BREAKING NEWS

राष्ट्रीय सुरक्षा पर अमित शाह की हाई लेवल मीटिंग, कहा-आतंकी घटनाओं का माकूल जवाब दिया जायेगा◾ पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर राहुल का PM पर कटाक्ष, कहा- ये बेहद गंभीर मुद्दा है....◾रेल रोको आंदोलन : मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसानों का प्रदर्शन समाप्त, तीन मांगों के साथ सौपा ज्ञापन ◾रेल रोको आंदोलन से 130 जगहों पर सेवाएं प्रभावित, देखें लिस्ट, किसानों ने दी ये बड़ी चेतावनी ◾उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद एक बार फिर चारधाम यात्रा ठप्प, बिगड़े मौसम से जहां-तहां फंसे लोग ◾सुप्रीम कोर्ट में शिवसेना के मंत्री ने कहा-आर्यन खान के 'मौलिक अधिकारों के हनन' मामले की जांच हो◾BJP हाईकमान की बैठक में बोले जेपी नड्डा- सरकार के विकास कार्यों में रोड़े अटका रहा है विपक्ष ◾BJP का कांग्रेस पर आरोप- गांधी परिवार कश्मीर में फैला रहा भ्रम, पटेल को बदनाम करने की है कोशिश ◾हवाई चप्पल वालों को 'हवाई सफर' का वादा देने वाली BJP ने सड़क पर चलना भी किया मुश्किल: प्रियंका ◾बंगाल के युवा भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या, शुभेंदु ने TMC पर लगाया आरोप◾कश्मीर में बिहारियों की हत्या पर सियासत गर्म, BJP बोली- घटिया राजनीतिक पत्थरबाज न बने तेजस्वी◾बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हमला, हसीना सरकार के खिलाफ है साजिश या फिर अल्पसंख्यकों के लिए नफरत◾केरल में भारी बारिश ने मचाई तबाही, शहर-शहर डूबे, अब तक 26 लोगों ने गंवाई जान ◾महंगाई के मुद्दे पर अखिलेश का हल्लाबोल - गरीबों की जेब काटकर अमीरों की तिजोरियां भर रही है भाजपा◾देश में कोरोना के एक्टिव केस 221 दिनों में सबसे कम, पिछले 24 घंटे में 13596 नए मामलों की पुष्टि ◾लखीमपुर हिंसा के विरोध में प्रदर्शनकारियों का 'रेल रोको' आंदोलन जारी, प्रशासन अलर्ट ◾विश्वभर में जारी है कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा 24.06 करोड़ पहुंचा, 48.9 लाख से अधिक लोगों की हुई मौत ◾जयशंकर ने भारत में अवसरों पर ध्यान देने के लिए इजराइली कारोबारियों को किया प्रोत्साहित ◾राहुल से मुलाकात कर भी नहीं माने सिद्धू, सोनिया को लिखा 13 सूत्री एजेंडा वाला खत◾आतंकवादी हमले में बिहार के दो लोगों की हत्या पर CM नीतीश ने की चिन्ता व्यक्त, उपराज्यपाल से फोन पर की बात ◾

लाखों उइगर मुस्लिम महिलाओं पर चीन ने फिर ढाया जुल्म, जबरन लगवाए नसबंदी के टीके

शिविरों में उइगर महिलाओं के खिलाफ किए गए सबसे क्रूर अत्याचारों में से एक चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) की जबरन नसबंदी अभियान है। कई रिपोर्ट्स में, द वाशिंगटन टाइम्स ने कहा है कि महिलाओं को उनके बांझपन की ओर ले जाने वाले शॉट्स दिए जाते हैं जो सीसीपी के अंतिम उद्देश्य उइगर जाति के उन्मूलन को रेखांकित करते हैं। 

हर दिन, बहुत से उइगरों को इन शिविरों में लाया जाता है, जहां वे अपने विश्वास, संस्कृति और अपने शरीर पर हमलों का सामना करते हैं। यह नरसंहार युद्ध एक स्वतंत्र समूह के रूप में लोगों का सफाया करने की कोशिश है। उइगर, मुख्य रूप से मुस्लिम लोग, दशकों से बीजिंग सरकार के निशाने पर हैं, जो चीनी शासन के तहत क्षेत्र को उपनिवेश बनाए रखने के लिए बेरहमी से दमन के अभियान चलाते हैं। 

जैसा कि वाशिंगटन टाइम्स ने बताया कि दुर्भाग्य से हाल के सालों में ये दमनकारी अभियान केवल बढ़े नहीं बल्कि ज्यादा आक्रामक होते जा रहे हैं। हाल के अनुमानों से पता चला है कि लाखों उइगर इन शिविरों के अंदर और बाहर जा रहे हैं।