BREAKING NEWS

डिजिटल प्रौद्योगिकी की सराहना करते हुए मोदी बोले- भारत ने ‘ऑनलाइन’ जाकर सभी ‘लाइन’ को खत्म किया ◾मोदी सात जुलाई को जाएंगे वाराणसी, विकास परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास◾ रो-कर बागियों को वापस लौटने की अपील करने वाले विधायक शिंदे गुट में शामिल◾राष्ट्रपति चुनाव : मुर्मू संकल्प ले वह निर्वाचित होने के बाद ‘रबर स्टाम्प राष्ट्रपति’ नहीं होगी - यशवंत सिन्हा ◾राष्ट्रपति चुनाव : मुर्मू संकल्प ले वह निर्वाचित होने के बाद ‘रबर स्टाम्प राष्ट्रपति’ नहीं होगी - यशवंत सिन्हा ◾दिल्ली में दरिंदों ने की हदपार! लक्ष्मीनगर इलाके में 7 साल की बच्ची के साथ किया कुर्कम, पॉस्कों एक्ट के तहत दर्ज मामला◾ PM Modi security breach : पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक, चॉपर के उड़ान भरते ही आसमान में उड़ाए गए काले गुब्बारे ◾Punjab News: मान ने पंजाब कैबिनेट का किया विस्तार, इन पांच विधायकों ने ली मंत्री पथ की शपथ ◾मीडिया का परिदृश्य पिछले कुछ सालों में बदल गया......., बोले केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ◾RCP Singh: भाजपा को बड़ा झटका! केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह BJP में नहीं हुए शामिल ◾आप आग से नहीं खेल सकते... नूपुर शर्मा को करें गिरफ्तार! CM ममता ने फिर उठाई कड़ी कार्रवाई की मांग ◾ खाली हाथ रह गया उद्धव गुट, अजीत पवार को चुना गया महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ◾ ज्ञानवापी केस : जिला अदालत में सुनवाई टली, 12 को पक्ष रखेंगे मुस्लिम अधिवक्ता ◾Punjab Board Result 2022: पंजाब में कल छात्र-छात्राओं का अहम दिन, जारी होगा 10वीं का रिजल्ट, इस लिंक पर करें चेक◾ यशवंत सिन्हा की मुर्मू से अपील उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाती है - सीटी रवि ◾शरद के बाद कांग्रेस ने भी शिंदे सरकार को लेकर की भविष्यवाणी, कहा - लंबे समय तक नही़ टिकेगी सरकार ◾महाराष्ट्र में 'कानून का शासन' नहीं, शिवसेना बोली- BJP का स्पीकर चुनाव जीतना हैरानी की बात नहीं... ◾राम रहीम को लेकर याचिकाकर्ता पर भड़का हाईकोर्ट, कहा - ये फिल्म चल रही है क्या ◾गुजरात को भी बनाएंगे दिल्ली और पंजाब मॉडल, केजरीवाल बोले- 300 यूनिट तक देंगे मुफ्त बिजली, भाजपा पर भी साधा निशाना◾दिल्ली में विधायकों के वेतन में 66 प्रतिशत की होगी वृद्धि, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक ◾

चीन-पाकिस्तान के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट 'CPEC' की थमी रफ्तार, केवल 3 परियोजनाएं हुई पूरी

चीन-पाकिस्तान की महत्वाकांक्षी योजना चाइना-पाकिस्तान इकॉनमिक कॉरिडोर(CPEC) पर एक बार फिर मुश्किल आ गई है। तमाम प्रयासों के बावजूद इस प्रोजेक्ट पर काम आगे नहीं बढ़ पा रहा है। हालिया रिपोर्ट की मानें तो तय समय से इस प्रोजेक्ट का काम काफी पीछे चल रहा है। अब तक 15 में से सिर्फ तीन प्रोजेक्ट का ही काम हो पाया है। बताते चलें कि यह रूट पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर से होकर निकलना था इसलिए भारत भी इसका विरोध करता है।   

केवल ग्वादर में तीन प्रोजेक्ट पूरे 

एक्सप्रेस ट्रिब्यून न्यूजपेपर के मुताबिक अब तक पाकिस्तान ने केवल ग्वादर में तीन प्रोजेक्ट पर काम पूरा किया है जिसमें 30 करोड़ डॉलर की लागत आई है। अभी एक दर्जन से ज्यादा प्रोजेक्ट अधूरे हैं जिसमें पानी की सप्लाई और इलेक्ट्रिसिटी जनरेशन के प्रोजेक्ट शामिल हैं।   

ग्वादर पोर्ट बलूचिस्तान प्रांत में आता है 

सीपीईसी 3 हजार किलोमीटर का लंबा इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट है, जो कि चीन के उत्तरपश्चिम में जिनजियांक और पश्चिमी पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट को जोड़ेगा। जिनजियांग उइगर बहुल इलाका है तो वहीं ग्वादर पोर्ट बलूचिस्तान प्रांत में आता है। सीपीईसी से जुड़े अधइकारियों का कहना है कि ग्वादर में कुछ सोसियो-इकॉनमिक बेनिफिट की वजह से काम पीछे चल रहा है।  

ईरान करता है ये मदद 

जो प्रोजेक्ट पूरे हुए हैं उनमें ग्वादर स्मार्ट पोर्ट सिटी शामिल है जिसमें 40 लाख डॉलर की लागत आई है। इसके अलावा ग्वादर पोर्ट का फिजिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर, फ्री जोन फेज 1 और पाक-चीन टेक्निकल ऐंड वोकेशनल इंस्टिट्यूट का काम पूरा हुआ है जिसमें 1 करोड़ डॉलर की लागत आई है।  अब भी ग्वादर पोर्ट एरिया में खुद पावर जनरेशन और वॉटर सप्लाई का काम नहीं हो पाता है। पोर्ट पर बिजली पड़ोसी देश ईरान से आयात की जाती है।  

आ रही है ये दिक्कत 

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक ग्वादर को रोज 2 करोड़ गैलन पानी की जरूरत होती है। सीपीईसी के तहत स्वाड डैम और शादी कुरे डैम से 77 लाख गैलन पानी लिया जाना है। हालांकि इसका काम ही अब तक नहीं पूरा हो पाया है। पिछले महीने पाकिस्तान के प्लानिंग मिनिस्टर अहसान इकबाल ने सीपीईसी के खिलाफ आदेश जारी करते हुए कहा है कि इसकी वजह से संसाधनों का दुरुपयोग हो रहा है और रीजनल कनेक्टिविटी प्रोग्राम लागू करने में दिक्कत आ रही है।