BREAKING NEWS

भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर पहुंची 48.19 प्रतिशत,अब तक 91,818 लोग हुए स्वस्थ : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,361 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार, अकेले मुंबई में 40 हजार से ज्यादा केस◾दिल्ली - NCR में सीएनजी प्रति किलो एक रुपये महंगी , जानिये अब क्या होंगी नयी कीमतें ◾कोविड-19 : CBI मुख्यालय में कोरोना ने दी दस्तक, दो अधिकारी संक्रमित ◾कोरोना के बीच, 9 जून को बिहार विधानसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे अमित शाह, ऑनलाइन रैली कर जनता को करेंगे संबोधित ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 20 हजार के पार, बीते 24 घंटे में 990 नए मामले◾50 लाख से ज्यादा रेहड़ी - पटरी वालों के लिए सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेगा 10 हजार रुपये का लोन◾MSME और किसानों को राहत देने के लिए मोदी सरकार की कैबिनेट बैठक में लिए गए ये बड़े अहम फैसले ◾घरेलू उड़ानों में खाली रखें बीच की सीट अन्यथा एयरलाइन्स करें सुरक्षात्मक उपकरण की पूरी व्यवस्था : DGCA ◾लॉकडाउन-5 में अनलॉक हुई दिल्ली, खुलेंगी सभी दुकानें, एक हफ्ते के लिए बॉर्डर रहेंगे सील◾PM मोदी बोले- आज दुनिया हमारे डॉक्टरों को आशा और कृतज्ञता के साथ देख रही है◾अनलॉक-1 के पहले दिन दिल्ली की सीमाओं पर बढ़ी वाहनों की संख्या, जाम में लोगों के छूटे पसीने◾कोरोना संकट के बीच LPG सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी, आज से लागू होगी नई कीमतें ◾अमेरिका : जॉर्ज फ्लॉयड की मौत पर व्हाइट हाउस के बाहर हिंसक प्रदर्शन, बंकर में ले जाए गए थे राष्ट्रपति ट्रंप◾विश्व में महामारी का कहर जारी, अब तक कोरोना मरीजों का आंकड़ा 61 लाख के पार हुआ ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 90 हजार के पार, अब तक करीब 5400 लोगों की मौत ◾चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर गृह मंत्री शाह बोले- समस्या के हल के लिए राजनयिक व सैन्य वार्ता जारी◾Lockdown 5.0 का आज पहला दिन, एक क्लिक में पढ़िए किस राज्य में क्या मिलेगी छूट, क्या रहेगा बंद◾लॉकडाउन के बीच, आज से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन एसी ट्रेनें, पहले दिन 1.45 लाख से ज्यादा यात्री करेंगे सफर ◾तनाव के बीच लद्दाख सीमा पर चीन ने भारी सैन्य उपकरण - तोप किये तैनात, भारत ने भी बढ़ाई सेना ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

चीनी विशेषज्ञों ने भारत को दी युद्ध की चेतावनी

बीजिंग : सिक्किम सेक्टर में सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन के मध्य चल रही तनातनी के बीच चीनी विशेषज्ञों ने आज चेतावनी दी कि बीजिंग पूरी प्रतिबद्धता से अपनी सम्प्रभुता की रक्षा करेगा, फिर चाहे उसे युद्ध ही क्यों ना करना पड़े। डोकलाम क्षेत्र में तीसरे सप्ताह भी गतिरोध जारी रहने के बीच चीन की सरकारी मीडिया और थिंकटैंक्स ने कहा कि \"यदि भारत और चीन के बीच विवाद को उचित ढंग से सुलझाया नहीं गया तो युद्ध संभव है।\" दोनों देशों के बीच यह सबसे लंबा तनाव है।

\"\"

Source

चीन अपनी सम्प्रभुता की रक्षा करेगा, चाहे युद्घ क्यों न करना पड़े जम्मू-कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक चीन के साथ जुड़ी भारत की 3,488 किलोमीटर लंबी सीमा का 220 किलोमीटर हिस्सा सिक्किम सेक्टर में पड़ता है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने चीनी विशेषज्ञों के हवाले से कहा कि कि भारतीय सेना के साथ तनाव के बीच चीन किसी भी सूरत में अपनी रक्षा करेगा, फिर चाहे उसे युद्ध ही क्यों ना करना पड़े।

\"\"

चीन भी 1962 से बहुत अलग : विशेषज्ञ शंघाई म्युनिसिपल सेन्टर फॉर इंटरनेशनल स्टडीज में प्रोफेसर वांग देहुआ ने कहा, \"चीन भी 1962 से बहुत अलग है।\" वह रक्षा मंत्री अरुण जेटली के उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि 2017 का भारत 1962 से बहुत अलग है। जेटली ने कहा था, \"यदि वे हमें याद दिलाना चाहते हैं तो, 1962 के हालात अलग थे और 2017 का भारत अलग है।\"

\"\"

Source

वांग का कहना है, 'भारत 1962 से ही चीन को अपना सबसे बड़ा प्रतिद्वंद्वी मानता आ रहा है, क्योंकि दोनों देशों में कई समानताएं हैं। उदाहरण के लिए दोनों ही बहुत बड़ी जनसंख्या वाले विकासशील देश हैं।\" ग्लोबल टाइम्स के अनुसार, \"यदि भारत और चीन के बीच हालिया विवाद उचित ढंग से नहीं सुलझाया गया तो जंग के हालात पैदा हो सकते हैं, यह कहते हुए पर्यवेक्षकों ने रेखांकित किया कि चीन किसी भी सूरत में अपनी सम्प्रभुता और सीमा की रक्षा करेगा। \"

\"\"

Source

अखबार का कहना है, \"1962 में, चीन ने भारत के साथ जंग की थी, क्योंकि वह चीन की सीमा में घुस आया था। इसके परिणाम स्वरूप चीन के 722 और भारत के 4,383 सैनिक मारे गये थे।\" इसने कहा कि विशेषज्ञों ने दोनों पक्षों से बातचीत के जरिए विवाद का हल निकालने को कहा है। अखबार के अनुसार, शंघाई इंस्टिट्यूट फॉर इंटरनेशनल स्टडीज में सेन्टर फॉर एशिया-पैसिफिक स्टडीज के निदेशक जाओ गांचेंग ने कहा, \"दोनों पक्षों को संघर्ष या युद्ध की जगह विकास पर ध्यान देना चाहिए।\" उन्होंने कहा, \"दोनों के बीच संघर्ष अन्य देशों को फायदा उठाने का अवसर दे सकता है, जैसे अमेरिका को।\"

रक्षा क्षेत्र में भारत चीन के साथ बराबरी करने की कोशिश में

\"\"

Source

वांग ने कहा, \"भारत को चीन के प्रति अपना द्वेषपूर्ण रवैया छोडऩा चाहिए क्योंकि बेहतर संबंध दोनों पक्षों के लिए लाभप्रद हैं।\" चीनी विशेषज्ञों ने भारतीय रक्षा मंत्रालय द्वारा सैनिकों और हथियारों के त्वरित परिवहन के उद्देश्य से 12 महीने खुले रहने वाली रेल लाइन बिछाने के लिए चीन-भारत सीमा पर किये जा रहे सर्वेक्षणों की खबरों पर भी आपत्ति जताई। जाओ ने कहा, \"भारत सीमावर्ती रक्षा विनिर्माण क्षेत्र में चीन के साथ बराबरी करने की कोशिश कर रहा है।\"