BREAKING NEWS

तुर्किये और सीरिया में आए भीषण भूकंप में 6,200 से अधिक लोगों की मौत◾सुप्रीम कोर्ट में MCD मेयर चुनाव के लिए आप की याचिका पर बुधवार को होगी सुनवाई ◾युवा कांग्रेस ने अडाणी समूह के मामले को लेकर किया प्रदर्शन◾मनोज तिवारी : केजरीवाल मंदिर के पुजारियों के साथ अन्याय कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा◾Bilkis Bano case: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की सजा में छूट के खिलाफ याचिका पर जल्द सुनवाई का दिया आश्वासन◾अमित शाह बोले- नयी सहकारिता नीति बनने से देश में सहकारी आंदोलन मजबूत होगा◾'कांग्रेस की अडाणी से नजदीकी...', राहुल गांधी के बयानों पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे का पलटवार ◾ममता बनर्जी बोलीं- सिर्फ TMC ही ‘डबल इंजन’ सरकार को सत्ता से कर सकती है बाहर◾असम : बाल विवाह के खिलाफ कार्रवाई के बाद अब समय सीमा के अंदर आरोपपत्र दाखिल करने की बड़ी चुनौती ◾श्रद्धा वाकर हत्याकांड में अदालत ने चार्जशीट पर लिया संज्ञान, 21 को सुनवाई◾ UP Politics: राहुल गांधी का बड़ा आरोप, बोले- 'CM योगी धार्मिक नेता नहीं, बल्कि एक मामूली ठग, बीजेपी कर रही अधर्म'◾AgustaWestland Scam: सुप्रीम कोर्ट ने बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को जमानत देने से इंकार किया◾CM हिमंत बोले- त्रिपुरा की क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करेगी भाजपा◾झारखंड : मंडी शुल्क के खिलाफ अनाज व्यापारियों का आंदोलन, दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रखने का निर्णय ◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान, 'देश के 31 जिलों में अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का प्रावधान'◾पुजारियों को वेतन देने की मांग को लेकर BJP ने केजरीवाल के घर के बाहर किया प्रदर्शन◾Chinchwad bypoll: नाना काटे होंगे एमवीए के उम्मीदवार, भाजपा ने अश्विनी जगताप को दिया चांस ◾आंध्रप्रदेश : आरपीआई नेता के कार्यालय में लगाई आग, दफ्तर पूरी तरह जलकर खाक◾रोडवेज बसों का बढ़ा किराया, अखिलेश यादव बोले- यूपी सरकार ‘‘इन्वेस्टर्स समिट’’ का खर्च जनता से चाहती है वसूलना◾HAL की आलोचना पर कर्नाटक BJP ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- माफी मांगें राहुल गांधी◾

खुद को पैगम्बर बताने वाले बेटमैन की 20 नाबालिग पत्नियां, बेटी के साथ भी की शादी

संघीय जांच एजेंसी यानी एफबीआई ने एरिजोना-उताह सीमा के पास रह रहे एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जो खुद के पैगम्बर होने का दावा करता था और जिसकी कम से कम 20 पत्नियां थीं। एफबीआई का कहना है कि बहुविवाह समर्थक एक समूह के इस नेता की कम से कम 20 पत्नियां थीं और उनमें से अधिकतर नाबालिग थीं।  

एफबीआई  का बयान

इसपर एफबीआई का कहना है कि बहुविवाह समर्थक एक समूह के इस नेता की कम से कम 20 पत्नियां थीं और उनमें से अधिकतर नाबालिग थीं। हाल में दाखिल संघीय अदालत के दस्तावेजों से पता चलता है कि वह समूह के उन अनुयायियों को दंडित करता था, जो उसे पैगंबर जैसा सम्मान नहीं देते थे। सैमुएल बेटमैन पहले फंडामेंटलिस्ट चर्च ऑफ जीसस क्राइस्ट ऑफ लैटर-डे सैंट्स या एफएलडीएस का सदस्य था। लेकिन बाद में बेटमैन ने संस्था को छोड़कर अपना एक अलग छोटा समूह बना लिया। एफबीआई के एक हलफनामे के अनुसार, उसे समूह के पुरुष अनुयायियों द्वारा आर्थिक रूप से मदद दी गई थी, जिन्होंने अपनी पत्नियों और बच्चों को बेटमैन की पत्नियां बनने के लिए छोड़ दिया था। 

बेटमैन की तीन पत्नियां

एफबीआई द्वारा शुक्रवार को दाखिल दस्तावेज से यह जानकारी भी मिली है कि अगस्त में पहली बार सार्वजनिक हुए इस मामले में जांचकर्ताओं को अब तक क्या पता चला है। इसमें बेटमैन की तीन पत्नियों - नाओमी बिस्टलाइन, डोना बार्लो और मोरेटा रोज जॉनसन -के अपहरण और संभावित अभियोजन में बाधा डालने के आरोप लगे थे। 

बेटमैन के आठ बच्चों के साथ भागने का आरोप

बिस्टलाइन और बार्लो को बुधवार को फ्लैगस्टाफ में संघीय मजिस्ट्रेट अदालत में पेश होना है। जॉनसन का वाशिंगटन राज्य से प्रत्यर्पण किया जाना है। महिलाओं पर बेटमैन के आठ बच्चों के साथ भागने का आरोप है, जिन्हें इस साल की शुरुआत में एरिजोना राज्य की हिरासत में रखा गया था। बच्चे पिछले हफ्ते सैकड़ों किलोमीटर दूर वाशिंगटन के स्पोकेन में पाए गए थे।

वर्तमान आरोप पुराने आरोपों से संबंधित नहीं

बता दें कि बेटमैन को अगस्त में गिरफ्तार किया गया था जब किसी ने फ्लैगस्टाफ में उसके द्वारा चलाए जा रहे ट्रेलर के अंदर फंसे लोगों की छोटी छोटी उंगलियों को देखा था। उसने बॉन्ड भरा लेकिन उसे फिर से गिरफ्तार कर लिया गया और एक संघीय जांच में न्याय में बाधा डालने का आरोप लगाया गया। एजेंसी ने यह भी जांच की कि क्या बच्चों को यौन गतिविधि के लिए राज्य की सीमा से बाहर ले जाया जा रहा था।अदालत के दस्तावेजों में आरोप है कि 46 वर्षीय बेटमैन, बाल यौन तस्करी और बहुविवाह में संलिप्त है, लेकिन उसका कोई भी वर्तमान आरोप उन आरोपों से संबंधित नहीं है। एरिजोना में बहुविवाह अवैध है लेकिन 2020 में उताह में इसे अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया गया था।  

मामले पर टिप्पणी करने से इनकार 

एरिजोना डिपार्टमेंट ऑफ चाइल्ड सर्विसेज के प्रवक्ता डैरेन डारोंको और एफबीआई के प्रवक्ता केविन स्मिथ ने मंगलवार को मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। बिस्टलाइन के वकील ने टिप्पणी के अनुरोध का जवाब नहीं दिया और बार्लो के वकील ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। जॉनसन के पास सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध वकील नहीं था।

अनुयायीयों का ईश्वरीय दायित्व

महिलाओं के मामले में दायर एफबीआई का हलफनामा काफी हद तक बेटमैन पर केंद्रित है, जिसने 2019 में खुद का पैगंबर घोषित किया था।बेटमैन का कहना है कि पूर्व एफएलडीएस नेता वॉरेन जेफ्स द्वारा उससे “इन लोगों पर ईश्वर की आत्मा” बुलाने को कहा गया था। हलफनामे में स्पष्ट यौन कृत्यों का विवरण दिया गया है जिसमें बेटमैन और उसके अनुयायी “ईश्वरीय दायित्वों” को पूरा करने के लिए लगे हुए हैं।

जेफ्स कम उम्र में शादी से संबंधित बाल यौन शोषण के लिए टेक्सास जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है।