरकज मामले में प्रबंधन के खिलाफ FIR दर्ज, जांच के लिए मामला अपराध शाखा को सौंपा गया ◾मरकज पर CM केजरीवाल ने दिखाई सख्ती, कहा- लापरवाही होने पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा◾निजामुद्दीन मरकज मामले में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- यह समय कमियां खोजने का नहीं बल्कि कार्रवाई करने का है◾कोरोना वायरस : मध्य प्रदेश में 17 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों की संख्या 64 हुई◾दिल्ली : मोहल्ला क्लिनिक के एक और डॉक्टर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, प्रशासन ने चस्पा किए नोटिस◾प्रवासी मजदूरों के पलायन पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को कमेटी बनाने का दिया निर्देश◾तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने वाले विदेशियों के वीजा में मंत्रालय ने पाई गड़बड़ियां◾तबलीगी जमात के मरकज में आए 24 लोगों में कोरोना की पुष्टि, 1500 से 1700 लोग हुए थे शामिल◾

अयातुल्ला अली खामेनेई ने लिया सुलेमानी की हत्या का बदला लेने का संकल्प

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने कुद्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की अमेरिकी हमले में शुक्रवार को की गई हत्या का ‘‘प्रचंड प्रतिशोध’’लेने का संकल्प लिया। इससे पहले, रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विदेश में अमेरिकी कर्मियों की सुरक्षा और ईरान को भविष्य में हमलों की योजना बनाने से रोकने के लिए ‘‘निर्णायक रक्षात्मक कार्रवाई’’ करते हुए इराक में अमेरिकी हमले का आदेश दिया था जिसमें ईरान के शक्तिशाली रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई।

खामेनेई ने ट्वीट किया, ‘‘इन सभी वर्षों में उनके निरंतर प्रयासों का पुरस्कार शहादत थी। अल्लाह की मर्जी से उनके जाने के बाद भी उनका काम और उनकी राह नहीं रुकेगी। उन गुनाहगारों से भयंकर बदला लिया जाएगा जिन्होंने अपने हाथ उनके और अन्य शहीदों के खून से कल रात रंगे।’’ अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘जनरल सुलेमानी इराक में अमेरिकी राजनयिकों और सैन्य कर्मियों पर हमले की सक्रिय रूप से योजना बना रहा था। 

जनरल सुलेमानी और उसका कुद्स फोर्स सैकड़ों अमेरिकियों और अन्य गठबंधन सहयोगियों के सदस्यों की मौत और हजारों को जख्मी करने के लिए जिम्मेदार हैं।’’ उसने कहा, ‘‘जनरल सुलेमानी ने बीते दिनों बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर हुए हमलों की भी अनुमति दी। अमेरिका दुनिया भर में अपने लोगों और हितों की रक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठाना जारी रखेगा।’’ सुलेमानी की मौत के बाद ट्रंप ने बिना किसी विस्तृत जानकारी के अमेरिकी झंडा ट्वीट किया। 

बगदाद में शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अमेरिका के हवाई हमले में जनरल सुलेमानी की मौत हो गई थी। इस हमले में इराक के शक्तिशाली हाशेद अल शाबी अर्द्धसैन्य बल के उप प्रमुख की भी मौत हो गई। इराक में ईरान समर्थकों द्वारा अमेरिकी दूतावास का घेराव किए जाने के बाद ट्रम्प ने तेहरान को कार्रवाई की धमकी दी थी जिसके कुछ दिनों बाद यह हमला किया गया। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की पूर्व राजदूत एवं भारतीय अमेरिकी निकी हेली समेत कई सांसदों ने इस फैसले के लिए ट्रम्प का समर्थन किया।

 इस बीच, अमेरिका के विदेश मामलों की प्रतिनिधि सभा की समिति के अध्यक्ष एलियट एगनल ने एक बयान में कहा कि अमेरिकी सांसदों को इस आदेश के बारे में पहले जानकारी नहीं दी गई थी। ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड ने सरकारी टेलीविजन पर एक बयान में कुद्स यूनिट के कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत की पुष्टि की है। बयान में कहा गया है कि बगदाद में अमेरिकी बलों के हमले में उनकी मौत हो गई। 

इस बीच, ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड्स के पूर्व प्रमुख ने कहा कि गार्ड्स के कुद्स फोर्स के कमांडर कासिम सुलेमानी की बगदाद में हत्या का बदला लिया जाएगा। इक्स्पीडीएन्सी काउंसिल के प्रमुख और गार्ड्स के पूर्व प्रमुख मोहसिन रेजाई ने ट्वीट किया, ‘‘सुलेमानी अपने शहीद भाइयों में शामिल हो गए हैं लेकिन हम अमेरिका से बदला लेंगे।’’ 

ईरान की अर्द्ध सरकारी संवाद समिति आईएसएनए के प्रवक्ता केयवान खोसरावी ने कहा कि बगदाद में जनरल सुलेमानी के वाहन पर उनकी हत्या के लिए किए गए हमले की समीक्षा के लिए ईरान की ‘सुप्रीम नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल’ की बैठक होगी। ईरान के विदेश मंत्री ने सुलेमानी की हत्या की निंदा करते हुए कहा है कि यह इससे स्थिति खतरनाक रूप से तनावपूर्ण हो गई है और उन्होंने अमेरिका को चेतावनी दी कि उसे इसके परिणाम भुगतने होंगे। 

उल्लेखनीय है कि बगदाद हवाईअड्डे पर एक रॉकेट हमले में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। इराकी सुरक्षा सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। इराकी सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘‘बगदाद में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर तीन रॉकेट दागे गए।’’ बयान में बताया गया कि दो कारों में विस्फोट हुआ।