BREAKING NEWS

राजू श्रीवास्तव की हालत स्थिर, डॉक्टर उनका बेहतर इलाज कर रहे हैं : शिखा श्रीवास्तव◾कोलकाता में ममता से मिले पूर्व भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी◾महाराष्ट्र : रायगढ़ तट से मिली संदिग्ध नाव, AK-47 समेत कई हथियार बरामद ◾रोहिंग्याओं पर राजनीति! भाजपा ने कहा- केजरीवाल रोहिंग्याओं को ‘रेवड़ी’ बांट रहे, राष्ट्रीय सुरक्षा के समझौते को तैयार◾जयशंकर ने कहा- भारत स्वतंत्र, समावेशी व शांतिपूर्ण हिंद प्रशांत की परिकल्पना करता है◾गहलोत का भाजपा पर फूटा गुस्सा- देश को हिंदू राष्ट्र बनाया तो होगा पाकिस्तान जैसा हाल◾रायगढ़ में नाव को लेकर बवाल! फडणवीस बोले- खराब मौसम के कारण नाव अनियंत्रित होकर बहते हुए..... ◾ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने कहा, कर्नाटक में कांग्रेस एकजुट, अकेले और सामूहिक नेतृत्व में लड़ेंगे विधानसभा चुनाव◾पता लगाएं किसने रोहिंग्या को फ्लैट में स्थानांतरित करने का फैसला किया? सिसोदिया ने गृहमंत्री को लिखा पत्र ◾रोहिंग्याओं को लेकर बवाल, थरूर बोले-मुद्दे पर सरकार में असमंजस देश के लिए कलंक◾Jagdeep Dhankhar: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से गुलाम नबी आजाद ने अहम मुलाकात की◾राहुल गांधी का भाजपा पर कटाक्ष, बोले- पीएम नरेंद्र मोदी को ऐसी राजनीति पर नहीं आती शर्म◾बीमा भारती के लेसी सिंह पर लगाए आरोपों पर भड़के नीतीश, कहा-अगर इधर-उधर का मन है तो अपना सोचें◾Maharashtra: अवैध शराब पर राज्य के गृह विभाग को वासुदेव के खिलाफ रिपोर्ट मिली, जल्द होगा निलंबित.....बोले फडणवीस ◾Gujarat News: AAP पार्टी का मास्टर प्लान! गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए 9 उम्मीदवारों की दूसरी सूची सांझा की ◾नीतीश के एक और मंत्री विवादों में, कृषि मंत्री सुधाकर सिंह पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप◾Defamation Case : मुंबई कोर्ट का आदेश- संजय राउत को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए किया जाए पेश ◾फेक न्यूज पर मोदी सरकार का एक्शन, एक पाकिस्तानी समेत 8 YouTube चैनल किए ब्लॉक ◾बाहुबली मुख्तार अंसारी पर बड़ी कार्रवाई, दिल्ली और UP में कई ठिकानों पर ED की रेड◾पश्चिम बंगाल : टेरर कनेक्शन पर एक्शन, STF ने अलकायदा के 2 आतंकियों को किया गिरफ्तार◾

ओमीक्रॉन की चपेट में आ सकते हैं कोरोना से संक्रमित रह चुके बच्चे? जानें स्टडी में क्या हुआ दावा

एक नए अध्ययन के अनुसार जो बच्चे पहले कोविड-19 से संक्रमित थे, वे कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप से सुरक्षित नहीं हैं। हालांकि अध्ययन में कहा गया है कि टीकाकरण से सुरक्षा मिलती है। हाल ही में नेचर कम्युनिकेशंस नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के निष्कर्ष वयस्कों में मिले तथ्यों के समान ही हैं।

संक्रमित रह चुके बच्चे नहीं हैं सुरक्षित 

शोध पत्र के वरिष्ठ लेखक और बोस्टन चिल्ड्रन अस्पताल, अमेरिका से संबद्ध एड्रिएन रैंडोल्फ ने कहा मैंने माता-पिता को यह कहते हुए सुना, 'ओह, मेरे बच्चे को पिछले साल कोविड था। रैंडोल्फ ने कहा लेकिन हमने पाया कि बच्चों में पूर्व संक्रमणों से पैदा हुए उत्पादित रोग प्रतिरोधक क्षमता (एंडीबॉडी) ओमीक्रोन को बेअसर नहीं करती है, इसका अर्थ है कि बिना टीकाकरण वाले बच्चे वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के मामले में अतिसंवेदनशील हैं।

नमूने एकत्र करके लगाया गया पता 

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन के सुरेंद्र खुराना सहित अन्य शोधकर्ताओं ने कोविड-19 के गंभीर संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती हुए 62 बच्चों और किशोरों के रक्त के नमूने प्राप्त किए। उन्होंने ‘एमआईएस-सी’ के कारण अस्पताल में भर्ती हुए 65 बच्चों और किशोरों और हल्के कोविड​​​​-19 से पीड़ित और संक्रमण मुक्त हो चुके 50 रोगियों की जानकारी भी एकत्र की।

सभी नमूने 2020 और 2021 की शुरुआत में, ओमीक्रोन स्वरूप के शुरू होने से पहले एकत्र किए गए थे। प्रयोगशाला में, शोधकर्ताओं ने नमूनों को एक ‘स्यूडोवायरस’ से मिलाया और यह पता लगाया कि नमूनों में रोग प्रतिरोधक क्षमता किस हद तक सार्स-कोव-दो के पांच स्वरूपों- अल्फा, बीटा, गामा, डेल्टा और ओमीक्रोन को बेअसर करने में सक्षम है।

सभी वेरिएंट का होगा असर लेकिन... 

शोधकर्ताओं ने कहा कि कुल मिलाकर, बच्चों और किशोरों ने सभी पांच प्रकार के स्वरूपों के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता का कुछ नुकसान दिखाया, लेकिन ओमीक्रोन को लेकर नुकसान सबसे अधिक स्पष्ट था। शोधकर्ता रैंडोल्फ के मुताबिक बिना टीकाकरण वाले बच्चे अतिसंवेदनशील हैं।

इसके विपरीत, जिन बच्चों को कोविड-19 टीके की दो खुराकें मिली थीं, उनमें ओमीक्रोन सहित सभी पांच स्वरूपों के खिलाफ उच्च प्रतिरोधक क्षमता दिखाई दी। शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि ये निष्कर्ष माता-पिता को अपने बच्चों और किशोरों को टीका लगाने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।