BREAKING NEWS

आजादी के 75 वर्ष बाद भी खत्म नहीं हुआ जातिवाद, ऑनर किलिंग पर बोला SC- यह सही समय है ◾त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में BJP का दमदार प्रदर्शन, TMC और CPI का नहीं खुला खाता ◾केन्द्र सरकार की नीतियों से राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बढ़ा रहा है, महंगाई बढ़ी है : अशोक गहलोत◾NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾शीतकालीन सत्र से पूर्व विपक्ष में आई दरार, कल होने वाली कांग्रेस नेता खड़गे की बैठक से TMC ने बनाई दूरियां ◾उद्धव ठाकरे की सरकार के दो साल के कार्यकाल में विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन रहा : संजय राउत◾कांग्रेस Vs कांग्रेस : अधीर रंजन चौधरी के वार पर मनीष तिवारी का पलटवार◾कल से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र, पेश होंगे ये 30 विधेयक◾BJP प्रवक्ता ने फूलन देवी को कहा 'डकैत', अखिलेश ने बताया 'निषाद समाज' का अपमान ◾तमिलनाडु बारिश : चेन्नई के कई इलाकों में जलभराव, IMD ने तटीय जिलों के लिए जारी किया रेड अलर्ट ◾गौतम गंभीर की जान को खतरा, ISIS कश्मीर ने तीसरी बार दी धमकी, कहा- कुछ नहीं कर सकती IPS श्वेता ◾महाराष्ट्र सरकार के 2 साल हुए पूरे, सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- एमवीए सरकार ने आपदा को अवसर में बदला◾

पूरी दुनिया में कोरोना का कहर जारी, अमेरिका में मौतों का आंकड़ा एक लाख के करीब पहुंचा

चीन के वुहान शहर से निकला कोरोना वायरस का कहर अभी भी पूरी दुनिया में जारी है। इस वैश्विक महामारी से दुनिया भर में अब तक लाखों लोगों की जान भी जा चुकी है। 

कई हफ्तों की राहत के बाद बुधवार को संक्रमण के सर्वाधिक मामले दक्षिण कोरिया से आए हैं वहीं भारत में लगातार कई दिन से रिकॉर्ड संख्या में मामले सामने आने का सिलसिला जारी रहा, जहां एक दिन में 6,000 से अधिक नए मामलों का पता चला।

अगर दुनिया के सबसे ताकतवर देशों में शामिल सिर्फ अमेरिका की बात करें तो सिर्फ अकेले अमेरिका में ही कोरोना महामारी से होने वाली मौतों का आंकड़ा एक लाख के करीब पहुंच गया है। कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बंद किए व्यवसायों को शुरू कर अर्थव्यवस्थाओं को फिर से खोलने का वॉल स्ट्रीट पर जहां सकारात्मक असर नजर आया। 

अमेरिका महाद्वीप के ज्यादातर हिस्से में कोरोना वायरस का अब भी बहुत प्रकोप है जबकि कई एशियाई और यूरोपीय देश सदी की सबसे भयावह वैश्विक महामारी पर काबू पाने की दिशा में धीरे-धीरे बढ़ रहे हैं।

साइप्रस ने बुधवार को घोषणा की कि वह नौ जून से पर्यटकों का स्वागत करने को तैयार है और उसके यहां आने वाले कोरोना वायरस से संक्रमित हर व्यक्ति और उसके परिजनों के रहने, खाने-पीने और दवा संबंधी हर खर्च वह उठाएगा। यह जानकारी उसने सभी सरकारों, एयरलाइनों तथा टूर संचालकों को भेज दी है। हालांकि इसके लिए स्वास्थ्य और साफ सफाई संबंधी सख्त नियमों पालन करना और यात्रा पर रवाना होने से तीन दिन पहले कोविड-19 की अनिवार्य जांच करवाना शामिल है। साइप्रस में संक्रमण के करीब 940 मामले हैं और 20 से भी कम लोगों की मौत हुई है।

न्यूजीलैंड ने कहा कि देश के अस्पतालों में कोरोना वायरस का कोई मरीज भर्ती नहीं है। हालांकि यहां अब भी विदेशों से आने वालों पर पाबंदी है। यहां 1,504 पुष्ट और संभावित मामले हैं, 21 लोगों की मौत हुई है तथा इतनी ही संख्या में संक्रमित लोगों का इलाज चल रहा है।

दक्षिण कोरिया में करीब 50 दिन के बाद 40 नए मामले सामने आए। यह चिंता का विषय है क्योंकि देश में स्कूल शुरू हो चुके हैं। इन नए मामलों में से चार घनी आबादी वाले सियोल क्षेत्र से हैं। दक्षिण कोरिया में 269 लोगों की मौत हुई है तथा संक्रमण के कुल 11,265 मामले सामने आए हैं।

भारत में बुधवार को फिर रिकॉर्ड 6,387 नए मामले सामने आए। यहां दो महीने से जारी लॉकडाउन रविवार को खत्म होने जा रहा है और सरकार अगले चरण के लिए नए दिशा-निर्देश तैयार कर रही है।

उत्तरी अमेरिका महाद्वीप के मैक्सिको से लेकर दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के चिली तक कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं और अस्पताल संक्रमण के मरीजों से भरे हैं। मैक्सिको में कोरोना वायरस से मंगलवार को 501 लोगों की मौत हुई और संक्रमण के 3,455 नए मामले आए। यहां हर रोज करीब 620 लोगों की मौत हो रही है। ब्राजील में प्रतिदिन मौत का आंकड़ा 800 है।

चिली में अधिकारियों ने कहा कि गहन चिकित्सा इकाईयों में जगह नहीं के बराबर है जबकि रोज करीब 4,000 नए मामले सामने आ रहे हैं। जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर में कोरोना वायरस से करीब 56 लाख लोग पीड़ित हैं और 3,50,000 लोगों की मौत हो चुकी है। यूरोप में संक्रमण से 1,70,000 लोगों की मौत हो चुकी है और अमेरिका में चार महीने से भी कम वक्त में 98,900 से अधिक लोग जान गंवा चुके हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि मौत का आंकड़ा इससे कहीं अधिक हो सकता है क्योंकि वायरस के कारण मरने वाले बड़ी संख्या में पीड़ितों की कोरोना वायरस जांच ही नहीं हुई। नेवादा के गवर्नर ने भी पर्यटकों को लुभाने के लिए मंगलवार घोषणा की कि चार जून से कैसिनों खोले जा सकेंगे। इन्हें दस हफ्ते पहले बंद किया गया था। न्यूयॉर्क के गवर्नर ने भी संकेत दिए हैं कि अब समय अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने का है।