BREAKING NEWS

भारत, फिलीपीन ने आतंकवाद से लड़ाई में सहयोग जारी रखने की प्रतिबद्धता जतायी ◾एनएससीएन (आईएम) ने मोदी पर जताया भरोसा◾पवार का दावा, इंदापुर सीट पर हर्षवर्धन को मनाने की कोशिश की ◾PM मोदी ने बॉलीवुड कलाकारों और फिल्म निर्माताओं से की मुलाकात◾18 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को होगी वोटिंग◾कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना - UP में 'जगंल राज', तिवारी की हत्या के मामले में हो कार्रवाई◾मोदी लोगों को बताएं, किसने पाकिस्तान को दो भागों में बांटा : कांग्रेस◾हरियाणा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा चुस्त ◾महाराष्ट्र, हरियाणा में फीका रहा कांग्रेस का चुनाव प्रचार ◾कांग्रेस की गलत नीतियों ने देश को कर दिया बर्बाद : PM मोदी◾हरियाणा ,महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव के लिए थमा चुनाव प्रचार, 21 अक्टूबर को होगा मतदान , मतगणना 24 अक्टूबर को◾हरियाणा चुनाव 2019 : गोपाल कांडा के भाई के समर्थन में उतरीं सपना चौधरी, भाजपा नाराज◾सीतारमण बोली- सुस्ती के प्रभाव को कम करने के लिए सम्मलित प्रयास हो ◾TOP 20 NEWS 19 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रेवाड़ी में बोले मोदी- कांग्रेस 1964 में वादा करने के बावजूद अनुच्छेद 370 समाप्त करने में नाकाम रही◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: CM योगी बोले- इस मामले में शामिल आरोपियों को नहीं छोड़ेंगे◾प्रधानमंत्री जनता से बोलें कि कांग्रेस सरकार ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किए : कपिल सिब्बल◾अमित शाह की राहुल को चुनौती, बोले- घोषणा करें कि सत्ता में वापसी के बाद अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को करेंगे लागू◾हरियाणा चुनाव: PM मोदी बोले- कांग्रेस ने अपनी गलत नीतियों से देश को किया बर्बाद ◾प्रियंका का तंज- भाजपा के मंत्रियों का काम अर्थव्यवस्था सुधारना है, 'कॉमेडी सर्कस' चलाना नहीं◾

विदेश

चीन ने दिया आतंकी मसूद अजहर का साथ, ग्लोबल बैन लगाने में डाला अड़ंगा

बीजिंग : पठानकोट हमले के मास्टर माइंड मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने की कोशिशों पर चीन ने एक बार फिर अड़ंगा लगा दिया है। यूनाइटेड नेशंस सिक्युरिटी काउंसिल के परमानेंट मेंबर चीन ने कहा, \"इस मसले पर सभी की सहमति नहीं है। काउंसिल के दूसरे मेंबर्स अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने का प्रपोजल रखा था। इससे पहले चीन फॉरेन मिनिस्ट्री की स्पोक्सपर्सन हुआ चुनयिंग ने कहा था, \"हमने टेक्निकल होल्ड इसलिए लगाया ताकि इस मसले पर कमेटी और इसके मेंबर्स को और वक्त मिल सकते। लेकिन, अभी भी इस मुद्दे पर सभी की सहमति नहीं दिखाई दे रही है।\"

समाचार एजेंसी पीटीआई ने चीनी विदेश मंत्रालय में मौजूद सूत्रों के हवाले से बताया, ‘चीन ने इस कदम को खारिज कर दिया, क्योंकि आमराय नहीं है।’ चीन की इस टिप्पणी में संकेत मिलता है कि वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव में अर्जी को वीटो करेगा, ताकि यह निष्प्रभावी हो जाए। यह लगातार दूसरा साल है जब चीन ने प्रस्ताव को बाधित किया है। पिछले साल चीन ने इसी कमेटी के समक्ष भारत की अर्जी रोकने के लिए यही काम किया था।

इससे पहले, चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुया चुनयिंग ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा था, ‘हमने एक तकनीकी रोक लगाई ताकि कमेटी को और ज्यादा वक्त मिल सके और इसके सदस्य इस विषय पर चर्चा कर सकें। लेकिन इस मुद्दे पर अब तक आमराय नहीं बनी है।’

चीन की तरफ से लगातार लगाई जा रही तकनीकी रोक का बचाव करते हुए हुआ ने कहा, ‘हम कमेटी के आदेश और इसकी नियमावली का पालन करना जारी रखेंगे तथा कमेटी के सदस्यों के साथ लगातार संचार एवं समन्वय रखेंगे।’

चीन ने अजहर को एक वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की भारत की कोशिशों में पिछले दो साल से अड़ंगा डालता रहा है। पिछले साल मार्च में चीन 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद में एक मात्र ऐसा देश था, जिसने भारत की अर्जी को बाधित किया था। वहीं, परिषद के 14 सदस्य देशों ने अजहर को प्रतिबंधित करने के भारत के कदम का समर्थन किया था।