BREAKING NEWS

राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾जम्मू-कश्मीर : स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले श्रीनगर में आतंकवादी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद◾सुशांत मामले में बदले संजय राउत के सुर, कहा-अभिनेता के परिवार को मिले न्याय◾कोरोना वैक्सीन बनाने वाले देशों में से एक होगा भारत, सरकार को वितरण रणनीति बनाने की जरूरत : राहुल गांधी◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 64 हजार 533 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 25 लाख के करीब◾दुनियाभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 करोड़ 7 लाख के पार, 7 लाख 52 हजार लोगों की मौत ◾LAC विवाद पर US ने दिया भारत का साथ, चीनी आक्रामकता की आलोचना करने वाला प्रस्ताव अमेरिकी सीनेट में पेश◾राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से, BJP के अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ कांग्रेस लाएगी विश्वास प्रस्ताव◾स्वतंत्रता दिवस : कोरोना महामारी के बीच हर साल से अलग होगा समारोह, दिल्ली में की गई बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था ◾राजस्थान : विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस ने कहा- सभी विधायकों ने भाजपा का षड्यंत्र विफल करने का लिया संकल्प ◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा 5.60 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 11,813 नए केस◾आंध्र प्रदेश में कोरोना का प्रकोप जारी, 24 घंटों में 82 लोगों की मौत, 9996 नए मामले◾राजस्थान: विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत बोले- कांग्रेस खुद लाएगी विश्वास प्रस्ताव ◾कोविड-19 : राहुल का PM मोदी पर वार, कहा- कोरोना की यह ‘संभली हुई स्थिति’ है तो ‘बिगड़ी स्थिति’ किसे कहेंगे ◾कोविड-19 : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में मृत्यु दर घटकर 1.96 % हुई, कुल 27 प्रतिशत लोग ही संक्रमित◾राजस्थान : CM आवास पर शुरू हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक, गहलोत से मिले पायलट◾राजस्थान की गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी BJP◾उत्तर प्रदेश में कोरोना के 4 हजार 603 नए मामले की पुष्टि, 50 लोगों की मौत◾रक्षा उत्पादन में घरेलू उद्योगों को पांच वर्षों में चार लाख करोड़ रूपये के दिए जायेंगे आर्डर: राजनाथ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना मुक्त हुआ न्यूजीलैंड, 17 दिन पहले आया था संक्रमण का आखिरी मामला

दुनियाभर में  फैले कोरोना वायरस का प्रकोप दिन पर दिन तेजी से बढ़ रहा है। दुनिया के लगभग सभी देशों में कोरोना वायरस पहुंच गया है। तमाम देश इस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। इस बीच, एक देश ऐसा भी है जिसने कोरोना की जंग को जीत लिया है। जी हां, न्यूजीलैंड ने कोरोना महामारी की जंग से जीत ली है। न्यूजीलैंड कोरोना से पूरी तरह से छुटकारा पा चुका है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि देश में संक्रमित आखिरी व्यक्ति स्वस्थ हो गया है।

इस खबर के बाद पूरे देश में खुशी है और इसके साथ ही 50 लाख की आबादी वाला न्यूजीलैंड पहला ऐसा देश बना जाएगा जहां फिर से फुटबॉल स्टेडियम में प्रशंसकों का स्वागत होगा और भीड़-भाड़ वाले कार्यक्रम आयोजित हो सकेंगे। देश में 17 दिन पहले कोरोना वायरस संक्रमण का एक मामला सामने आया था। फरवरी के बाद से सोमवार को पहली बार ऐसा मौका आया जब सभी मरीज संक्रमण से ठीक हो चुके हैं और अब देश में कोई भी संक्रमित नहीं है। देश में अब तक 300,000 जांच हो चुकी है।

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने सोमवार को कहा कि उन्हें विश्वास है कि अंतिम मरीज के भी कोरोना वायरस संक्रमण से स्वस्थ होने के बाद देश ने संक्रमण के प्रसार को रोक लिया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें विश्वास है कि फिलहाल के लिए हमने न्यूजीलैंड में वायरस के प्रसार को खत्म कर दिया है। हालांकि, आगे भी इसके लिए प्रयास जारी रहेंगे ।’’ उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से दोबारा मामले सामने आएंगे लेकिन यह विफलता की निशानी नहीं होगी। यह इस वायरस की वास्तविकता है। लेकिन हमें पूरी तैयारी रखनी है। अर्डर्न ने बताया कि मंत्रिमंडल ने वायरस के संबंध में लागू सभी प्रतिबंध देश की सीमा को छोड़कर अन्य हिस्सों से मध्यरात्रि से हटा लिए हैं। उन्होंने कहा, '' हम बिना पाबंदी के सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित कर सकते हैं। निजी कार्यक्रम जैसे कि शादियां, आयोजन और अंतिम संस्कार बिना किसी पाबंदी के कर सकते हैं।'

प्रधानमंत्री ने कहा कि बिना पाबंदी के खुदरा कारोबार, सत्कार क्षेत्र, सार्वजनिक परिवहन चलेंगे और देश में कहीं भी यात्रा पर कोई प्रतिबंध नहीं है। विशेषज्ञों का कहना है कि 50 लाख की आबादी वाले इस देश से संक्रमण खत्म होने के पीछे कई वजहे हैं। दक्षिण प्रशांत में स्थित होने की वजह से इस देश के पास यह देखने का मौका था कि दूसरे देशों में यह संक्रमण कैसे फैला। अर्डर्न ने भी तेजी से कदम उठाते हुए देश में संक्रमण की शुरुआत में ही बंद के कड़े नियम लागू किए। देश की सीमाओं को भी बंद कर दिया गया।

न्यूजीलैंड में सिर्फ 1,500 लोग संक्रमित हुए जिनमें से 22 लोगों की मौत हो गई। वायरस भले ही खत्म हो गया हो लेकिन इसका आर्थिक असर बरकरार है। हजारों लोगों की यहां नौकरी चली गई है। देश की अर्थव्यवस्था के लिए 10 फीसदी तक जिम्मेदार पर्यटन उद्योग सबसे ज्यादा प्रभावित हो गया। लेकिन सोमवार का दिन फिर भी लोगों के लिए अच्छी खबर वाला रहा। अर्डर्न ने कहा कि जब यह पता चला कि अब कोई भी मरीज नहीं है तो वह अपनी छोटी बेटी के सामने डांस करने लगीं। उनकी बेटी इस महीने दो साल की हुई है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी बेटी को भले यह पता नहीं हो कि आखिर चल क्या रहा है लेकिन वह भी उनकी खुशी में शामिल हो गई।