BREAKING NEWS

हिंसा के बाद किसान आंदोलन में पड़ी दरार, दो संगठनों ने खुद को किया अलग◾26 जनवरी हिंसा: राकेश टिकैत, अन्य किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज◾गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की ◾संयुक्त किसान मोर्चा की सफाई - असामाजिक तत्वों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनों को नष्ट करने की कोशिश की◾दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड में हिंसा के संबंध 200 लोगों को हिरासत में लिया, पूछताछ जारी ◾BCCI प्रमुख सौरव गांगुली को सीने में दर्द, अपोलो हॉस्पिटल में कराया गया एडमिट ◾नेपाल में कोविड टीकाकरण का पहला चरण शुरू, भारत ने तोहफे में दी है 10 लाख वैक्सीन डोज◾ किसान ट्रैक्टर परेड: गणतंत्र दिवस पर हिंसा की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल◾दो दिवसीय दौरे पर केरल पहुंचे राहुल, मलप्पुरम में गर्ल्स स्कूल के भवन का किया उद्घाटन ◾किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश हुई कामयाब : हन्नान मोल्लाह◾किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में 300 पुलिसकर्मी हुए घायल, क्राइम ब्रांच करेगी जांच◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : संयुक्त किसान मोर्चा ने बुलाई बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा ◾DND फ्लाईओवर पर लगा भारी जाम, लाल किला मेट्रो स्टेशन की एंट्री व एग्जिट बंद ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हजार नए केस, 137 मरीजों की हुई मौत ◾वीडियो वायरल होने के बाद बोले राकेश टिकैत-लाठी कोई हथियार नहीं◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 10 करोड़ से पार ◾किसानों की ट्रैक्टर परेड में बवाल, दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में 22 FIR दर्ज की ◾TOP 5 NEWS 27 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾राकांपा अध्यक्ष शरद पवार बोले- दिल्ली में जो कुछ हुआ, उसका समर्थन नहीं किया जा सकता ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने की दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान भड़की हिंसा की निंदा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बलूच नेता का बड़ा खुलासा : बलूचिस्तान से नहीं बल्कि ईरान से हुआ था कुलभूषण जाधव का अपहरण

भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले पर आज बलूच नेता ने बड़ा खुलासा किया है आपको बता दे भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के बलूचिस्तान से गिरफ्तारी के पाकिस्तान के दावे को बलूच नेता ने सिरे से खारिज कर दिया है।

बलूच नेता हिर्बयार मर्री ने कहा कि कुलभूषण जाधव को कभी भी बलूचिस्तान से गिरफ्तार नहीं किया गया है, वास्तव में उन्हें पाकिस्तानी राज्य प्रायोजित धार्मिक प्रॉक्सी द्वारा ईरान से अपहरण करने के बाद पाकिस्तानी सेना को सौंप दिया गया। भारत पहले ही पाकिस्तान ने इस दावे को झूठा बताते आया है।

बलूच नेता हरबियार मार्री के अनुसार , पाकिस्तान प्रायोजित ऐसे धार्मिक अतिवादी संगठन लंबे समय से उसके ऐसे काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पहले ऐसी बहुत सी घटनाएं हो चुकी हैं। जिसमें धार्मिक अतिवादियों ने अफगानिस्तान से या अफगानिस्तान जाने के दौरान बलूच शरणार्थियों का अपहरण कर उन्हें आईएसआई या पाकिस्तानी सेना को बेचा है। हरबियार मार्री ने आगे कहा कि 70 और 80 के दशक में पाकिस्तान समर्थित तालिबान भी अफगानिस्तान में मार्री शरणार्थियों की हत्या करने के बाद उनकी तस्वीरें आईएसआई और पाकिस्तानी सेना को दिखाकर पैसे लेते थे।

उन्होंने आगे कहा कि 1970 के दशक के आखिर सालों में पाकिस्तान समर्थित तालिबान ने निर्दोष मर्री बलूच शरणार्थियों की हत्या की। उनके सर काटकर शरीर से अलग कर दिए और तस्वीरें खीचीं ताकि आईएसआई और पाकिस्तानी सेना से पैसे कमा सकें।

वही भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ सुरक्षा के नाम पर पाकिस्तान में जैसा व्यवहार हुआ उस पर प्रतिक्रया जताते हुए बलूच नेता हिर्बयार मर्री ने कहा कि यह भारत और पूरी दुनिया की आंख खोलने वाला है। उन्होंने कहा कि इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान में बलूच महिलाओं के साथ कैसा अमानवीय व्यवहार किया जाता होगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह बेटे से मिलने आई भारत की बुजुर्ग महिला के साथ व्यवहार किया गया उसके बाद किसी प्रमाण की जरूरत नहीं रह जाती कि बलूच कैदियों, महिलाओं और बच्चों के साथ पाकिस्तानी सेना गुप्त और अवैध ठिकानों पर कैसा सलूक करती होगी।

पाक के धोखे के खिलाफ चेतावनी देते हुए बलूच नेता ने कहा कि पाकिस्तान पर भरोसा करने वाला कोई देश नहीं है क्योंकि हम बलूचों का यह अनुभव रहा है और जिससे हमने सीख ली है कि पाकिस्तान वो जहरीला सांप है जो उसी हाथ को काटता है जिसे वो खिलाता है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट