BREAKING NEWS

1 फरवरी को संसद के पटल पर होगा बजट पेश, 'लोगों को काफी उम्मीदें'◾राजस्‍थान में शीतलहर का कहर, 5वीं कक्षा तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद ◾आज का राशिफल (30 जनवरी 2022)◾सिर्फ मोदी को लगता है, चीन ने हमारी जमीन नहीं ली : राहुल गांधी◾BCCI ने भारतीय अंडर-19 महिला टीम के लिए 5 करोड़ के नकद पुरस्कार की घोषणा की◾भारतीय महिला टीम बनी अंडर-19 टी20 विश्व कप चैम्पियन, बधाइयों का लगा तांता◾बारिश भी नहीं डिगा सका बीटिंग रिट्रीट के जज्बे को, गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ औपचारिक समापन◾दिल्ली में बारिश, अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे◾ओडिशा के मंत्री नब किशोर दास की गोली लगने से मौत, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने शोक जताया◾IND vs NZ : स्पिनरों के दबदबे के बीच भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, श्रृंखला 1-1 से बराबर◾हमीरपुर में दूषित जल पीने से बीमार पड़ने वालों की संख्या 535 हुई, मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगी◾प्रधानमंत्री मोदी : 'तकनीकी दशक बनाने का भारत का सपना होगा साकार'◾रामचरितमानस विवाद में घिरे स्वामी प्रसाद को अखिलेश ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव, चाचा शिवपाल को भी मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾यूपी के मंत्री जितिन प्रसाद ने स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस बयान को बताया चुनावी रणनीति◾Air Asia Flight: एयर एशिया के विमान से टकराया पक्षी, लखनऊ एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾ सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट में पार्टी नेताओं के नाम किए घोषित,विवादों में रहें स्वामी प्रसाद मौर्य को बनाया गया महासचिव◾पाकिस्तान की जनता पर टूटा दुखों का पहाड़, पेट्रोल, डीजल के दाम 35-35 रुपये लीटर बढ़े◾Gonda Crime : धारदार हथियार से की शिक्षक की हत्या, मिले कुछ महत्वपूर्ण सुराग ◾2024 के लिए कठिन क्यों है कांग्रेस का डगर, भारत जोड़ो यात्रा से लोगों में दिखा असर◾कांग्रेस पार्टी शुरु करेंगी हाथ से हाथ जोड़ो अभियान, केंद्र की खराब नीतियों से कराएगी अवगत◾

ईरान में बुर्का विवाद नहीं ले रहा थमने का नाम, प्रदर्शन के दौरान तीन महिला पत्रकारों को किया गिरफतार

ईरान की राजधानी तेहरान में पिछले दो दिन में सरकार के विरोध में प्रदर्शन  जारी है इस प्रदर्शन को कवर कर रहीं तीन महिला पत्रकारों को गिरफ्तार कर लिया गया है। स्थानीय मीडिया ने सोमवार को यह जानकारी दी है। दरअसल कुछ महीनों पहले एक ईरानी लड़की को बाहर बुर्का नहीं पहनाने को लेकर गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद हिरासत में उसकी मौत हो जाती है। परिवार वालों ने ईरान पुलिस के ऊपर आरोप लगाए थे कि हिरासत में उनकी बेटी को इतना मारा गया कि उसकी जान चली गई, जिसके बाद ईरान के लोगों ने सरकार के खिलाफ सख्त बुर्का पहनाने वाले नियमों पर आजाव बुलंद की।  ईरान में यह प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। 

प्रदर्शन में किया गया लोगों को गिरफ्तार

अधिकारियों ने बताया कि देश भर में इस्लामिक गणराज्य के ‘विरोधियों’ द्वारा भड़काये गये दंगों में सुरक्षा बलों के सदस्यों सहित सैकड़ लोग मारे गए हैं और हजारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

कौन है तीन पत्रकार और क्यों इनको हिरासत में लिया गया? 

सुधारवादी अखबार एतेमाद ने तेहरान पत्रकार संघ के हवाले से कहा, 'तेहरान में पिछले 48 घंटों में, कम से कम तीन महिला पत्रकारों, मेलिका हाशमी, सैदेह शफीई और मेहरनौश त्ररेई को गिरफ्तार किया गया है।' समाचार-पत्र की रिपोर्ट में बताया गया कि तीनों महिलाओं को एविन जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है, जहां विरोध प्रदर्शनों के सिलसिले में गिरफ्तार की गईं कई महिलाओं को रखा गया है। स्थानीय मीडिया के अनुसार, शफीई एक स्वतंत्र पत्रकार एवं उपन्यासकार हैं, जबकि त्ररेई विभिन्न सुधारवादी प्रकाशनों के लिए लिखती हैं और हाशमी‘शहर’नामक एक आउटलेट के लिए काम करती हैं। 

कम से कम 80 पत्रकार जेल में बंद

गौरतलब है कि ईरान में चार महीने पहले बुर्का न पहन कर कथित तौर पर देश के सख्त ड्रेस कोड का उल्लंघन करने के मामले में गिरफ्तार महसा अमीन (22) की हिरासत में मौत के बाद देशभर में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। विरोध-प्रदर्शनों को कवर करने के दौरान अब तक कम से कम 80 पत्रकारों को गिरफ्तार किया जा चुका है।